Homeदेशमास्टर माइंड के पास 18 करोड़ कैश, ये ठगी 100 करोड़ की...

मास्टर माइंड के पास 18 करोड़ कैश, ये ठगी 100 करोड़ की Fraud Of 100 Crores

आज समाज डिजिटल, गुरुग्राम:
Fraud Of 100 Crores : सबसे बड़ी सुरक्षा एजेंसी एनएसजी के नाम पर करोड़ों रुपये की ठगी का मामला प्रकाश में आया है। एनएसजी में कॉन्ट्रैक्ट दिलाने के नाम पर करोड़ों की ठगी में मास्टरमाइंड गिरफ्तार हो गया है। मुख्य आरोपी प्रवीण यादव, उसकी बीवी ममता यादव और बहन रितु यादव और एक अन्य को गिरफ्तार किया है। मास्टरमाइंड प्रवीण यादव ने खुद को डिप्टी कमांडेंट बताकर पत्नी, जीजा और बहन के साथ मिलकर करोड़ों की ठगी की।

परिवार था ठगी करने में शामिल Fraud Of 100 Crores

एनएसजी कैम्पस में 16 किलोमीटर लंबी पैरिफिल रोड, एसटीपी बनाने, सेंट्रल वेयर हाउस के कॉन्ट्रैक्ट दिलवाने के नाम पर 100 करोड़ से ज्यादा की ठगी की वारदात को अंजाम दिया। गुरुग्राम पुलिस ने करोड़ों की ठगी मामले में प्रवीण यादव उसकी पत्नी और बहन रितु यादव, जो की एक्सिस बैंक में मैनेजर है और उसके पति नवीन यादव के साथ ही एक्सिस बैंक के खिलाफ मानेसर थाने में 3 अलग-अलग दर्ज हुई हैं।

कई कंपनियों ने की थी शिकायत Fraud Of 100 Crores

अलग-अलग पीड़ित कंपनियों की शिकायत पर मामला दर्ज कर पुलिस ने तफ्तीश शुरू की है। मुख्य आरोपी प्रवीण यादव पर आरोप की इसने अपनी बहन रितु जोकि एक्सिस बैंक में मैनेजर है, उसकी मदद से एक्सिस बैंक में एनएसजी हेडक्वॉर्टर के नाम से फर्जी अकाउंट खुलवा करोड़ों की ठगी कर फरार हो गया था।

18 करोड़ कैश और चार लग्जरी गाड़ियां पकड़ी Fraud Of 100 Crores

गुरुग्राम पुलिस को 3 नामी कंपनियों ने लिखित शिकायत दे गुहार लगाई की प्रवीण यादव नाम के शख्स ने खुद को डिप्टी कमांडेंट बता एनएसजी कैंपस में पैरिफिल रोड बनाने, एसटीपी का निर्माण और हाउसिंग फ्लैट्स बनाने को लेकर फर्जी दस्तावेजों, एनएसजी कैंपस स्थित एक्सिस बैंक में एनएसजी हेडक्वार्टर के नाम से अकाउंट खुलवाकर करोड़ों रुपये पीड़ित कंपनियों से ट्रांसफर करवाए और ठगी कर फरार हो गया। पुलिस ने गिरफ्तार आरोपियों की निशानदेही पर 18 करोड़ रुपए की राशि और 4 लग्जरी गाड़ियां भी कब्जे में ली हैं।

फर्जी दस्तावेजों में एनएसजी का लेटरहेड शामिल Fraud Of 100 Crores

शिकायतकतार्ओं की माने तो वारदात का मास्टरमाइंड प्रवीण यादव पीड़ित कंपनियों से जून 2020 में मिला और खुद को कढर अधिकारी बता एनएसजी में आॅन डेपुटेशन पर डिप्टी कमांडेंट होने की बात भी कही। जिसके बाद पीड़ित लोग इसके झांसे में आते चले गए। इस मामले में एसीपी क्राइम की माने तो प्रवीण यादव ने एनएसजी परिसर में ही कई मीटिंग्स कर पीड़ित कंपनियों को विश्वास में लिया और करोड़ों रुपये एनएसजी हेडक्वॉर्टर के नाम से बनाये गए फर्जी अकाउंट्स में ट्रांसफर करवा लिये, इसके बाद पीड़ितों को चक्कर कटवाने शुरू कर दिए। पुलिस की की माने तो परवीन यादव की बहन रितु यादव जो कि एनएसजी कैम्पस में स्थित एक्सिस बैंक की मैनेजर के पद पर तैनात हैं, उसकी मदद से फर्जी अकाउंट एनएसजी हेडक्वार्टर के नाम से खुला करोड़ो की धोखाधड़ी ठगी को अंजाम दे डाला।

मामले की एनएसजी कर रही जांच Fraud Of 100 Crores

मामला एनएसजी कैम्पस से जुड़ा था, लिहाजा गुरुग्राम पुलिस ने मामला दर्ज कर एसआईटी का गठन कर वारदात में शामिल प्रवीण यादव, ममता यादव, रितु यादव और एक अन्य को गिरफ्तार कर करोड़ों की ठगी का खुलासा कर दिया। बहरहाल गुरुग्राम पुलिस ने प्रवीण यादव उसकी बीवी ममता यादव उसकी बहन रितु यादव एक्सिस बैंक और उसके जीजा नवीन यादव के खिलाफ मामला दर्ज कर मामले की तफ़्तीश शुरू कर दी है।

also see: बीकानेर एक्सप्रेस हादसे में अब तक सात यात्रियों की मौत, 40 से ज्यादा घायल

Connect With Us:-  Twitter Facebook

SHARE
RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments