Homeदेशब्रेकिंग न्यूज: प्रशांत किशोर नहीं होंगे कांग्रेस में शामिल, यह है कारण

ब्रेकिंग न्यूज: प्रशांत किशोर नहीं होंगे कांग्रेस में शामिल, यह है कारण

आज समाज डिजिटल, नई दिल्ली:
प्रमुख चुनावी रणनीतिकार प्रशांत किशोर कांग्रेस में शामिल नहीं होंगे। पार्टी के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने मंगलवार को इसकी पुष्टि की। उन्होंने एक ट्वीट में लिखा कि प्रशांत किशोर की ओर से दी एक प्रस्तुति और उनके साथ विमर्श करने के बाद पार्टी अध्यक्ष सोनिया गांधी ने एक एंपावर्ड एक्शन ग्रुप (ईएजी) का गठन किया था।

किशोर के प्रयासों और सुझावों की सराहना

सुरजेवाला ने कहा कि प्रशांत को शामिल होने का निमंत्रण दिया था, जिसे उन्होंने मना कर दिया। हम पार्टी के लिए उनके प्रयासों और सुझावों की सराहना करते हैं। कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने भी इस बात से साफ इनकार कर दिया था कि प्रशांत किशोर अगर पार्टी में शामिल होते हैं तो उन्हें कोई विशेष ट्रीटमेंट दिया जाएगा। इसके साथ ही यह भी स्पष्ट कर दिया था कि उनके पार्टी शामिल होने की शर्त पर संगठन में किसी तरह का कोई बदलाव नहीं किया जाएगा।

प्रशांत किशोर ने ये बताई वजह

प्रशांत किशोर ने एक ट्वीट के माध्यम से कहा कि मैंने एंपावर्ड एक्शन ग्रुप (ईएजी) के हिस्से के तौर पर पार्टी में शामिल होने की कांग्रेस की पेशकश को अस्वीकार कर दिया है और चुनावों के लिए जिम्मेदारी ली है। मेरे विचार में सांगठनिक समस्याओं को सुधारों के जरिए ठीक करने के लिए पार्टी को मुझसे ज्यादा नेतृत्व और सामूहिक इच्छाशक्ति की आवश्यकता है।

कुछ वरिष्ठ भी जता रहे आपत्ति

इसके अलावा पार्टी के कुछ वरिष्ठ नेताओं ने प्रशांत किशोर को शामिल करने पर आपत्ति भी जताई थी। राजस्थान सरकार में मंत्री सुभाष गर्ग ने कहा था कि संगठन को मजबूत और ताकतवर केवल नेतृत्व और कार्यकर्ता ही बना सकते हैं। कोई सलाहकार और सेवा प्रदाता नहीं। कांग्रेस नेतृत्व को चाणक्य की जरूरत है न कि व्यापारी की।

16 अप्रैल को मिले थे सोनिया गांधी से

16 अप्रैल को प्रशांत किशोर ने सोनिया गांधी से उनके आवास पर मुलाकात की थी। यह बैठक करीब चार घंटे तक चली थी और इस दौरान किशोर ने 2024 में होने वाले लोकसभा चुनावों को लेकर एक प्रस्तुति दी थी। इसमें उन्होंने इन चुनावों को लेकर कांग्रेस को किस तरह तैयारी करनी चाहिए इस पर बात की थी और सुझाव दिए थे।

यहीं यह तो नहीं है वजह

प्रशांत किशोर की इंडियन पॉलिटिकल एक्शन कमेटी (आई-पैक) ने तेलंगाना में सत्ताधारी टीआरएस (तेलंगाना राष्ट्र समिति) के साथ अगले साल होने वाले विधानसभा चुनावों को लेकर एक समझौता किया है। हालांकि, प्रशांत अब आई-पैक से जुड़े नहीं हैं, लेकिन कुछ कांग्रेस नेताओं ने इस समझौते को लेकर सख्त आपत्ति व्यक्त की थी।

ये भी पढ़ें : करनाल में कांग्रेस का कान खोलो प्रदर्शन, तालाबंदी का अल्टीमेटम
ये भी पढ़ें : हरियाणा-पंजाब सहित कई राज्यों में क्यों हुई बिजली गुल, गहराएगा संकट, ये हैं कारण
SHARE
RELATED ARTICLES

Most Popular