HomeदेशSunil Sagar Maharaj : जीव दया में संलग्न व्यक्ति और परिवार का...

Sunil Sagar Maharaj : जीव दया में संलग्न व्यक्ति और परिवार का जीवन सार्थक हो जाता है

Sunil Sagar Maharaj

HEADLINE : 
  • नारायण सेवा देख दिगम्बर जैनाचार्य हुए हर्षित
  • जीव दया से जीवन सार्थकः सुनील सागर

आज समाज डिजिटल, उदयपुर : 

Sunil Sagar Maharaj : दिगम्बर जैनाचार्य सुनील सागर महाराज ने कहा कि जीव दया में संलग्न व्यक्ति और परिवार का जीवन सार्थक हो जाता है। उन्होंने पीड़ितों की सेवा को ईश्वर की सच्ची भक्ति बताया। वे सोमवार को नारायण सेवा संस्थान के सेक्टर-4 स्थित मानव मन्दिर हाॅस्पीटल में दिव्यांगजनों के बीच बोल रहे थे।

किशोर-किशोरियों व परिजनों को मंगल संदेश दिया

संस्थान अध्यक्ष प्रशान्त अग्रवाल ने बताया कि आचार्य ने देश के विभिन्न राज्यों से दिव्यांगता में निःशुल्क सुधारात्मक सर्जरी के लिए किशोर-किशोरियों व उनके परिजनों को मंगल संदेश दिया। उन्होंने संस्थान के ऑपरेशन थियेटर, कृत्रिम अंग व कैलीपर कार्यशाला, विमंदित एवं प्रज्ञा चक्षु बालकों के हस्तशिल्प गैलेरी का भी अवलोकन किया और बच्चों से बातचीत की।

बच्चों ने बैण्ड बजाकर अभिवादन किया

संस्थापक पद्मश्री कैलाश ‘मानव’ ने पाद प्रक्षालन कर महाराजश्री का स्वागत किया तथा बालगृह के बच्चों ने बैण्ड बजाकर अभिवादन किया। उपस्थित साधकों एवं दिव्यांगों के परिजनों ने जयघोष कर आशीर्वाद लिया। प्रवचन सभा का संयोजन महिम जैन ने किया।

Sunil Sagar Maharaj
SHARE
RELATED ARTICLES

Most Popular