Homeहरियाणारोहतककॉलेज से 15 लाख रूपए का नहीं हुआ बंदोबस्त

कॉलेज से 15 लाख रूपए का नहीं हुआ बंदोबस्त

  • प्राचार्य बोली विश्वविद्यालय को 15 लाख देने का नही फंड
  • पांच लाख किसी प्रकार कॉलेज ने जमा किए
  • सांपला एरिया के 10गांव की बेटियों का भविष्य अंधकार में
    परवीन दत्तौड़ (सांपला)
    कस्बे के बेरी रोड स्थित सर छोटू राम कन्या महाविद्यालय में एरिया की ही काफी छात्राओ का दाखिला नहीं हो सका। कारण कॉलेज में सीट कम होना बताया गया। इस बात को लेकर छात्राओ में आक्रोश पनप रहा हैं। सरकार का बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ अभियान भी सांपला में दम तोड़ता नजर आ रहा हैं। कॉलेज प्राचार्य डॉ इंदू रोहिल्ला का कहना हैं कि एमए इतिहास , एमए हिंदी की 20-20 सीट बढ़ाने के लिए एमडीयू को लिखा गया था। लेकिन एमडीयू ने लेट फीस की बात कह 15लाख रुपए की डिमांड की। कॉलेज ने पांच लाख रुपए जमा भी करवाए। इसके बावजूद भी समस्या का समाधान नहीं हुआ। अंत में कॉलेज द्वारा अतिरिक्त चीफ़ सैक्टरी हरियाणा को लिखा गया।

बेटियों की पढ़ाई नही होने देंगे प्रभावित

The Future Of 10 Village Daughters Is In The Dark
The Future Of 10 Village Daughters Is In The Dark

सर्व छात्र संघ के अध्यक्ष अमित भारद्वाज का कहना हैं की सरकार दोहरी नीति पर काम कर रही हैं। एक तरफ सरकार बेटी पढ़ाओ बेटी बचाओ का नारा दे रही हैं,तो वही बेटियों को पढ़ाई से दूर करने में भी कोई कोर कसर नहीं छोड़ रही। सांपला कस्बे में करीब 22 गांव से बेटियां शिक्षा लेने आती हैं। लेकिन प्रदेश सरकार द्धारा न तो उचित यातायात की सुविधा दी जा रही और अब पढ़ाई से भी दूर करने का प्रयास किया जा रहा हैं। समाजसेवी राजीव राठी, परवीन आर्य, आकाश आर्य,मनजीत आर्य सहित अन्यो का कहना हैं कि बेटियों की पढ़ाई और उनके भविष्य के साथ किसी भी प्रकार का खिलवाड़ नही होने दिया जाएगा।

चीफ़ सेक्रेटरी के आदेश को नही मान रही एमडीयू

अतिरिक्त चीफ़ सेक्रेटरी ने 28 जुलाई को पत्र लिख किसी भी सरकारी कॉलेज से लेट फीस नहीं लेना का आदेश दिया था। लेकिन इसके बावजूद भी एमडीयू सांपला कॉलेज से लेट फीस के नाम पर 15 लाख रुपए की मांग कर सरकार के दावों की पोल खोल रहा हैं।

Connect With Us: Twitter Facebook

 

SHARE
RELATED ARTICLES

Most Popular