HomeहरियाणाकरनालBan on Single use Plastic and Polythene दुकानदार ब्रिकी करता पाया गया तो...

Ban on Single use Plastic and Polythene दुकानदार ब्रिकी करता पाया गया तो काटा जाएगा चालान: डॉ. मनोज कुमार

प्रवीण वालिया, करनाल:
Ban on Single use Plastic and Polythene : स्वच्छ सर्वेक्षण 2022 की रैंकिंग में करनाल को अच्छे पायदान पर लाने के लिए नगर निगम नागरिक सहभागिता जैसी कई गतिविधियों पर काम कर रहा है। इसके चलते गुरूवार को जीरो वेस्ट थीम पर आधारित कार्यक्रम करना, 3 आर (रिड्यूज, रियूज व रिसाईकल) पर काम करना व प्लास्टिक बैन इत्यादि गतिविधियों को लेकर शहर वासियों को जागरूक किया गया।
शहर के डीएवी कॉलेज में जिला खेल विभाग की ओर से युवाओं को जागरूक करने के लिए नशीले पदार्थों के दुष्प्रभाव, महिला सशक्तिकरण व पर्यावरण संरक्षण को लेकर दो दिवसीय कार्यक्रम रखा गया था, जिसमें नगर निगम की टीम द्वारा युवाओं को स्वच्छता के प्रति जागरूक किया और कार्यक्रम को जीरो वेस्ट थीम पर करवाया। इसके तहत पूरे कार्यक्रम में सिंगल यूज प्लास्टिक का इस्तेमाल नहीं होने दिया। यहां तक की कार्यक्रम का बैनर भी कपड़े से तैयार किया गया था। (Ban on Single use Plastic and Polythene)

युवाओं को स्वच्छ सर्वेक्षण 2022 की दी गई जानकारी (Ban on Single use Plastic and Polythene)

टीम द्वारा युवाओं को स्वच्छ सर्वेक्षण 2022 की जानकारी दी गई। गीला-सूखा कचरा अलग-अलग करने और 5 तरह के डस्टबिन का प्रयोग करने की जानकारी दी। उन्हें बताया कि सिंगल यूज प्लास्टिक हमारे स्वास्थ्य के लिए हानिकारक है, इसका इस्तेमाल कतई न करें और न ही बाजार से सामान लाने के लिए पॉलीथिन निर्मित बैग का प्रयोग करें। कार्यक्रम में मौजूद सभी विद्यार्थियों को एक-एक कपड़े का बैग भी वितरित किया गया।
कार्यक्रम में नगर निगम के उप निगमायुक्त धीरज कुमार ने बतौर मुख्यतिथि शिरकत की। कॉलेज के प्रिंसीपल रामपाल सैनी, कार्यक्रम संयोजक जोगिन्द्र, सीडीपीओ मधु पाठक व जिला युवा समन्वयक रेणु सिल्ग मौजूद रही। इसके पश्चात शहर के ही गुरू नानक खालसा कॉलेज में नेहरू युवा केन्द्र द्वारा जागरूकता कार्यक्रम आयोजित किया गया था। इस कार्यक्रम को भी नगर निगम ने जीरो वेस्ट थीम पर लाकर किया। कार्यक्रम में एन.सी.सी., एस.एस.एस. व नेहरू युवा केन्द्र के युवाओं को शामिल किया गया था, जिन्हें स्वच्छ सर्वेक्षण, सोर्स सैग्रीगेशन, हानिकाकर प्लास्टिक का प्रयोग न करने बारे जागरूक किया गया। सभी बच्चों को कपड़े का एक-एक थैला भी वितरित किया गया।
कार्यक्रम में कॉलेज के प्रोफेसर व नगर निगम के ब्रांड एम्बेसडर डॉ. बीर सिंह भी उपस्थित रहे और उन्होंने भी बच्चों को स्वच्छता के प्रति जागरूक किया और अपने विचार रखे। इसके पश्चात 3 आर (रिड्यूज, रियूज व रिसाईकल) के तहत शहर के वार्ड 11 व 12 में क्लॉथ बैग बैंक खोला गया, जिसमें सैंकडों सेक्टर वासियों को कपड़े से बने थैले वितरित किए गए। उन्हें हानिकारक प्लास्टिक का उपयोग न करने बारे जागरूक किया गया और कहा कि घर से सामान लेने जाते समय कपड़े के थैलों का ही प्रयोग करें। (Ban on Single use Plastic and Polythene)

सिंगल यूज प्लास्टिक व पॉलीथिन की ब्रिकी पूर्णत: बैन (Ban on Single use Plastic and Polythene)

निगमायुक्त डॉ. मनोज कुमार ने बताया कि शहर में सिंगल यूज प्लास्टिक व पॉलीथिन की ब्रिकी को लेकर हरियाणा सरकार की अधिसूचना 2013 के तहत पूर्णत: बैन किया गया है। कोई भी दुकानदार इनकी ब्रिकी करता पाया गया तो उसका चालान काटा जाएगा और उस पर 500 से लेकर 25 हजार रूपये तक का जुर्माना लगाया जा सकता है। इसके अतिरिक्त उसकी दुकान को सील भी किया जा सकता है। उन्होंने शहर वासियों से भी अपील की है कि घर से बाजार जाते समय कपड़े के थैलों को साथ लेकर जाएं और पर्यावरण व शहर को स्वच्छ व साफ-सुथरा बनाए रखने में मदद करें।
Connect With Us: Twitter Facebook
SHARE
RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments