Operation Kaveri Today Update: सूडान से 135 भारतीयों का 10वां जत्था सुरक्षित निकाला, 72 घंटे के लिए बढ़ा संघर्षविराम

0
300
Operation Kaveri Today Update
स्वदेश रवाना होने से पहले सूडान में मौजूद भारतीय नागरिक व सुरक्षा बल।

Aaj Samaj (आज समाज), Operation Kaveri Today Update, खार्तूम: अफ्रीकी देश सूडान से भारत के ‘आॅपरेशन कावेरी’ के तहत 135 इंडियंस का 10वां जत्था सुरक्षित निकाल लिया गया है। विदेश मंत्रालय की ओर से बताया गया है कि इन भारतीय नागरिकों को लेकर आईएएफ सी-130 जे फ्लाइट पोर्ट सूडान से सफलतापूर्वक रवाना हो गया है। इस बीच राहत की खबर यह है कि सूडान की ओर से सीजफायर की अवधित और 72 घंटे के लिए बढ़ा दी गई है। बता दें कि सूडान की राजधानी खार्तूम और पश्चिमी दार्फुर इलाके में सेना और रैपिड सपोर्ट फोर्सेस के बीच पिछले कुछ दिन से भीषण लड़ाई जारी है।

10वां जत्था जेद्दाह के लिए रवाना : बागची

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अरिंदम बागची ने ट्वीट कर बताया कि आईएएफ सी-130 जे फ्लाइट में 135 यात्रियों के साथ निकासी का 10वां जत्था पोर्ट सूडान से जेद्दाह के लिए रवाना हुआ। है। इससे पहले एक ट्वीट में बागची ने कहा था, आईएनएस तरकश ने आपरेशन कावेरी के प्रयासों को सफल बनाया है! भारतीयों का नौवां जत्था पोर्ट सूडान से 326 यात्रियों को लेकर जेद्दाह के लिए रवाना हुआ है

संघर्षविराम की अवधि बढ़ने से लोगों को निकालना होगा आसान

सूडान के आर्म्ड फोर्सेस ने सीजफायर यानी संघर्षविराम बढ़ाने की घोषणा की है। इससे वहां से निकाले जा रहे विदेशी नागरिकों को निकालना आसान हो जाएगा। युद्ध ग्रस्त सूडान में करीब 4000 भारतीय हैं। अब तक 2000 भारतीयों को निकाला गया है और अब भी वहां इतने ही इंडियंस फंसे हैं। खार्तूम में भारतीय दूतावास की वेबसाइट के अनुसार, सूडान में लगभग 2,800 भारतीय नागरिक थे। इसके अलावा, लगभग 1,200 लोगों का एक बसा हुआ भारतीय समुदाय भी था, जो लगभग पिछले 150 वर्षों से सूडान में रह रहा है।

आठवें जत्थे में वापस लौटे थे 121 लोग

विदेश राज्य मंत्री वी मुरलीधरन ने इससे पहले बताया था कि भारतीय नागरिकों के आठवें जत्थे को सूडान से सुरक्षित निकाला गया और जेद्दाह हवाई अड्डे पर पहुंचा दिया गया। इस जत्थे में 121 लोग शामिल थे, जिनमें भारतीय दूतावास के अधिकारियों के परिवार के सदस्य भी शामिल थे।

यह भी पढ़ें : Manipur में मुख्यमंत्री का कार्यक्रम स्थल फूंका, इलाके में तनाव, धारा 144 लागू, इंटरनेट भी बंद

यह भी पढ़ें : Abhay Singh Chautala: किसानों के मसीहा और राजनीति के पुराने सबसे बड़े खिलाड़ी थे प्रकाश सिंह बादल

यह भी पढ़ें : Prakash Singh Badal Funeral: प्रकाश सिंह बादल पंचतत्व में विलीन, सुखबीर ने दी मुखाग्नि

Connect With Us: Twitter Facebook

SHARE