चीन की टेक कंपनी Xiaomi कर रही थी रूस की मदद ! यूक्रेन ने लगाया ये बड़ा आरोप

0
563
Xiaomi Accused of Helping Russia

आज समाज डिजिटल, Xiaomi Accused of Helping Russia : रूस और यूक्रेन के बीच जारी जंग को एक साल से अधिक का समय हो गया है। 24 फरवरी 2022 से शुरू हुई इस जंग में अब तक दोनों देशों के लाखों सैनिकों की मौत हो चुकी है।

इस जंग के कारण रूस पर बहुत से देशों ने प्रतिबंध लगा दिए हैं और कई सारी इंटरनेशनल कंपनियों ने रूस में अपना कारोबार भी समेट दिया है। इससे रूस की अर्थव्यवस्था को  भी काफी नुकसान झेलना पड़ा है। दोनों देशों के बीच इस युद्ध के कारण बहुत से विवाद भी सामने आ रहे हैं। ऐसे ही एक विवाद में चीन की इलेक्ट्रॉनिक्स कंपनी Xiaomi भी फंस गई है।

एक मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, यूक्रेन ने शाओमी पर गंभीर आरोप लगाए हैं और उसकी नेशनल एजेंसी फॉर प्रिवेंशन ऑफ करप्शन (NAZK) ने शाओमी को “अंतरराष्ट्रीय युद्ध प्रायोजकों” की लिस्ट में शामिल करने की घोषणा की है। यूक्रेन की अथॉरिटीज का दावा है कि रूस के मार्केट में शाओमी का कारोबार बरकरार है और दोनों देशों के बीच विवाद की शुरुआत से वह प्रमुख स्मार्टफोन ब्रांड है।

NAZK के डेटा से मालूम होता है कि रूस में शाओमी का मार्केट शेयर पिछले वर्ष दोगुना हुआ है। पिछले वर्ष कंपनी का वहां रेवेन्यू बढ़कर 20 करोड़ डॉलर से अधिक हो गया था। इस बारे में यूक्रेन की ओर से जारी प्रेस विज्ञप्ति में बताया गया है कि अंतरराष्ट्रीय युद्ध प्रायोजकों की लिस्ट में शाओमी को शामिल करने की वजह रूस के यूक्रेन पर हमले के बाद कंपनी का वहां अपना कारोबार बरकरार रखना है। यूक्रेन की सरकार रूस को एक “आतंकवादी देश” कहती है।

शाओमी ने रूस में अपने फ्लैगशिप्स स्मार्टफोन्स लॉन्च करने की योजना बनाई है। यूक्रेन के एंटी करप्शन ब्यूरो का दावा है कि शाओमी के रूस में रेवेन्यू पर चुकाए जा रहे टैक्स का इस्तेमाल यूक्रेन के खिलाफ युद्ध की फंडिंग के लिए किया जा रहा है। यूक्रेन की इस लिस्ट में शामिल कंपनियों की संख्या 21 हो गई है।

जानना जरूरी है कि भारत में शाओमी को कस्टमर्स की पसंद को समझने में गलती करने का खामियाजा भुगतना पड़ा है। दक्षिण कोरिया की इलेक्ट्रॉनिक्स कंपनी Samsung ने इसे पीछे छोड़कर दुनिया के दूसरे सबसे बड़े स्मार्टफोन मार्केट में पहला स्थान हासिल कर लिया है।

ये भी पढ़ें : AMAZON ने लॉन्च किए AI बेस्ड टूल, गूगल और माइक्रोसॉफ्ट को मिलेगी टक्कर

ये भी पढ़ें : Apple का भारत में पहला स्टोर 18 अप्रैल को खुलेगा मुम्बई में, दूसरा स्टोर भी हुआ कंफर्म, देखें शानदार तस्वीरें

Connect With Us: Twitter Facebook
SHARE