Northern Regional Pipeline ने तैयारियों का जायजा लेने के लिए किया ऑफ साइट मॉक ड्रिल 

0
34
Northern Regional Pipeline
घायल हुए कर्मचारी को अस्पताल ले जाती एम्बुलेंस
  • गैस रिसाव के कारण लगी आग, 1 घंटे की कड़ी मशक्कत के बाद पाया आग पर काबू 

 

Aaj Samaj (आज समाज),Northern Regional Pipeline,पानीपत : उत्तरी क्षेत्रीय पाइपलाइन द्वारा अपने अधिकारियों, कर्मचारियों और सुपरवाइजरों की तैयारियों का जायजा लेने के लिए और आकस्मिक आपदा से निपटने के लिए एक ऑफ साइट मॉक ड्रिल का आयोजन किया गया। मॉक ड्रिल का परिदृश्य पानीपत जालंधर एल.पी.जी. पाइपलाइन में पानीपत कोहंड क्षेत्र के सी.एच. 3.6 किलोमीटर के समीप बेगमपुर गांव के पास पाइपलाइन में रिसाव होना तथा आग लगना दर्शाया गया। पानीपत जालंधर मेन लाइन पर पेट्रोलिंग करने वाले सुरक्षाकर्मी ने रिसाव की जानकारी सुपरवाइजर को तथा सुपरवाइजर ने ये जानकारी नियंत्रण कक्ष, मेन लाइन प्रभारी और महाप्रबंधक आलोक कुमार राय को दी। नियंत्रण कक्ष ने यह सूचना जिला प्रशासन तथा पुलिस नियंत्रण कक्ष को दी गई।

 

Northern Regional Pipeline
आग को काबू करते दमकल विभाग के कर्मचारी

एक घंटे की कड़ी मशक्कत के बाद आग पर काबू पाया

सूचना मिलते ही इंडियन ऑयल उत्तरी क्षेत्रीय पाइप लाइन के अधिकारी, अनुरक्षण दल अपनी क्यू.आर.टी. टीम के साथ मौके पर पहुंचे तथा गैस रिसाव को रोकने और आग पर काबू पाने के प्रयास शुरू कर दिए। करनाल से आई दमकल विभाग की टीम ने लगभग एक घंटे की कड़ी मशक्कत के बाद आग पर काबू पाया। मॉक ड्रिल के दौरान घायल हुए व्यक्तियों को एंबुलेंस के माध्यम से अस्पताल पहुंचाया गया। गैस रिसाव और आग पर काबू पाने के बाद उत्तरी क्षेत्रीय पाइपलाइन अधिकारियों, जिला प्रशासनिक अधिकारियों और पुलिस प्रशासन ने राहत की सांस ली।

गैस या तेल की पाइपलाइन में रिसाव होता देख तुरंत दें सूचना 

महाप्रबंधक आलोक कुमार राय ने आसपास के ग्रामीणों को जागरूक करने के लिए एक बैठक का आयोजन किया। जिसमें काफी संख्या में ग्रामीणों ने भाग लिया। ग्रामीणों को संबोधित करते हुए आलोक राय ने कहा कि आप लोग जब भी किसी गैस या तेल की पाइपलाइन में रिसाव होता देखें तो तुरंत इसकी सूचना लाइन पर पेट्रोलिंग करने वाले सुपरवाइजरों को दे, ताकि समय रहते राहत और बचाव कार्य शुरू किए जा सकें। उन्होंने कहा कि भारत सरकार के तेल एवं गैस मंत्रालय के दिशा निर्देशानुसार समय-समय पर इस प्रकार के मॉक ड्रिल करवाना अति आवश्यक है। उन्होंने इस मॉक ड्रिल में भाग लेने के लिए पुलिस प्रशासन, स्वास्थ्य विभाग, अग्निशमन, बीपीसीएल तथा अधिकारियों का धन्यवाद किया।

SHARE