Homeमनोरंजनपशुओं की भाषा समझने वाला राजा King Who Understands Language Of...

पशुओं की भाषा समझने वाला राजा King Who Understands Language Of Animals

आज समाज डिजिटल, अम्बाला
King Who Understands Language Of Animals : एक बार बच्चे एक नागराज को मार रहे थे, एक राजा ने उसकी रक्षा की। राजा पर प्रसन्न हो नागराज ने जानवरों की भाषा समझने और बोलने का वर प्रदान किया था। किन्तु यह चेतावनी भी दी थी कि यदि वह उस बात की चर्चा यदि कभी भी किसी से करेगा तो उसके प्राण चले जाएंगे।

Read Also : अकबर-बीरबल कहानी: सबसे बड़ा हथियार Greatest Weapon

King Who Understands Language Of Animals : राजा जब अपनी प्रिय रानी के साथ एक बाग में बैठा कुछ खा पी रहा था। तभी मिष्टान्न का एक छोटा-सा टुकड़ा नीचे गिर गया। थोड़ी देर में वहाँ एक चींटी पहुँची और उस टुकड़े को देख खुशी से चिल्ला उठी, ” अरे वाह ? इतना बड़ा मिष्टान्न जो एक पूरी बैल-गाड़ी में भी नहीं समा सकता !” फिर वह उस टुकड़े को उठा ले जाने की चेष्टा करने लगी। चींटी की बात सुन राजा को हँसी आ गई और वह मुस्करा उठा।

King Who Understands Language Of Animals :

King Who Understands Language Of Animals : राजा की रहस्यमयी मुस्कान को देख रानी ने समझा कि उसके श्रृंगार में शायद कोई त्रुटि रह गयी थी। अत: उसने राजा से उसकी मुस्कान का कारण जानना चाहा। रात राजा जब शयन-कक्ष में पहुँचा तो रानी ने उसकी रहस्यमयी मुस्कान का कारण जानने के लिए तरह-तरह का नाटक किया। अँतत: राजा को हार माननी पड़ी और उसने रानी से कहा कि यदि वह कारण बताएगा तो उसकी मृत्यु हो जाएगी। रानी अपनी ज़िद पर अड़ी रही, तब राजा ने उससे कहा कि दूसरे दिन उसे उसी उद्यान में सारी बात बता देगा।

King Who Understands Language Of Animals : दूसरे दिन राजा अनुचरों के साथ उसी उद्यान में जा रहा था तो उसे मार्ग में एक गधा और एक बकरी बातचीत करते दिखे। राजा ने सुना कि वह बकरी गधे से कह रही थी, “गधे ! तुम तो मूर्ख हो , किन्तु मैंने जाना कि राजा तुमसे बड़ा मूर्ख है।” राजा को बकरी की बात से आश्चर्य हुआ। वह बकरी से पूछ बैठा कि वह उसे मूर्ख’ क्यों समझती है ? बकरी ने राजा से कहा, “हे राजा ! आज तुम रानी को खुश करने के लिए अपने जीवन का बलिदान कर रहे हो किन्तु जब वह रानी तुम्हारी मृत्यु के बाद तुम्हारी समस्त सम्पत्ति की अधिकारिणी हो किसी दूसरे व्यक्ति के साथ जीवन का आनन्द उठाएगी तो क्या तब भी तुम प्रसन्न रहोगे।”

Read Also : बच्चों के लिए इंडोर गेम्स Indoor Games For Kids

King Who Understands Language Of Animals : बकरी की बात सुनकर राजा का विवेक जाग उठा वह अपने जीवन का मूल्य समझने लगा। जब राजा बाग पहुँचा तो उसने रानी से कहा, “रानी मैं तुम्हें अपनी मुस्कान का कारण बताने को तैयार हूँ, किन्तु एक शर्त है। तुम्हें एक सौ कोड़े खाने पड़ेंगे क्योंकि भेद बताने पर मेरे तो प्राण तत्काल निकलेंगे।” रानी ने समझा राजा तो उसे बहुत प्यार करता था उस पर झूठमूठ में कोड़े बरसाए जाएंगे। अत: वह कोड़े खाने को तैयार हो गयी। तब राजा ने अपने सिपाही से पूरी शक्ति के साथ रानी पर कोड़े बरसाने को कहा। सिपाही ने तब रानी पर पूरी शक्ति से कोड़े बरसाये।

Read Also : बच्चों के लिए झटपट सैंडविच पराठा Sandwich Paratha For Kids

King Who Understands Language Of Animals : जैसे ही कोड़े वाले ने रानी को एक कोड़ा मारा वह चीख उठी ” आह ! बहुत दर्द होता है। मुझे कोड़े से नहीं मारो ! मुझे राजा के मुस्कान का रहस्य भी नहीं जानना है। तब राजा ने कोड़े वाले से कहा कि वह और जोर से रानी पर कोड़े बरसाये क्योंकि उसे पति की मौत स्वीकार थी किन्तु एक कोड़े की चोट भी नहीं।

King Who Understands Language Of Animals : कोड़े वाले ने जब फिर से रानी पर कोड़ा बरसाने को हुआ तभी राजा के मंत्री ने राजा से आग्रह किया कि वह रानी को क्षमा कर दे। राजा ने रानी को क्षमा तो कर दिया किन्तु वह मान-सम्मान और प्यार फिर कभी भी प्रदान नहीं किया।

Read Also : बच्चों के लिए इंडोर गेम्स Indoor Games For Kids

King Who Understands Language Of Animals

Also Read : जीवन शैली के जरिये आँखों की देखभाल कैसे करें How To Take Care Of Eyes

Connect With Us : Twitter Facebook

SHARE
RELATED ARTICLES

Most Popular