Homeराज्यअन्य राज्यTikait and Chadhuni at Khatkar-Baddowal toll मजबूत आंदोलन के गढ़ खटकड़ और...

Tikait and Chadhuni at Khatkar-Baddowal toll मजबूत आंदोलन के गढ़ खटकड़ और बद्दोवाल टोल पर पहुंचेंगे टिकैत और चढ़ूनी

आज समाज डिजिटल, जींद:
Tikait and Chadhuni at Khatkar-Baddowal toll: किसान आंदोलन को मजबूती देने वाला गढ़ खटकड़ और बद्दोवाल टोल प्लाजा पर 14 दिसंबर को राकेश टिकैत और गुरनाम सिंह चढू्नी पहुंच रहे हैं। इन दोनों गढ़ों में चले धरने पर गर्मी, सर्दी, बारिश में भी भीड़ कम नहीं हुई। खटकड़ टोल धरने पर किसानों की मजबूती ने किसान आंदोलन में नई जान फूंकी। यहां यह बात भी उल्लेखनीय है किदिल्ली में जब टिकैत के आंसू निकले थे तो कंडेला में जाम लगाया था और खटकड़ टोल धरने के किसान भी रात को ही गाजीपुर बार्डर व टीकरी बार्डर पर पहुंच गए थे। वर्ष की शुुरुआत में तीन फरवरी को टिकैत और बलबीर राजेवाल भी खटकड़ टोल पहुंचे थे।

किसान आंदोलन की कड़ी था यह टोल Tikait and Chadhuni at Khatkar-Baddowal toll:

खटकड़ टोल पूरे सालभर में किसान आंदोलन की मजबूत कड़ी बना रहा, इसीलिए 14 दिसंबर को धरने की समाप्ति पर भी राकेश टिकैत, गुरनाम सिंह चढूनी, अजय हुड्डा, विकास सींसर, युद्धबीर सहरावत, जोगेंद्र उगराहां, जगजीत डलेवाल, अभिमन्यु कोहाड़, रवि आजाद, संदीप चौधरी, सुदेश गोयत के अलावा मय्यड़ टोल कमेटी के सदस्य भी शिरकत करेंगे।

25 हजार लोगों के पहुंचने की उम्मीद Tikait and Chadhuni at Khatkar-Baddowal toll:

खटकड़ टोल धरना कमेटी के प्रधान सतबीर बताते हैं कि यहां जींद के ही नहीं, आसपास के लोग पहुंचेंगे। उम्मीद है कि करीब 25 हजार लोग 14 दिसंबर को टोल धरने पर पहुंचेंगे। बरसोला ने यह भी बताया कि धरने के समापन पर पहुंचने वाले सभी लोगों के लिए देसी की बूंदी बनवाई जा रही हैं। इसके लिए सोमवार को ही कढ़ाई चढ़ा दी थी। टोल धरने से जींद की तरफ बड़ा मंच बनाया जाएगा। पूरे कार्यक्रम की व्यवस्था संभालने के लिए युवा वालंटियर की जिम्मेदारी भी लगा दी गई है। समारोह पूरी तरह शांतिपूर्वक होगा। समारोह में किसान नेताओं के हाथों उन किसानों को भी सम्मानित कराया जाएगा, जिन्होंने सालभर तक किसान आंदोलन में अहम भूमिका निभाई।

आज शुरू हो जाएंगे ये प्लाजा Tikait and Chadhuni at Khatkar-Baddowal toll:

खटकड़ व बद्दोवाल टोल 15 दिसंबर को शुरू हो जाएगा। दोनों टोल पर सालभर से धरना चल रहा है। दोनों टोल का संचालन करने वाली कंपनियों ने मेंटेनेंस का कार्य शुरू कर रखा है। एनएचएआई के अधिकारियों के अनुसार दोनों टोल पर पुरानी दरों से ही टोल की वसूली की जाएगी। जींद में 15 दिसंबर से जींद-गोहाना के बीच लुदाना व जींद-भिवानी के बीच बास टोल पर पहली बार टैक्स लगना शुरू होगा।

Yogendra Yadav Opened Front Against Yogi योगेंद्र यादव ने खोला योगी सरकार के खिलाफ मोर्चा, चुनाव लड़ने के सवाल पर ये जवाब

Connect With Us:- Twitter Facebook

SHARE
RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments