Homeहरियाणाकरनालस्वाति नैन को मिला जल शक्ति मंत्रालय का वाटर हीरो अवार्ड: Water...

स्वाति नैन को मिला जल शक्ति मंत्रालय का वाटर हीरो अवार्ड: Water Hero Award

प्रवीण वालिया, करनाल:
Water Hero Award: भारत सरकार के जल शक्ति मंत्रालय की ओर से आजादी के अमृत महोत्सव के अंतर्गत माई गोव प्लेटफॉर्म पर जल के संरक्षण के प्रति कार्य करने वाले लोगों को प्रोत्साहित करने के लिए ‘वाटर हीरोज-शेयर योर स्टोरी कॉन्टेस्ट का आयोजन किया। देशभर से जल संरक्षण, जल उपयोग और जल संसाधन विकास और प्रबंधन पर कार्य करने वाले व्यक्तियों संस्थाओं से जुलाई माह में प्राप्त प्रविष्टियों में से स्वाति नैन, सत्या फाउंडेशन के जल संरक्षण कार्यों को उत्कृष्ट मानते हुए विजेता घोषित किया गया।Water Hero Award

Read Also : अधिकारी प्रॉपर्टी आईडी से संबंधित शत प्रतिशत कार्य पूरा करना करें सुनिश्चित:मुकुल: Property ID

स्वाति को 10 हजार पुरस्कार भी मिला था (Water Hero Award)

जल शक्ति मंत्रालय की ओर से उन्हें 10 हजार रुपये का नकद पुरस्कार दिया था। गौरतलब है कि 12वीं कक्षा की छात्रा स्वाति नैन पिछले लगभग 6 वर्षों से करनाल जिले के कार्यों में जुटी है। अपने साथियों के साथ ये रविवार को सुबह अपने घर से निकल कर, विभिन गली-मोहल्लों में पहुंच जाते हैं। जहां कहीं भी जल का व्यर्थ बहाव होता दिखता हैं, ये युवा अपनी टूल किट से तुरंत ही पानी की टैब को ठीक करने का प्रयास करते हैं या नई टैप लगा देते हैं।

पर्चे बांटकर करते हैं जागरूक (Water Hero Award)

जल संरक्षण के लिए कर रहे जागरूकइसके अतिरिक्त ये घर-घर, पार्कों और सार्वजनिक स्थानों पर पर्चे बांटकर आमजन को जल संरक्षण के प्रति जागरूक करने का प्रयास करते हैं। स्वाती नैन जल संरक्षण के प्रति जागरूकता लाने के लिए डॉक्यूमेंट्री व वीडियो संदेश बनाकर विभिन्न आनलाइन माध्यमों से प्रचारित भी कर रही हैं। ओ.पी.एस. विद्या मंदिर करनाल में जल संरक्षण के प्रति जागरूकता के लिए एक कार्यक्रम आयोजित किया गया जिसमें स्वाती नैन को उनकी उपलब्धि के लिए सम्मानित किया गया। इस अवसर पर स्कूल की मुख्यध्यापिका डॉ. जसजीत सूद ने अपने सम्बोधन में बच्चों को जल संरक्षण के प्रति संवेदनशील होने का आह्वान किया।

जरूरत के अनुसार हो जल का इस्तेमाल (Water Hero Award)

उन्होंने कहा की शिक्षा का असली उद्देश्य नैतिक मूल्यों से सम्पन्न एक उत्तम नागरिक का निर्माण करना है। उन्होंने विद्यार्थियों को अपनी दिनचर्या में जरूरत अनुसार जल का प्रयोग करने और आसपड़ोस में जल संरक्षण के लिए प्रेरित किया। इस अवसर पर उन्होंने बच्चों से हाथ उठाकर जल संरक्षण का संकल्प करवाया व अपने परिवार व मित्रों को जल संरक्षण के प्रति जागरूक करने के लिए प्रेरित करना किया। अपने संबोधन में स्वाती नैन ने बताया की जल संरक्षण हमारी सामूहिक जिम्मेवारी है इसलिए आवश्यक है की हम अपनी जिम्मेवारी को समझें और पानी के उपयोग व संरक्षण के लिए संयुक्त प्रयास शुरू करें।

करनाल को घोषित कर चुके डार्क जोन(Water Hero Award)

उनके अनुसार सेंट्रल ग्राउन्ड वाटर बोर्ड की ओर से करनाल को ‘डार्क जोन’ घोषित किया जा चुका है। यदि करनाल के नागरिक समय रहते नहीं जागे व जल उपयोग में स्मार्ट नहीं बने तो वह दिन दूर नहीं जब हमे पानी के गंभीर संकट का सामना करना पढ़ सकता है। पानी की बबार्दी के लिए शायद आने वाली पीढ़ी हमें माफ न करे। उन्होंने बच्चों व युवा पीढ़ी को जल संरक्षण के लिए आगे बढ़कर कार्य करने का अनुरोध किया।

Read Also : गांव के जोहड़ के पास एक पेड़ से फांसी पर लटका मिला शव: Dead Body Found Hanging From Tree

Read Also : 10वीं व 12वीं स्वयंपाठी व मुक्त विद्यालय परीक्षाओं का आयोजन होगा 4 से 9 मई तक: Organizing Open School Examinations

Connect With Us : Twitter Facebook

SHARE
RELATED ARTICLES

Most Popular