Homeकाम की बातलू से बचने के घरेलू उपाय Avoid Heatstroke

लू से बचने के घरेलू उपाय Avoid Heatstroke

धूप में निकलने से पहले नाखून पर प्याज घिसकर लगाने से लू नहीं लगती. यही नहीं धूप में बाहर निकलते वक्‍त अगर छिला हुआ प्‍याज लेकर साथ चलेंगे तो भी आपको लू नहीं लगेगी।

आज समाज डिजिटल, अम्बाला।
Avoid Heatstroke : ग्रीष्मकालीन मौसम में चिलचिलाती धूप जब गर्म हवाओ और बढ़े हुए तापमान से लू लगने का खतरा बढ़ जाता है। गर्मियों के दिनों में अपने देश के कई शहरों में तापमान इतना ज्यादा हो जाता है कि घर से बाहर निकलना ही मुश्किल होने लगता है। इन दिनों दोपहर के समय बाहर बहुत तेज गर्म हवाएं चलती हैं, इन गर्म हवाओं को ही लू (Heat stroke) कहते हैं। चिलचिलाती गर्मी के मौसम में खान-पान और हलके-फुल्के कपड़ों से बचा जा सकता है। लू से बचने के लिए घरेलू उपाय काफी कारगर साबित होते हैं।

Read Also : घर पर ही बनाएं नेचुरल सनस्क्रीन क्रीम Natural Sunscreen Cream

Avoid Heatstroke

लू लगने के लक्षण और घरेलू उपाय

लू लगने के कारण (HEAT STROKE) : ये गर्म हवाएं जब आपके शरीर के संपर्क में आती हैं तो शरीर का तापमान बढ़ा देती हैं और इस वजह से कई समस्याएं होने लगती हैं। ज्यादा देर तक धूप में काम करना और शरीर में पानी की कमी होना लू लगने के प्रमुख कारण हैं। बच्चे और बूढ़े लोग लू की चपेट (Sunstroke) में जल्दी आ जाते हैं।

Read Also : गर्मियों में पहने हल्के रंग और लाइट फैब्रिक कपड़े Light Color And Light Fabric

लू लगने पर क्या करें : लू लगने पर मरीज को तुरंत छायादार जगह पर या ठंडी जगह पर लिटायें। शरीर को ठंडा रखने के लिए शरीर पर ठंडे पानी की पट्टियां लगाएं। घर के खिड़की दरवाजे खोल दें और कूलर या एसी चालू कर दें। अगर मरीज लू लगने से बेहोश हो गया है तो तुरंत डॉक्टर के पास लेकर जाएं।

Avoid Heatstroke

Read Also : रोजगार में बाधाएं हो तो ये करे उपाय Obstacles In Employment Do These Measures

  •  गर्मी के दिनों में हल्का भोजन करना चाहिए. भोजन में दही को शामिल करना चाहिए।
  • धूप में निकलते समय सिर ढककर निकलने से भी लू से बचा जा सकता है।
  • धूप से आने के बाद थोड़ा सा प्याज का रस शहद में मिलाकर चाटने से लू लगने का खतरा कम होता है।
  • गर्मी के मौसम में खाने के बाद गुड़ खाने से भी लू लगने का डर कम होता है।
  • टमाटर की चटनी, नारियल और पेठा खाने से भी लू नही लगती।
  • घर से पानी या कोई ठंडा शरबत पीकर बाहर निकले। जैसे शिकंजी, खस का शर्बत ज्यादा फायदेमंद है।

Avoid Heatstroke

  • धूप से आते ही और ज्यादा पसीना आने पर फौरन ठंडा पानी नहीं पीना चाहिए।
  • गर्मी के दिनों में बार-बार पानी पीते रहना चाहिए ताकि शरीर में पानी की कमी न हो।
  • पानी में नींबू और नमक मिलाकर दिन में दो-तीन बार पीते रहने से लू लगने का खतरा कम रहता है।
  • धूप में बाहर जाते वक्त खाली पेट नहीं जाना चाहिए।
  •  सब्जियों के सूप का सेवन करने से भी लू से बचा जा सकता है।
  •  लू से बचने के लिए कच्चे आम का लेप बनाकर पैरों के तलवों पर मालिश करनी चाहिए।
  • लू लगने और ज्यादा गर्मी में शरीर पर घमौरियां हो जाती हैं. बेसन को पानी में घोलकर घमौरियों पर लगाने से फायदा होता है।
  •  लू लगने पर जौ के आटे और प्याज को पीसकर पेस्ट बनाएं और उसे शरीर पर लगाएं. जरूर राहत मिलेगी।
  • धूप में निकलने से पहले नाखून पर प्याज घिसकर लगाने से लू नहीं लगती. यही नहीं धूप में बाहर निकलते वक्‍त अगर छिला हुआ प्‍याज लेकर साथ चलेंगे तो भी आपको लू नहीं लगेगी।

लू लगने के आयुर्वेदिक उपाय

सेब का सिरका :

लू लगने पर शरीर में मिनरल और इलेक्ट्रोलाइट की कमी हो जाती है खासतौर पर पोटैशियम और मैग्नीशियम जैसे ज़रुरी मिनरल की मात्रा काफी कम हो जाती है। ऐसे में सेब के सिरके का सेवन करने से ये खोए हुए मिनरल वापस मिल जाते हैं और शरीर में इनका संतुलन बना रहता है।

सेवन का तरीका : दो चम्मच सेब के सिरके को एक गिलास पानी में मिलाकर दिन में दो बार इसका सेवन करें।

चंदनासव :

यह चंदन और कई तरह की जड़ी बूटियों से निर्मित एक आयुर्वेदिक पेय औषधि (आसव) है। आयुर्वेद के अनुसार चंदनासव में शीतल गुण होता है। ठंडी तासीर होने के कारण जब शरीर में गर्मी या जलन काफी बढ़ जाती है तो इसका इस्तेमाल करना बहुत फायदेमंद रहता है। लू लगने पर इसका सेवन करने से जल्दी आराम मिलता है।

सेवन का तरीका : तीन से चार चम्मच चंदनासव और समान मात्रा में पानी मिलाकर दिन में दो बार खाना खाने के बाद इसका सेवन करें।

बेल का शरबत :

गर्मियों में बेल का शरबत अमृत के समान होता है। बेल में विटामिन सी और फाइबर की मात्रा बहुत अधिक होती है। इसके सेवन से शरीर में ठंडक बनी रहती है और लू से बचाव होता है। बेल का शरबत पाचन तंत्र को भी दुरुस्त रखता है।

सेवन का तरीका : रोजाना दिन में दो-तीन बार इस जूस का सेवन खाना खाने से पहले करें।

गिलोय का जूस :

गिलोय में शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने में भी मदद करती है। आयुर्वेद के अनुसार गिलोय वात, पित्त और कफ शामक माना जाता है। यह लू में होने वाले तेज बुखार को जल्दी ठीक करती है और शरीर के तापमान को और बढ़ने से रोकती है।

Read Also : खुद बनायें मनपसंद वेजिटेरियन चीला Make Favorite Vegetarian Cheela

Read Also : दीपक बारे जानें वास्तु टिप्स Vastu Tips For Deepak

Read Also : पूर्वजो की आत्मा की शांति के लिए फल्गू तीर्थ  

Connect With Us: Twitter Facebook

SHARE
RELATED ARTICLES

Most Popular