Homeलाइफस्टाइलगुलकंद की तासीर ठंडी, गर्मी से दिलाता है मिनटों में छुटकारा Gulkand...

गुलकंद की तासीर ठंडी, गर्मी से दिलाता है मिनटों में छुटकारा Gulkand Benefits

Gulkand Benefits

आज समाज डिजिटल, अम्बाला
Gulkand Benefits : अक्‍सर आपने गुलकंद का सेवन सिर्फ पान में ही किया होगा। हालांकि इसका उपयोग कई प्रकार से किया जाता है और यह काफी लाभदायक है। भारत में शुरू से ही इसका प्रयोग किया जाता रहा है। नियमित रूप से गुलकंद का सेवन करने से अल्सर, कंस्टीपेशन और छाती में जलन की बीमारी ठीक हो जाती है।

गर्मी में गुलकंद का सेवन करने से सन स्ट्रोक की आशंका बहुत कम हो जाती है, इसके अलावा नाक से खून बहने की समस्या भी दूर हो जाती है। प्राचीन ग्रंथों में भी गुलकंद का वर्णन मिलता है, जिसमें इसकेे गुणों की चर्चा की गई है।

क्‍या है गुलकंद

Gulkand Benefits in Hindi

gulkand is made from: गुलाब की पंखुड़ियों से तैयार किया जाने वाला पौष्टिक पदार्थ है। इससे पाचन तंत्र दुरुस्‍त रहता है और जुबान पर आते ही इसका न भूलने वाला स्‍वाद आपको हमेशा तरोताजा रखता है। गुलकंद में कैल्शियम और एंटीऑक्सीडेंट्स मौजूद होते हैं जो शरीर को ताकत और रोग प्रतिरोधक क्षमता बढातेे हैं। आइए आज हम आपको बताएंगे कि गुलकंद में क्‍या क्‍या फायदे होते हैं।

गुलकंद की तासीर कैसी होती है

गुलकंद की तासीर ठंडी होती है। गर्मी में गुलकंद का सेवन करने से सन स्ट्रोक की आशंका बहुत कम हो जाती है, इसके अलावा नाक से खून बहने की समस्या भी दूर हो जाती है। प्राचीन ग्रंथों में भी गुलकंद का वर्णन मिलता है, जिसमें इसकेे गुणों की चर्चा की गई है।

गुलकंद के फायदे और नुकसान

gulkand in english

gulkand recipe without sunlight: मानव शरीर के पित्‍त रोग को ठीक करने के लिए गुलकंद का प्रयोग किया जाता है। इसका उल्‍लेख आयुर्वेद में भी मिलता है। आयुर्वेदिक एक्सपर्ट डॉ दीक्षा भवसार ने इंस्टाग्राम पर गुलकंद के फायदे के बारे में बताया है। गुलकंद (gulkand recipe in hindi) बेहद स्वादिष्ट आयुर्वेदिक टॉनिक है। इसमें  गुण मौजूद होते हैं जो शरीर में पित्त दोष को सही करने में लाभकारी हैं। आयुर्वेद के मुताबिक जानते हैं गुलकंद के कौन-कौन से फायदे हैं। गुलकंद में एंटीऑक्सीडेंट्स पर्याप्त मात्रा में पाया जाता है जो एनर्जी बूस्टर होता है।

  • गुलकंद के सेवन से एसिडिटी कम होती है। इसलिए रा‍त्रि भोजन के बाद मीठा पान खाने का प्रचलन है।
  • अल्‍सर, गैस्ट्रिक और अपच की बीमारियों में गुलकंद का प्रयोग लाभदायक होता है।
  • त्‍वचा को निखारने के लिए भी गुलकंद का प्रयोग किया जाता है। इसके नियमित सेवन से त्‍वचा में चमक बरकरार रहती है।
  • जिन लोगों की नाक बहने की बीमारी है, अगर वे गुलकंद का प्रयोग करें तो इस समस्‍या से उन्‍हें निजात मिल सकती है।
  • खुलजी, छाले, झुर्रियां और कील मुंहासे में गुलकंद का सेवन लाभदायक होता है।
  • गुलकंद का सेवन करने से चक्कर आने की बीमारी दूर होती है।
  • पीरियड्स के समय अत्यधिक रक्तस्त्राव को कम करने में भी गुलकंद मददगार है।
  • गुलकंद एनीमिया को दूर करता है, यह ब्लड प्यूरीफायर है।
  • गुलकंद मेटोबोलिज्म को मजबूत करता है।

Gulkand Benefits

Read Also : पूर्वजो की आत्मा की शांति के लिए फल्गू तीर्थ Falgu Tirtha For Peace Of Souls Of Ancestors

Read Also : नौ दिनों तक दुर्गा सप्तशती का पाठ से करें मां दुर्गा को प्रसन्न Durga Saptashati

Connect With Us: Twitter Facebook

SHARE
RELATED ARTICLES

Most Popular