खून तक जमा देने वाली ठंड, Photos में देखिए -40 डिग्री तापमान में कैसे रहते हैं लोग

0
886
Yakutsk City In Russia

आज समाज डिजिटल, Yakutsk City In Russia : इन दिनों उत्तर भारत में हाड़ कंपा देने वाली ठंड पड़ रही है। यहां तापमान 10 डिग्री के आसपास है जिससे लोगों का जीना मुश्किल हो गया है। लेकिन आज हम आपको बता रहे हैं रूस के एक ऐसे क्षेत्र के बारे में जहां तापमान -40 डिग्री से भी नीचे हैं। दूर दूर तक बर्फ के चादर ही दिखाई देती है। यहां लोग कई कई दिनों तक अपने घरों से बाहर नहीं निकलते हैं। 

यह रूस याकूत्स्क शहर है जो कि लेना नदी (Lena River) के पास बसा है। ये दुनिया का इकलौता ऐसा शहर है, जहां साल के अधिकांश दिन खून जमा देने वाली ठंड से भरे रहते हैं. जहां एक आम इंसान जाने से भी कतरा जाए। साइबेरिया क्षेत्र में पड़ने वाले इस शहर में गर्मी के मौसम में भी पारा 10 डिग्री से नीचे रहता है।  ऐसे शहर में आखिर लोग कैसे रहते हैं और कैसी होती है उनकी रोज़ाना की जिंदगी?

Yakutsk Inside Photos

3.60 लाख है आबादी

याकुत्सक, दुनिया का सबसे ठंडा इंसानी इलाका भी माना जाता है। यहां की आबादी करीब 3.60 लाख है। इस शहर में अक्टूबर से अप्रैल तक 7 महीने सर्दियों में मुश्किल बढ़ जाती है, लेकिन जिंदगी के रंग-उमंग में कोई कमी नहीं। यहां से हजार किमी दूर ओमीकोन में तो तापमान -60 डिग्री तक चला जाता है। दूसरी ओर, जुलाई में याकुत्सक में पारा 24 डिग्री पर आ जाता है। लेकिन एक ही पल में ठंड इतनी बढ़ सकती है कि पूरी सुरक्षा के बाद भी आप उस ठंड को नहीं रोक पाएं।

Yakutsk weather

पानी के लिए तोड़ते हैं बर्फ के टुकड़े 

याकुत्सक शहर में लोग पीने के पानी के लिए जमी हुई नदी से बर्फ के टुकड़े तोड़ लाते हैं। उन्हें गर्म करके पानी मिलता है। सर्दी के दौर में यहां खाने-पीने की चीजों से लेकर हर चीज बर्फ नहीं, ठंडे पत्थर जैसी सख्त हो जाती है। महज 10 मिनट बाहर रहने पर भी ज्यादा थकान लगती है। 20 मिनट में चेहरा और अंगुलियां सुन्न हो सकती हैं। इसलिए किसी भी हाल में लोग आधे घंटे से ज्यादा बाहर नहीं रहते। (coldest city in the world)

coldest city in the world

वहीं बदकिस्मती से अगर आप पर्याप्त कपड़ों के बिना बहार चले गए तो ठंड से आपका पूरा शरीर ही टूट जाएगा। अपने इसी मौसम की वजह से याकूत्स्क को एक ख़तरनाक शहर भी माना जाता है। क्योंकि यहां ज्यादातर वक़्त रास्ते बर्फ़ से ढके रहते हैं, इसलिए लोग राशन और जरूरी सामग्री को पहले ही जमा करके रख देते हैं। आम जनजीवन चलाना यहां किसी चुनौती से कम नहीं है। हालांकि, कई साल की मशक्कत के बाद यहां के लोगों ने जीने के तरीके को ही बदल लिया है। (Yakutsk Inside Photos)

पैकेट बंद खाना

हालांकि अब यहां लोगों को थोड़ी राहत मिली है। अब वो पैकेट बंद खाना भी अपने पास रख सकते हैं, जो साल के कठिन दिनों में उनके काम आता है। हालांकि, उसके बावजूद भी यहां आज भी मछली एक सबसे ज्यादा खाई जाने वाली चीज़ है. यहां की नदियों के जमे होने के बाद भी वहां मछलियां पकड़ी जाती हैं। यहां के लोगों के मुख्य भोजन मछलियां ही हैं। मछलियों के अलावा यहां के लोगों को बारहसिंघा का मीट बहुत भाता है. रूस में बारहसिंघा की संख्य बहुत ज्यादा है।

गर्मी के दिन लौटती है रौनक (Yakutsk weather)

गर्मियों का वक़्त ही एक ऐसा समय होता है, जिसका याकूत्स्क में लोग बेसब्री से इंतज़ार करते हैं। गर्मियों के मौसम में यहां अच्छी खासी रौनक देखने को मिलती है। ऐसा इसलिए क्योंकि यही साल का वो वक़्त होता है जब तापमान शून्य से ऊपर रहता है। बर्फ़ पिघतली है, रस्ते खुलते हैं और लोग बाहर आ पाते हैं। गर्मियों में भी बहुत कम ऐसा होता है जब पारा 30 डिग्री तक भी पहुंच जाता हैं।

ये भी पढ़ें : बिना इंटरनेट के कैसे पता करें फोन की लोकेशन, जानिए इस ट्रिक के बारे में

ये भी पढ़ें : iPhone 12 Mini पर चल रहा शानदार डिस्काउंट ऑफर, जल्दी करें

ये भी पढ़ें : चोरी हुआ मोबाइल कैसे खोजें, कम्प्यूटर और दोस्त के मोबाइल से ऐसे कर सकते हैं ट्रैक

ये भी पढ़ें : Tecno Pova 4 को 1350 रुपए में खरीदने का मौका, जानिए कैसे

Connect With Us: Twitter Facebook
SHARE