19 साल के बाद टाटा ग्रुप ला रहा IPO, Tata Technologies ने सेबी के पास जमा करवाए ड्राफ्ट पेपर,

0
293
Tata Technologies IPO Detail

आज समाज डिजिटल, Tata Technologies IPO Detail : आईपीओ के जरिए पैसा कमाने वालों के लिए बहुत बड़ी खुशखबरी है। 19 साल के बाद बाजार में टाटा ग्रुप का आईपीओ आ रहा है। जानकारी के मुताबिक टाटा मोटर्स की सब्सिडियरी कंपनी टाटा टेक्नोलॉजीज ने इनिशियल पब्लिक ऑफरिंग यानी IPO लाने के लिए सिक्योरिटी एक्सचेंज बोर्ड ऑफ इंडिया यानी SEBI के पास ड्राफ्ट पेपर जमा करवाए हैं।

इसमें बताया गया है कि यह IPO पूरी तरह से ऑफर-फॉर सेल (OFS) होगा। इसके तहत कंपनी के शेयरहोल्डर्स और मौजूदा प्रमोटर्स 9.57 करोड़ शेयरों को बेचने जा रहे हैं।

आखिरी बार 2004 में आया था TCS का आईपीओ

Tata Group करीब 19 साल बाद कोई IPO लेकर आ रहा है। इससे पहले साल 2004 टाटा ग्रुप की दमदार कंपनी TCS का आईपीओ आया था। वहीं अब इस IPO के जरिये टाटा मोटर्स ने 8.11 करोड़, अल्फा टीसी होल्डिंग्स ने 97.2 लाख और टाटा कैपिटल ग्रोथ फंड ने अपने 48.6 लाख शेयरों की बिक्री करने का प्लान बनाया है। कंपनी ने सेबी के पास अभी अपने आईपीओ के पेपर्स ही फाइल किए हैं। हालांकि इस आईपीओ के जरिए कितना फंड जुटाया जाएगा और आईपीओ का प्राइस बैंड क्या होगा, इसको लेकर कोई जानकारी नहीं दी है। (Tata Group Upcoming IPO)

Tata Technologies IPO Detail

रेड हेरिंग प्रॉस्पेक्टस के अनुसार इस इश्यू में कंपनी के मौजूदा प्रमोटर और शेयरधारकों द्वारा 9.57 करोड़ शेयरों की बिक्री के लिए प्योर ऑफर फॉर सेल शामिल है। इस OFS में टाटा मोटर्स के 8.13 करोड़ शेयर, अल्फा टीसी होल्डिंग्स पीटीई के 97.2 लाख शेयर और टाटा कैपिटल ग्रोथ फंड I के 48.6 लाख शेयर शामिल हैं।

बता दें कि टाटा टेक्नोलॉजीज में टाटा मोटर्स की 74% हिस्सेदारी है। अल्फा टीसी होल्डिंग्स की 7.26% और टाटा कैपिटल ग्रोथ फंड 1 की 3.63% हिस्सेदारी है। कंपनी ने 31 दिसंबर, 2022 को समाप्त 9 महीने की अवधि में 3011.7 करोड़ रुपए का रेवेन्यू जनरेट किया।

Tata Technologies रेवेन्यू ग्रोथ

2021 की समान अवधि में कंपनी का ऑपरेशन से रेवेन्यू 2607.3 करोड़ रुपए रहा था। इसके अलावा, कंपनी ने 31 दिसंबर, 2022 को समाप्त नौ महीने की अवधि में 407.4 करोड़ रुपए का प्रॉफिट दर्ज किया। जबकि पिछले वित्त वर्ष की समान अवधि में यह 331.3 करोड़ रुपए था। अपकमिंग आईपीओ के लीड बुक मैनेजर JM Financial Ltd, BofA Securities और Citigroup Global Markets India रहेंगे।

ये भी पढ़ें : लगातार चौथे सप्ताह देश के विदेशी मुद्रा भंडार में गिरावट, 32.5 करोड़ डॉलर घटकर 560.942 अरब डॉलर रह गया

ये भी पढ़ें : आरबीआई ने इस सहकारी बैंक पर लगाए प्रतिबंध, ग्राहक सिर्फ 5000 रुपए ही निकाल पाएंगे

ये भी पढ़ें : अडानी-हिंडनबर्ग मामले की जांच के लिए बनेगी विशेषज्ञ कमेटी, सुप्रीम कोर्ट ने दिया आदेश, सेबी को भी 2 महीने में देनी होगी रिपोर्ट

ये भी पढ़ें : Google ने बंद किए चीन, रूस और ईरान से जुड़े 7500 से अधिक यू-ट्यूब चैनल, जानिए वजह

Connect With Us: Twitter Facebook
SHARE