Arindam Bagchi: आपरेशन कावेरी के तहत सूडान से 229 लोगों का 7वां जत्था बेंगलुरु पहुंचा

0
157
Arindam Bagchi
विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अरिंदम बागची।

Aaj Samaj (आज समाज),Arindam Bagchi, नई दिल्ली/खार्तूम: युद्धग्रस्त अफ्रीकी देश सूडान में फंसे भारतीयों को सरकार के ‘आपरेशन कावेरी’ के तहत सुरक्षित निकालने का सिलसिला लगातार जारी है। भारत सरकार के निर्देश पर भारतीय नोसैना व वायु सेना आपरेशन कावेरी को अंजाम दे रही है और रविवार को जेद्दा से 229 और भारतीय नागरिकों का सांतवा जत्था बेंगलुरु पहुंच गया। विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अरिंदम बागची ने ट्वीट कर यह जानकारी दी।

  • अपने नागरिकों की सुरक्षित घर वापसी के लिए सरकार प्रयासरत  
  • टीका न लगा होने के चलते सूडान से आए 117 लोग क्वारंटाइन 

बता दें कि सूडान में वहां की सेना और पैरा-मिलिट्री (आरएसपी) के बीच पिछले करीब 15 दिन से भीषण लड़ाई चल रही है और तख्तापलट की आशंक है। इसी जंग के चलते भारत सहित अन्य कई देशों के लोग वहां फंस गए हैं। अरिंदम बागची ने बताया कि आपरेशन कावेरी के तहत भारत सरकार अपने नागरिकों की सुरक्षित घर वापसी के लिए हर संभव प्रयास कर रही है। उन्होंने बताया कि सूडान से 7वीं आउटबाउंड में 229 भारतीय नागरिकों को पहले जेद्दा लाया गया फिर जेद्दा से उन्हें बेंगलुरु पहुंचाया गया।

दो अलग-अलग जत्थों में 596 लोग स्वदेश लाए गए

आपरेशन कावेरी के तहत शनिवार को दो अलग-अलग जत्थों में 596 और भारतीयों को स्वदेश लाया गया था। इससे पहले 231 भारतीयों को लेकर एक विमान नई दिल्ली पहुंचा था। एयरपोर्ट पर फ्लाइट से उतरने के बाद इन लोगों ने भारत माता की जय और वंदे मातरम के नारे लगाए। सूडान से आए भारतीय लोगों में से 117 को ‘येलो फीवर’ का टीका न लगा होने के चलते क्वारंटाइन किया गया है। इन यात्रियों में अगर बीमारी का कोई लक्षण नहीं उभरा, तो सात दिनों बाद उन्हें छोड़ दिया जाएगा।

आंध्र के 11 प्रवासियोें ने नहीं करवाया पंजीकरण

आंध्र प्रदेश नॉन-रेजिडेंट तेलुगु सोसाइटी (एपीएनआरटीएस) ने कहा है कि प्रदेश के 11प्रवासियों ने अभी तक सूडान में भारतीय दूतावास में अपना पंजीकरण नहीं कराया है। एपीएनआरटीएस की मुख्य कार्यकारी पी हेमलता रानी के मुताबिक, सूडान में अब तक आंध्र प्रदेश के कुल 69 लोगों की पहचान की गई है, जिनमें 58 ने दूतावास में पंजीकरण कराया है, जबकि 11 ने अभी तक भारतीय मिशन से संपर्क नहीं किया है। पंजीकृत 58 लोगों में से 48 को भारत वापस लाया जा चुका है, जबकि बचे हुए 10 लोग रास्ते में हैं।

यह भी पढ़ें : Weather Scientists: पश्चिमी विक्षोभ के साथ ग्लोबल वार्मिंग भी बेमौसम बारिश की वजह

यह भी पढ़ें : Ludhiana Gas Leak: लुधियाना में गैस रिसाव के कारण 3 बच्चों सहित 10 लोगों की मौत

यह भी पढ़ें : Weather 30 April Update: पूर्वी भारत में लू, पंजाब व हरियाणा सहित उत्तर भारत के कुछ इलाकों में सामान्य से ज्यादा बारिश का अनुमान

Connect With Us: Twitter Facebook

 

SHARE