World Health Organization ने कहा अब वर्ल्ड हेल्थ इमरजेंसी नहीं कोविड-19

0
247
World Health Organization
डब्ल्यूएचओ के प्रमुख टेड्रोस एडेहोनम।

Aaj Samaj (आज समाज), World Health Organization, जेनेवा: विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) ने कहा है कि अब वैश्विक महामारी कोविड-19 वर्ल्ड हेल्थ इमरजेंसी नहीं रहा है। डब्ल्यूएचओ के प्रमुख टेड्रोस एडेहोनम ने बताया कि एक साल में कोरोना वायरस संक्रमण के मामले बहुत तेजी से कम हुए हैं और इसी के साथ कोरोना से मरने वाले लोगों की संख्या काफी कम हुई है।

  • ग्लोबल हेल्थ इमरजेंसी इंटरनेशनल लॉ में सबसे बड़ा हेल्थ अलर्ट 

हेल्थ सिस्टम पर प्रेशर भी अब बहुत कम

डब्ल्यूएचओ प्रमुख ने बताया कि हेल्थ सिस्टम पर प्रेशर भी अब बहुत कम हो गया है और ज्यादातर देश नॉर्मल लाइफ पर लौट चुके हैं। उन्होंने कहा, इन्हीं कारणों से कोविड-19 अब वर्ल्ड हेल्थ इमरजेंसी नहीं रहा है। डब्ल्यूएचओ प्रमुख ने जेनेवा में ‘कोविड-19 एंड ग्लोबल हेल्थ इश्यूज’ पर एक प्रेस कांफ्रेंस कर उक्त जानकारी दी। उन्होंने वैक्सीनेशन को महामारी पर काबू पाने की बड़ी वजह बताया।

30 जनवरी 2020 को ग्लोबल इमरजेंसी डिक्लेयर

डब्ल्यूएचओ प्रमुख ने बताया कि कोरोना को 30 जनवरी 2020 को ग्लोबल इमरजेंसी डिक्लेयर किया गया था। अमेरिका में 11 मई को हेल्थ इमरजेंसी खत्म हो जाएगी। कोविड से सबसे ज्यादा लोग अमेरिका में मारे गए थे। वहीं पूरी दुनिया में इस महामारी से लगभग 70 लाख लोग मारे गए। टेड्रोस एडेहोनम ने यह भी बताया कि 1221 दिन पहले हमें चीन के वुहान से कुछ मामलों की जानकारी मिली थी। इनके लक्षण निमोनिया से मिलते-जुलते थे। 30 जनवरी 2020 को इंटरनेशनल हेल्थ रेग्युलेशन्स की एक कमेटी ने मीटिंग की और इसने कुछ अहम सलाह दी, जिसके बाद मैंने ग्लोबल हेल्थ इमरजेंसी का ऐलान किया था। इंटरनेशनल लॉ में यह सबसे बड़ा हेल्थ अलर्ट होता है।

पिछले सप्ताह हर 3 मिनट में एक व्यक्ति की मौत

टेड्रोस एडेहोनम ने यह भी कहा कि कोविड-19 के ग्लोबल हेल्थ इमरजेंसी कैटेगरी में शामिल न रहने का यह मतलब नहीं है कि ये दुनिया के लिए खतरा भी नहीं रहा। उन्होंने कहा, पिछले सप्ताह की ही बात करें तो हर 3 मिनट में कोविड-19 से एक व्यक्ति की मौत हुई। ये वे मौतें हैं, जिनकी हमारे पास जानकारी है। इसके अलावा भी बहुत कुछ हो सकता है। डब्ल्यूएचओ प्रमुख ने कहा, जब हम आज यहां इस बारे में बात कर रहे हैं तो दुनिया में कई लोग अब भी कोविड-19 से आईसीयू में जूझ रहे हैं। कई लोग ऐसे हैं जो कोविड के बाद भी परेशान हैं, क्योंकि कोविड से उबरने के बाद काफी परेशानियां हो रहीं हैं।

यह भी पढ़ें :  6 May Covid Update: कोरोना के 2961 नए मामले, सक्रिय 30041, 17 मरीजों की मौत

यह भी पढ़ें : Karnataka Elections 2023: पीएम मोदी का कर्नाटक में मेगा रोड शो, 17 विधानसभा क्षेत्रों से गुजरेगा, लोगों ने बरसाए फूल

यह भी पढ़ें : Parivartan Padyatra Today Update: हरियाणा सरकार ने प्रदेश के हर वर्ग को आंदोलन करने पर मजबूर किया : अभय चौटाला

Connect With Us: Twitter Facebook

 

SHARE