Gurvinder Singh Dhamija : जल्द ही हरियाणा को निर्वाचित गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी मुख्यमंत्री के आशीर्वाद से देंगे : धमीजा

0
152
Gurvinder Singh Dhamija
Gurvinder Singh Dhamija
  • चुनाव करवाने के लिए तैयारियां तेज
  • वार्ड बंदी और मतदाता सूची बनाने का काम तेज गति से
  • मुख्यमंत्री मनोहर लाल के भरोसे को नहीं टूटने देंगे
  • गौलक के एक एक पैसे का सदुपयोग होगा

Aaj Samaj (आज समाज),Gurvinder Singh Dhamija,प्रवीण वालिया, करनाल, 27 मई : हरियाणा सिख गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी के महासचिव तथा हरियाणा पंजाबी साहित्य अकादमी के वाइस चेयरमैन गुरविंदर सिंह धमीजा ने कहा कि मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने इस प्रदेश में पंजाबियत को प्रोत्साहन दिया। आज पंजाबी भाषा सिखी परंपरा और गुरुओं का सम्मान उनका प्रकाश पर्व शहादत पर्व मनाने का काम मुख्यमंत्री मनोहर लाल की अगुवाई में किया गया। हरियाणा बनने के बाद पहली बार मुख्यमंत्री मनोहर लाल की अगुवाई में अकादमी और सिंख संगतों ने मिल कर गुरुओं का प्रकाश पर्व और शहादत पर्व मनाने का काम किया।

उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री का प्रयास है कि हरियाणा के सिखों को निर्वाचित हरियाणा सिख गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी मिले। उसी दिशा में काम चल रहा है। हरियाणा सिख गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी के चुनावों के लिए वार्ड बंदी और मतदाता सूची बनाने का काम तेजी से चल रहा है। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री ने उन्हें महासचिव के रूप में जो जिम्मेदारी लगाई उसे वह पूरी तरह से निभाने का प्रयास कर रहे हैं। वह हरियाणा सिख गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी और मुख्यमंत्री के प्रति जबाबदेह है। उन्होंने कहा कि उनका यह प्रयास रहता है कि मुख्यमंत्री ने उन पर जो भरोसा दिखाया है, वह हमेशा बना रहे। उन्होंने कहा कि उनका यह प्रयास रहा कि गुरुद्वारों की आमदनी बढ़े, खर्च घटे, कम धन में बेहतर काम हो।

उन्होंने कहा कि लौहगढ़ में जो काम उन्होंने किया । वह भी परदर्शी ढंग से काम किया। उन्होंने चुनौति दी कि कोई उन पर भ्रष्टाचार के आरोप साबित कर के दिखा दे। उन्होंने कहा कि उन्होंने निर्धारित समायावधि में बहुत अधिक काम करना है। उन्होंने कहा कि गुरुद्वारों का रख रखाब करेंगे। उन्होंने कहा कि कमेटी का बजट सबसे कम बनाया। उन्होंने कहा कि गुरुद्वारों की सेवा में एक एक पैसे का सदुपयोग होना चाहिए। उन्होंने कहा कि वह मुख्यमंत्री की प्रेरणा से न तो खाते हैं ना ही किसी को खाने देते हैं। उन्होंने कहा कि उन पर प्रदेश के लााखों सिखों ने भरोसा दिखाया है उसे वह टूटने नहीं देगे। जब तक वाहे गुरु और मुख्यमंत्री की इच्छा है जब तक वह काम करेंगे।

उन्होंने कहा कि जो लोग उनसे नाराज हैं उनसे भी वह बात करेंगे। सभी का एक मात्र मिशन है कि कमेटी को अच्छी तरह संचालित किया जाए। उन्होंने कहा कि वह गुरुओं के भरोसे के साथ संतों का आशीर्वाद के साथ काम करेंगे। वह अपना काम पूरी ईमानदारी और पारदर्शिता के साथ कर रहे हैं और करते रहेंगे।  मुख्यमंत्री के आशीर्वाद से जल्द नई निर्वाचित कमेटी के लिए चुनाव होंगे। उसके बाद नई कमेटी अपने हिसाब से काम करेगी। हम सभी का प्रयास सुप्रीम कोर्ट के निर्णय का सम्मान के साथ मुख्यमंत्री के भरोसे को बनाए रखना है।

SHARE