Home लाइफस्टाइल सावधान ! इन आदतों से हो सकता है हार्ट अटैक

सावधान ! इन आदतों से हो सकता है हार्ट अटैक

0 second read
0
332

गलत लाइफस्टाइल की वजह से लोगों में कई तरह की बीमारियों के होने का खतरा बना ही रहता है। ऐसे में शरीर में बैड कोलेस्ट्रॉल की मात्रा बढ़ जाती है जिसकी वजह से मोटापा, दिल की बीमारियों का खतरा भी बढ़ जाता है लेकिन इसके अलावा भी कई ऐसी वजह हैं जिनसे दिल के दौरे की संभावना बढ़ती है। आइए जानते हैं इनके बारे में।

नॉनस्टिक बर्तन
आर्काइव्स ऑफ इंटरनेशनल मेडिसिन में छपे एक शोध की मानें तो नॉनस्टिक बर्तन और दाग छुड़ाने वाले कैमिकल्स में परफ्लूओरुकटोनिक एसिड होता है जो दिल के दौरे की वजह बन सकता है। इसके अलावा इस एसिड की वजह से थायरॉइड, लिवर और किडनी की समस्याएं भी होती हैं।

लंबे समय से कब्ज की समस्या
जिन लोगों को लंबे समय से कब्ज की समस्या है उनमें हार्ट अटैक होने की संभावना बढ़ जाती है। कब्ज की वजह से ब्लड सर्कुलेशन स्लो हो जाता है जिससे खून का थक्का जमने लगता है। ये हार्ट अटैक और स्ट्रोक का कारण बन सकता है।

मौसम में बदलाव
हार्ट अटैक का एक कारण बदलता मौसम भी होता है। सर्दियों के मौसम में ये खतरा और भी ज्यादा बढ़ जाता है। इसके अलावा बहुत अधिक गर्मी से हवा में प्रदूषण के कण बड़ते हैं जो रक्त में मिल जाते हैं। ये कण धमनियों को ब्लॉक कर सकते हैं जिस वजह से हार्ट अटैक की संभावना बढ़ती है।

एंटी बैक्टीरियल साबुन
एंटी बैक्टीरियल साबुन और टूथपेस्ट के अधिक इस्तेमाल से दिल के दौरे का खतरा बढ़ जाता है। दरअसल, इसमें ट्राइक्लोसन नामक कैमिकल होता है जिससे दिल की बीमारियां हो सकती है। शोध के अनुसार, ये दिल और मांसपेशियों की कोशिकाओं को नुकसान पहुंचाता है। साथ ही इससे लीवर, डिप्रेशन और कैंसर होने की संभावना भी बढ़ती है।

Load More Related Articles
Load More By admin
Load More In लाइफस्टाइल

Check Also

Roadmap to install air purifier towers in Delhi, no permanent solution to noise pollution – Supreme Court: दिल्ली में एयर प्यूरीफायर टावर लगाने का बने रोडमैंप, आॅड ईवन प्रदूषण का कोई स्थायी समाधान नहीं- सुप्रीम कोर्ट

नई दिल्ली। सुप्रीम कोर्ट प्रदूषण पर बेहद सख्त है। सुप्रीम कोर्ट सुनवाई करते हुए कहा कि ने …