Swachh Bharat Mission को लेकर डीसी मोनिका गुप्ता की मुख्य सचिव संजीव कौशल के साथ हुई वीसी

0
146
 वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के दौरान मौजूद उपायुक्त मोनिका गुप्ता।
 वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के दौरान मौजूद उपायुक्त मोनिका गुप्ता।
  • निजामपुर ब्लॉक में प्लास्टिक वेस्ट मैनेजमेंट यूनिट लगेगी
  • बिहाली की गौशाला के पास बनेगा मॉडल गोबरधन प्रोजेक्ट
  • गौशाला व गांव में सप्लाई होगी रसोई गैस
  • महेंद्रगढ़ में 93.5 फ़ीसदी गांव ओडीएफ प्लस : डीसी मोनिका गुप्ता

Aaj Samaj (आज समाज), Swachh Bharat Mission, नीरज कौशिक, महेंद्रगढ़:
स्वच्छ भारत मिशन के तहत जिला महेंद्रगढ़ के निजामपुर ब्लॉक में मॉडल के तौर पर प्लास्टिक वेस्ट मैनेजमेंट यूनिट स्थापित की जाएगी। अगर यह मशीन कामयाब रहती है तो इसे अन्य खंड में भी स्थापित किया जाएगा। इस कार्य के लिए अधिकारी जल्द से जल्द नियम अनुसार टेंडर प्रक्रिया पूरी कराएं। यह निर्देश उपायुक्त मोनिका गुप्ता आईएएस ने आज हरियाणा के मुख्य सचिव संजीव कौशल के साथ स्वच्छ भारत मिशन को लेकर हुई वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के बाद जिला के अधिकारियों की बैठक में दिए।

स्वच्छ भारत मिशन को लेकर वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए हुई इस समीक्षा बैठक के बाद डीसी ने अधिकारियों को निर्देश दिए कि प्लास्टिक वेस्ट मैनेजमेंट यूनिट स्थापित करने के लिए प्रति ब्लॉक 16 लाख रुपए का फंड उपलब्ध है। स्वच्छ भारत मिशन ग्रामीण के फेज 2 की गाइडलाइन के अनुसार प्रत्येक ब्लॉक में एक प्लास्टिक वेस्ट मैनेजमेंट यूनिट स्थापित की जानी है। इसके लिए अधिकारी नियम अनुसार कार्रवाई सुनिश्चित करें। इस मशीन की खरीद के लिए 10 नवंबर को दोबारा से टेंडर खोले जाएंगे।

जिला के गांव बिहाली में बनने वाले एक मॉडल गोबरधन प्रोजेक्ट के संबंध में डीसी ने बताया कि पूरे राज्य में 20 मॉडल गोबरधन प्रोजेक्ट बनाने हैं। जिला महेंद्रगढ़ में भी एक ऐसा प्रोजेक्ट तैयार किया जाना है। इसके लिए राज्य सरकार ने 50 लाख रुपए फंड आवंटित किया है। इस पर एक करोड़ रुपए से अधिक खर्च होंगे। यह प्रोजेक्ट बिहाली की गौशाला के पास पंचायत की जमीन पर बनेगा। गोबरधन प्रोजेक्ट के माध्यम से पूरे गांव तथा गौशाला में पाइप लाइन के जरिए रसोई गैस सप्लाई की जाएगी।

उपायुक्त ने कहा कि जिला महेंद्रगढ़ में ठोस तथा गीला कचरा के प्रबंधन पर फोकस करें। कूड़े को मिक्स ना होने दें। उन्होंने बताया कि जिला महेंद्रगढ़ में 93.5 फीसदी गांव ओडीएफ प्लस हो चुके हैं। इनमें 18 गांव ओडीएफ प्लस मॉडल गांव है। दूसरे गांवों के ग्रामीणों को भी मॉडल गांव बनाने के लिए प्रोत्साहित करें।
इस बैठक के दौरान अतिरिक्त उपायुक्त वैशाली सिंह आईएएस तथा विभिन्न विभागों के अधिकारी भी मौजूद थे।

यह भी पढ़ें : Road Accident On Chandigarh-Hisar National Highway : हिसार चंडीगढ़ राष्ट्रीय राजमार्ग पर घने कोहरे की वजह से हुआ भीषण सडक़ हादसा

यह भी पढ़ें : Antyodaya Mahasammelan Karnal : करनाल पहुंचने पर गृह मंत्री अमित शाह का भव्य स्वागत

 

SHARE