Homeदेशवी वीमेन वांट एपिसोड में जानिए कितनी मददगार है आईवीएफ

वी वीमेन वांट एपिसोड में जानिए कितनी मददगार है आईवीएफ

  • यहां समाप्त हो जाएगी आईवीएफ के बारे में सवालों का जवाब
  • प्रसिद्ध डॉक्टरों के पैनल की ओर से केस स्टडी में ये खुलासा
  • अभिभावकों ने बताया कैसे उन्हें आईवीएफ से मिली खुशी

आज समाज डिजिटल, नई दिल्ली:
इन दिनों आईवीएफ पूरी तरह से चर्चा में है। वीवीमेन वांट के 5वें एपिसोड में इसी विषय को प्राथमिकता दी। वी वीमेन वांट न्यूजएक्स का फ्लैगशिप शो है। इसमें महिलाओं के मुद्दों पर फोकस किया जाता है। प्रसारित होने वाले शो में आईवीएफ पर चर्चा की जाएगी। आईवीएफ के बारे में आपके सभी सवालों का जवाब दिया जाएगा। यह प्रक्रिया क्या है और इसकी सफलता दर कितनी है। जानेमाने डॉक्टरों के पैनल द्वारा केस स्टडी के माध्यम से तमाम सवालों का जवाब दिया जाएगा।

जानिये ये है आईवीएफ

कार्यक्रम के दौरान डॉक्टर पूरी प्रक्रिया को शुरू से अंत तक समझाते हैं। इस मिथक को तोड़ते हैं कि प्रक्रिया जटिल और दर्दनाक है। कैंसर से बचे लोगों के लिए भी आशा है जिन्हें गर्भधारण करने में कठिनाई हो सकती है।

डॉ गौरी ने ऐसे शुरू किया सफर

पैनल के डॉक्टरों में से एक हैं डॉ गौरी अग्रवाल, संस्थापक (बीज आॅफ इनोसेंस)। वे एक स्टैंड अलोन सेंटर से संबंधित हैं। उन्होंने अकेले ही अपने ड्रीम प्रोजेक्ट को 15 ऐसी इकाइयों में विस्तारित किया है। जिससे वह अधिक से अधिक लोगों के जीवन में मूल्य जोड़ रही हैं।

डॉ तान्या ने आईवीएफ को ऐसे समझाया

दूसरी डॉक्टर हैं डॉ तान्या बख्शी रोहतगी जो कैंसर रोगियों में प्रजनन क्षमता और आनुवंशिक परीक्षण पीजीटीए के बारे में बताएंगी। उन्होंने मैक्स में एंडोमेट्रियल कायाकल्प के लिए मैक्स पीआरपी-प्लेटलेट्स रिच प्लाज्मा थेरेपी शुरू की। जिसमें से पहले बच्चे का जन्म हुआ। तीसरी पैनलिस्ट डॉ सुवीन घुम्मन सिंधु हैं जो मैक्स में सीनियर डायरेक्टर और एचओडी इनफर्टिलिटी और आईवीएफ हैं और इंडियन फर्टिलिटी सोसाइटी की महासचिव भी हैं।

पेरेंट ने बताया कैसे उन्हें आईवीएफ से मिली खुशी

शो का संचालन न्यूजएक्स की वरिष्ठ कार्यकारी संपादक प्रिया सहगल कर रही हैं। इस शो में एक युवा जोड़े की उपस्थिति थी, जो आईवीएफ प्रक्रिया से गुजरे थे। अब वे एक बच्ची के गर्वित माता-पिता हैं। दोनों पेरेंट ने आईवीएफ के बारे में विस्तार से बताया कि लोगों के मन में इसको लेकर काफी भ्रम है। जो सही नहीं है। उन्होंने बताया कि कैसे उन्होंने माता-पिता बनने के लिए लंबा सफर किया। कैसे उन्हें यह खुशी मिली और वे आज क्या सोचते हैं। जो आईवीएफ से गुजरना चाहते हैं लेकिन दर्द या कलंक के बारे में झिझकते हैं कि उन्हें गर्भ धारण करने में मदद की जरूरत है। यह ऐसे पूर्वाग्रहों को मिटाना है जो वी वीमेन वांट के मिशन स्टेटमेंट में से एक है।

न्यूजएक्स पर देखिए वी वीमेन वांटह्

न्यूजएक्स पर हर शनिवार शाम 7:30 बजे ह्यवी वीमेन वांटह्ण के ताजा एपिसोड देखें। कार्यक्रम को प्रमुख ओटीटी प्लेटफॉर्म- डेलीहंट, जी5, एमएक्स प्लेयर, शेमारू मी, वाचो, मजालो, जियो टीवी, टाटा प्ले और पेटीएम लाइवस्ट्रीम पर भी लाइव स्ट्रीम किया जाएगा।

SHARE
RELATED ARTICLES

Most Popular