Homeलाइफस्टाइलपेट की चर्बी से हैं परेशान तो आयुर्वेदिक जड़ी-बूटियों और मसालों से घटा...

पेट की चर्बी से हैं परेशान तो आयुर्वेदिक जड़ी-बूटियों और मसालों से घटा सकते हैं अपना वजन

पेट की चर्बी कम करना एक थकाऊ काम हो सकता है, खासकर जब किसी को कोरोना लॉकडाउन के बाद एक गतिहीन जीवन शैली की आदत हो गई हो। लेकिन विशेष रूप से आपके एब्डोमेन एरिया से वजन कम करना बेहद जरूरी है। हां, अध्ययनों से पता चला है कि पहले दिल का दौरा पड़ने के लिए पेट का मोटापा एक महत्वपूर्ण जोखिम कारक है।

इसलिए, बिना समय बर्बाद किए अपने पेट वाले एरिया पर काम करने की कोशिश करें लेकिन वजन कम करने के लिए नेचुरल तरीके अपनाना न भूलें। उदाहरण के लिए गर्म पानी पीने से पाचन क्रिया तेज होती है और आहार में अदरक और काली मिर्च को शामिल करने से भी वजन घटाने में मदद मिलती है। लेकिन इनके अलावा कुछ दूसरे नेचुरल किचन इनग्रेडिएंट्स भी हैं जो मददगार साबित हो सकती हैं। आपने सही अनुमान लगाया। हम आयुर्वेद के बारे में बात कर रहे हैं जो आपको उन एक्सट्रा वजन को कम करने के लिए प्रेरित कर सकता है। तो, यहां हम कुछ उपयोगी आयुर्वेदिक जड़ी-बूटियों और मसालों की एक लिस्ट के साथ हैं जो फैट को कम करने और आपको पतला बनाने में मदद कर सकते हैं।

काला जीरा

काला जीरा को काले बीज या कलौंजी के रूप में भी जाना जाता है, इसका इस्तेमाल वजन घटाने के लिए किया जाता है, विशेष रूप से पेट की चर्बी को कम करने के लिए। कलौंजी के बीज और तेल के अर्क का इस्तेमाल मोटापा कम करने और वजन घटाने के लिए किया जाता है।

त्रिफला

ये एक जड़ी बूटी है जिसे 3 कंबाइन सुपरफूड- अमला, बिभीतकी और हरीतकी के साथ तैयार किया जाता है। त्रिफला टाइप-2 डायबिटीज से पीड़ित लोगों में ब्लड शूगर के लेवल को कम करने में मदद करता है। ये पाचन तंत्र को डिटॉक्सीफाई करके और कॉन्सपीरेशन से लड़करवजन कम करने में भी मदद करता है।

मेथी

एक महत्वपूर्ण रसोई सामग्री, मेथी, पाचन तंत्र को मदद करती है। ये भोजन की लालसा को रोकने और भूख को दबाने में भी मदद करता है।

पुनर्नवा

पुनर्नवा को बोरहविया डिफ्यूसा के रूप में भी जाना जाता है, ये एक फूल वाला पौधा है जो अपने प्रभावी वजन घटाने के गुणों के लिए प्रसिद्ध है।

दालचीनी

दालचीनी मेटाबॉलिज्म को उत्तेजित करने के लिए जानी जाती है जो एक्सट्रा वजन कम करने में मदद करती है।

SHARE
RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments