Wednesday, December 1, 2021
HomeUncategorizedसरकार कोरोना की तीसरी संभावित लहर से निपटने को तैयार : राजीव...

सरकार कोरोना की तीसरी संभावित लहर से निपटने को तैयार : राजीव सैजल

कहा- बच्चों को लेकर की गई है विशेष तैयारी
आज समाज डिजिटल, शिमला:
स्वास्थ्य मंत्री डॉ. राजीव सैजल ने कहा कि सरकार कोरोना संक्रमण की तीसरी संभावित लहर से निपटने के लिए पूरी तरह सतर्क व तैयार है। उन्होंने कहा कि यह बताया जा रहा है कि तीसरी वेव बच्चों के लिए घातक हो सकती है, इसे देखते हुए सरकार ने बच्चों के लिए चार स्थानों पर विशेष आईसीयू तैयार किए हैं। उन्होंने कहा कि लोगों को अभी भी कोरोना प्रोटोकॉल का पालन करना होगा और जो हिदायतें सरकार द्वारा समय-समय पर कही जा रही है, उसका पालन करना चाहिए। कोरोना महामारी से संपूर्ण जन-मानस पर पड़े प्रभाव और निजात के लिए सरकार द्वारा उठाए गए प्रयासों पर लाई गई चर्चा के उत्तर में स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि जबसे कोरोना का पहला केस आया है, तब से लेकर आज तक सरकार ने इससे निपटने के कई अहम कदम उठाए हैं। उन्होंने कहा कि यह वैश्विक महामारी है और इसने पूरे विश्व को अपनी चपेट में लिया है। उन्होंने कहा कि नेतृत्व क्षमता की भी परीक्षा आपातकाल में होती है। उन्होंने कहा कि समय पर यदि निर्णय लिए जाते हैं तो बड़ी से बड़ी चुनौती से सभी सही ढंग से लड़ पाते हैं। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में देश ने कोरोना से लड़ाई लड़ी।
डॉ. सैजल ने कहा कि मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर के नेतृत्व में राज्य में कोरोना महामारी से प्रभावी तरीके से लड़ाई लड़ी और निर्भीकता से कार्य किया। उन्होंने कहा कि मानवीय संवेदना की दृष्टि से कार्य किया गया और लॉकडाउन में जरूरतमंद परिवारों की मदद की। उन्होंने कहा कि हिमाचल में लाकडाउन में किसी भी व्यक्ति को भूखा नहीं सोना पड़ा। उन्होंने कहा कि कोरोना वॉरियर का मनोबल बढ़ाया गया और उनसे लगातार बात की।
स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि विपक्ष ने जो मुद्दे उठाए थे, उनका भी वे जवाब देने वाले थे, लेकिन वे पहले ही बाहर चले गए। उन्होंने कहा कि छह स्तंभों पर कोविड से लड़ाई लड़ी गई और इसे काबू पाया। उन्होंने कहा कि कोविड दौर में मुख्यमंत्री ने हर जिले का दौरा किया और वहां हालात का आकलन करने के बाद उचित कदम उठाए। उन्होंने कहा कि छह मेकशिफ्ट बनकर तैयार हो गए हैं और तीन और बनकर जल्द तैयार होंगे। इसके अलावा बेड की क्षमता भी 8 हजार तक बढ़ा दी है। उन्होंने कहा कि 870 वेंटीलेटर राज्य के पास हैं और इनमें से 700 स्थापित कर दिए गए हैं। उन्होंने कहा कि कोविड की तीसरी संभावित कोरोना वेव से निपटने के लिए तैयारी की जा रही है।
डॉ. सैजल ने कहा कि इस महामारी के आने से पहले दो आॅक्सीजन संयंत्र थे। अब राज्य में 8 फंक्शनल 8 पीएसए प्लांट हैं। उन्होंने कहा कि 148 मीट्रिक टन आॅक्सीजन की क्षमता राज्य में है। उन्होंने कहा कि इस माह तक 16 अस्पतालों में गैस पाइपलाइन सिस्टम तैयार हो जाएगा। उन्होंने कहा कि मरीजों के लिए 198 एंबुलेंस उपलब्ध हैं और 109 और एंबुलेंस बनाए जाने की प्रक्रिया जारी है। उन्होंने कहा कि विधायक निधि से आई एंबुलेंसों के लिए चालकों के पदों को जल्द आउटसोर्स से भरा जाएगा। उन्होंने कहा कि डाक्टरों, पैरा मेडिकल स्टाफ और नर्सों की भर्ती की गई हैं। कोरोना काल में 3100 की आउटसोर्स पर भर्ती की गई है और इनकी सेवाएं जारी रखी गई हैं। उन्होंने कहा कि प्रदेश में पर्याप्त दवाएं हैं और किसी भी आपात स्थिति से निपटने के लिए तैयार हैं। होम आइसोलेशन की 10 हजार किट्स उपलब्ध हैं।

RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments