Homeदुनियाइमरान खान का हकीकी आजादी मार्च शुरू, सरकार ने गृह मंत्रालय को...

इमरान खान का हकीकी आजादी मार्च शुरू, सरकार ने गृह मंत्रालय को किया आगाह

आज समाज डिजिटल, Imran Khan Hakiki Azadi March : पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री इमरान खान आज फिर से ‘हकीकी आजादी मार्च निकाल रहे हैं। यह जुलूस लाहौर से इस्लामाबाद के लिए रवाना हो चुका है। वहीं इस मार्च में जुटी भीड़ देखकर पाकिस्तान सरकार ने अलर्ट जारी किया है। इसके बाद गृह मंत्रालय ने इमरान खान के हकीकी आजादी मार्च में हिस्सा ले रहे कर्मचारियों को कहा है कि वे इस मार्च का हिस्सा न बनें।

इससे पहले इमरान की पार्टी पीटीआई की तरफ से निकाले जा रहे इस मार्च के लिए इमरान समर्थक लाहौर के लिबर्टी चौक पर एकजुट हुए और सरकार के खिलाफ नारे लगाते हुए आगे बढ़ने लगे। फिलहाल इस मार्च में अभी तक इमरान खान नहीं जुड़े हैं, वे जुमे की नमाज के बाद अपने कार्यकर्ताओं से रूबरू होंगे। दूसरी तरफ सरकार ने भी कहा है कि अगर जरूरत पड़ी तो इमरान खान की गिरफ्तारी भी हो सकती है। यह भी बताया गया है कि इमरान खान के मौजूदा रुख से वहां की सेना खुश नहीं है।

कार्यकर्ताओं से गैस मास्क और डंडे लाने के लिए कहा

पाकिस्तान में चुनावों की मांग को लेकर यह मार्च निकाला जा रहा है। पीटीआई ने मार्च में हिस्सा लेने वालों से इस्लामाबाद में धरने के लिए गैस मास्क, चादरें, कंबल, तौलिये, तीन जोड़ी कपड़े, छोटे आकार के टेंट, स्लिंग-शॉट्स, मार्बल्स और डंडों की व्यवस्था करने को कहा है।

प्रदर्शनकारियों को रोकने के लिए 13000 जवान तैनात

उधर, इस्लामाबाद में पहुंच रहे मार्च को रोकने की तैयारी भी जोरों शोरो से चल रही है। यहां भारी संख्या में सुरक्षा बलों को तैनात किया गया है। प्रदर्शनकारियों को रोकने और खराब हालात से निपटने के लिए आंसू गैस और पैपर गन से लैस 13,000 से ज्यादा जवानों को राजधानी भर में तैनात किया गया है।

Hakiki Azadi March

पाकिस्तान में क्यों मचा फिर से बवाल

बता दें कि इमरान खान को हाल ही में चुनाव आयोग से झटका लगा है। इसके बावजूद वो लगातार चुनाव कराए जाने की मांग पर अड़े हैं। इसे लेकर आज से इमरान खान हकीकी आजादी मार्च शुरू कर रहे हैं जिससे सरकार को नेशनल असेंबली को भंग करने और मध्यावधि चुनावों की घोषणा करने के लिए बाध्य किया जा सके।

पहले हिंसक हो गया था इमरान खान का मार्च

गौरतलब है कि जब से इमरान खान की कुर्सी गई है, तभी से उन्होंने शाहबाज सरकार के खिलाफा मोर्चा खोल रखा है। इससे पहले वे मई 2022 में आजादी मार्च निकाल चुके हैं, लेकिन इस्लामाबाद पहुंचने पर यह हिंसक हो गया था। इमरान समर्थकों और पुलिस के बीच कई जगह झड़पें और आगजनी हुई थी। कुछ मेट्रो स्टेशन पर आग लगा दी गई थी। इसके बाद आजादी मार्च को खत्म करना पड़ा था।

ये भी पढ़ें : भारत नीदरलैंड मैच के बीच युवक ने किया गर्लफ्रेंड को प्रपोज, इंटरनेट पर छा गया क्यूट कपल का वीडियो

ये भी पढ़ें : सिद्धू मूसेवाला हत्याकांड में नया अपडेट : एनआईआई ने पंजाबी सिंगर अफसाना खान को जारी किया समन

ये भी पढ़ें :  डेरा प्रमुख को लेकर राम रहीम ने की बड़ी घोषणा, हनीप्रीत का नाम भी बद

Connect With Us: Twitter Facebook
SHARE
RELATED ARTICLES

Most Popular