Homeलाइफस्टाइलवायरस-फ्लू से दूर रहने के लिए डाइट में शामिल करें ये 5...

वायरस-फ्लू से दूर रहने के लिए डाइट में शामिल करें ये 5 एंटी-वायरल फूड्स

मजबूत इम्युनिटी आपको सभी प्रकार के वायरल, फंगल और जीवाणु संक्रमण से बचाती है। संक्रमण के जोखिम को कम करने के लिए आहार में कुछ एंटी-वायरल फूड्स को शामिल करना जरूरी है। एंटी-वायरल फूड्स आपकी इम्युनिटी बढ़ाते हैं। आप अपनी डाइट में कौन से एंटी वायरल फूड्स शामिल कर सकते हैं आइए जानें।

तुलसी

 तुलसी आमतौर पर हर भारतीय घर में पाई जाती है। तुलसी की कई किस्में हैं जो देश के अलग-अलग हिस्सों में पाई जाती हैं। इन सभी में एंटीवायरल, एंटी-इंफ्लेमेटरी और एंटीबैक्टीरियल गुण होते हैं। रोजाना तुलसी के कुछ पत्ते चबाने से आपके शरीर को कई तरह के संक्रमणों से लड़ने की इम्युनिटी मिल सकती है। अध्ययन से पता चला है कि तुलसी के अर्क में एपिजेनिन और उर्सोलिक एसिड जैसे कंपाउंड होते हैं।

सौंफ के बीज

 छोटे सौंफ के बीजों में ट्रांस-एनेथोल होता है, जो वायरस के खिलाफ काफी प्रभावी हो सकता है। ये एक मुलेठी के स्वाद वाला पौधा है जो आपकी इम्युनिटी को बढ़ावा देने और शरीर में सूजन को कम करने और वायरल संक्रमण से लड़ने में मदद कर सकता है। सौंफ के बीज विटामिन ए, विटामिन सी और बीटा कैरोटीन से भी भरपूर होते हैं। ये इम्युनिटी बढ़ाने वाले गुणों के लिए जाना जाता है। सौंफ को आहार में शामिल करने से साइनस और श्वसन प्रणाली साफ हो सकती है।

लहसुन

 लहसुन का इस्तेमाल कई तरह की बीमारियों के इलाज के लिए किया जाता रहा है। ये कई तरह के वायरस और फ्लू के लिए प्रभावी है। लहसुन के शक्तिशाली स्वास्थ्य लाभ एलिसिन नामक एक कंपाउंड की उपस्थिति के कारण होते हैं। लहसुन क्वेरसेटिन और एलिसिन जैसे ऑर्गनोसल्फर कंपाउंड का एक प्राकृतिक और समृद्ध स्रोत है जो एंटीवायरल संक्रमण गुणों को रोकता है और संक्रमण के जोखिम को कम करता है।

अदरक

अदरक एक सुपरफूड है जो कई प्रकार की स्वास्थ्य बीमारियों का इलाज करता है। इस जड़ी बूटी के प्रभावशाली एंटीवायरल, जीवाणुरोधी और एंटी इंफ्लेमेटरी गुण वायरल और फ्लू में प्रभावी हो सकते हैं। इसके अलावा, अदरक में जिंजरोल और जिंजरोन जैसे गुण भी होते हैं जो शरीर में वायरस के विकास को रोकते हैं। अदरक की चाय और अदरक की गोलियां गले के लिए रिलैक्सेंट हो सकती हैं और तनाव सिरदर्द को दूर करने में भी मदद करती हैं।

हल्दी

भारतीय करी में आमतौर पर इस्तेमाल होने वाली हल्दी औषधीय गुणों से भरपूर होती है। इसमें सबसे महत्वपूर्ण करक्यूमिन है। हल्दी में शक्तिशाली एंटीऑक्सीडेंट, एंटी इंफ्लेमेटरी और एंटीवायरल गुण होते हैं। ये मसाला कुछ वायरस को खत्म करने और संक्रमण के जोखिम को कम करने में मदद कर सकता है। इस पोषक तत्व से भरपूर मसाले को अपने आहार में शामिल करने के लिए आप हल्दी पाउडर या जड़ का इस्तेमाल कर सकते हैं।

SHARE
RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments