कथाओं को आकार देने में संसाधनों का निवेश करते हैं जॉर्ज सोरोस जैसे लोग : एस जयशंकर

0
290
S Jaishankar On George Soros
कथाओं को आकार देने में संसाधनों का निवेश करते हैं जॉर्ज सोरोस जैसे लोग : एस जयशंकर

आज समाज डिजिटल, नई दिल्ली,(S Jaishankar On George Soros): भारत सरकार पर निशाना साधने वाले अमेरिकी अरबपति जॉर्ज सोरोस को केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी के बाद भारतीय विदेश मंत्री एस जयशंकर ने भी करारा जवाब दिया है। स्मृति ईरानी के अलावा कांग्रेस भी जॉर्ज सोरोस पर हमला बोल चुकी है। आस्ट्रेलिया दौरे पर गए विदेश मंत्री एस जयशंकर ने कहा कि सोरोस न्यूयॉर्क में बैठे एक पुराने, अमीर और गलत विचारों वाले व्यक्ति हैं, जो अब भी यह सोचते हैं कि पूरी दुनिया को उनके हिसाब से काम करना चाहिए।

  • अमेरिकी अरबपति ने केंद्र की मोदी सरकार पर साधा था निशाना
  • केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी और कांग्रेस ने भी साधा है निशाना

एस जयशंकर ने कहा, सोरोस जैसे लोग वास्तव में कथाओं को आकार देने में संसाधनों का निवेश करते हैं। ऐसे लोगों को लगता है जिस व्यक्ति को वह देखना चाहते हैं और वह जीत जाता है तो उनके लिए चुनाव अच्छा है। अगर चुनाव का नतीजा कुछ और होता है तो वह लोकतंत्र को दोषपूर्ण कहेंगे। विदेश मंत्री ने कहा, जब मैं अपने स्वयं के लोकतंत्र को देखता हूं, तो आज मैं एक मतदाता हूं। यह अभूतपूर्व है। उन्होंने कहा, हम उन देशों में से नहीं हैं जहां चुनाव के बाद कोई अदालत में मध्यस्थता करने जाता है।

भारतीय लोकतांत्रिक ढांचे को हिलाने की कोशिश : स्मृति

स्मृति ईरानी ने शुक्रवार को जॉर्ज सोरोस प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर की गई टिप्पणी को लेकर प्रेस कांफ्रेंस कर पलटवार कर  कहा था कि विदेशी जमीन से भारतीय लोकतांत्रिक ढांचे को हिलाने की कोशिश की जा रही है। जॉर्ज सोरेस ने भारत के लोकतंत्र में दखल देने की कोशिश की है। स्मृति ईरानी ने कहा कि पीएम मोदी जॉर्ज सोरेस के निशाने पर हैं और ऐसे में इस विदेशी ताकत को माकूल जवाब देने के लिी देश की जनता को आगे आना चाहिए।

जॉर्ज सोरोस से अडानी घोटाले का कोई लेना-देना नहीं : कांग्रेस

कांग्रेस नेता जयराम रमेश ने भी जॉर्ज सोरोस को फटकार लगाई है। उन्होंने कहा, प्रधानमंत्री से जुड़ा अडानी घोटाला भारत में लोकतांत्रिक पुनरुत्थान शुरू करता है या नहीं, यह पूरी तरह कांग्रेस, विपक्ष व हमारी चुनाव प्रक्रिया पर निर्भर है। इसका जॉर्ज सोरोस से कोई लेना-देना नहीं हैं हमारी नेहरूवादी विरासत सुनिश्चित करती है कि जॉर्ज सोरोस जैसे लोग हमारे चुनाव परिणाम तय नहीं कर सकते।

जॉर्ज सोरोस ने यह की थी टिप्पणी

जॉर्ज सोरोस ने हाल ही में म्यूनिख सिक्योरिटी कांफ्रेंस के दौरान संबोधित करते हुए अडानी-हिंडनबर्ग मामले में पीएम मोदी पर हमला बोला था। उन्होंने कहा था कि पीएम मोदी इस मुद्दे पर शांत हैं, लेकिन उन्हें विदेशी निवेशकों व संसद में सवालों के जवाब देने होंगे। सोरोस ने कहा था कि यह भारत की संघीय सरकार पर मोदी की पकड़ को काफी कमजोर कर देगा और बहुत जरूरी संस्थागत सुधारों को आगे बढ़ाने के दरवाजा खोल देगा। उन्होंने यह भ्ज्ञी कहा था, मुझे उम्मीद है कि भारत में एक लोकतांत्रिक परिवर्तन होगा।

भारत में ट्विटर के तीन में से दिल्ली और मुंबई स्थित 2 दफ्तर बंद, बेंगलुरु आफिस चलता रहेगा

ये भी पढ़ें : हिमाचल व उत्तराखंड में हल्की बारिश और हिमपात का अलर्ट, फिर बढ़ सकती है ठंड

Connect With Us: Twitter Facebook

 

SHARE