Homeलाइफस्टाइलगर्मियों में हो ये प्रॉब्लम तो हो सकती हैं बीमारियां Can Be...

गर्मियों में हो ये प्रॉब्लम तो हो सकती हैं बीमारियां Can Be Sick in Summer

Can Be Sick in Summer

आज समाज डिजिटल, अम्बाला :

Can Be Sick in Summer : गर्मी का असर दिखने लगा है। इस बार मार्च में ही अप्रैल और मई जैसी गर्मी का असर दिख रहा है। तेज गर्मी और धूप से दिल के रोगियों की परेशानी बढ़ सकती है। तो चलिए जानते हैं इस गर्मी में कौन-कौन से लक्षण हैं जिन्हें नजरअंदाज नहीं करना चाहिए।

Do Not Ignore These Diseases

Can Be Sick in Summer
Can Be Sick in Summer

थकान

बदलते मौसम में अक्सर लोग जल्दी थक जाते हैं। अगर आपके साथ ऐसा हो रहा है तो सावधान हो जाएं। इससे आप के हार्ट पर असर पड़ सकता है। असल में कार्डियक अरेस्ट होने पर किसी इंसान के शरीर में खून की मात्रा कम हो जाती है, लेकिन लोग गर्मी की थकान समझकर उसे नजरअंदाज करते हैं, लेकिन ऐसी गलती नहीं करनी चाहिए बल्कि तुरंत डॉक्टर से सलाह लें।

बेहोशी

गर्मी के मौसम में अक्सर लोग बेहोश होते हैं, तो समझते हैं कि पानी की कमी या तेज धूप से हुआ होगा। आपको बता दें जब एक नॉर्मल फ्लो में हमारा दिल खून का संचार नहीं कर पाता है तो इस स्थिति में बेहोशी की नौबत आ जाती है। ध्यान देने वाली बात तो ये है कि अगर आपने समय रहते इस समस्या पर ध्यान नहीं दिया तो हार्ट अटैक का भी खतरा रहता है।

माइग्रेन

एक्सपर्ट बताते हैं कि बढ़ती गर्मी में माइग्रेन की समस्या बढ़ जाती है। इसकी मुख्य वजह गर्मी नहीं होती। दरअसल इस मौसम में माइग्रेन के मरीजों के दिल पर बहुत अधिक दबाव पड़ता है और गर्मी के संपर्क में आने से हार्ट को पूरा करने वाली खून की नसों के अंदर थक्के बनने का खतरा बढ़ जाता है। इससे हार्ट अटैक हो सकता है।

बढ़ता मोटापा

लोग गर्मी के मौसम के टहलते समय जल्दी थक जाते हैं। जल्दी धूप निकलने की वजह से मॉर्निंग वॉक का समय कम कर देते हैं। ऐसे में शरीर में फैट बढ़ने लगता है जो सीधा हार्ट पर असर डालता है। वजन बढ़ने के साथ ही हमारे दिल का आकार भी बड़ा हो जाता है। दिल के आकार के बढ़ जाने से हार्ट अटैक या फिर स्ट्रोक जैसी बीमारी का खतरा बढ़ जाता है। एक अध्ययन में पाया गया है कि वजन बढ़ने से दिल आठ ग्राम तक भारी हो जाता है, जबकि उसके आकार में 5 फीसदी तक की बढ़ोतरी हो जाती है।

डिहाइड्रेशन

अक्सर लोग डिहाइड्रेशन को पानी की कमी समझकर नजरअंदाज कर देते हैं, लेकिन ये जानलेवा हो सकती है। अधिक गर्मी के दिनों में डिहाइड्रेशन से ग्रस्त लोगों को दिल का दौरा पड़ने की आशंका बहुत अधिक होती है। बहुत अधिक समय तक तेज धूप या गर्मी में रहने पर ब्लड प्रेशर में गिरावट आ जाती है।

क्या करें  (Strong Sunlight Is Harmful For The Body)

रोजाना ज्यादा थकान महसूस हो तो नजरअंदाज न करें, डॉक्टर से सलाह लें। अगर कोई बेहोश हो जाए तो उसे पानी, जूस दें और कपड़े ढीले कर दें। सुबह का नाश्ता जरूरी है, अंकुरित अनाज नाश्ते में लें। ठंडे पानी से नहाएं, इससे दिल की बीमारी से भी फायदा मिलेगा। गर्मी में हार्ट के मरीज 6-7 लीटर पानी पिएं।

क्या नहीं करना चाहिए

दिल के मरीज ज्यादा काम करने से बचें। सिर में दर्द हो, जी मिचलाए, चक्कर आए, कमजोरी लगे तो इग्नोर नहीं करना चाहिए। मांसपेशियों में ऐंठन और सांस तेज चले तो घरेलू नुस्खे अपनाने की गलती न करें। त्वचा में ठंडापन व नमी हो तो डॉक्टर से संपर्क करें। नाड़ी के तेज चलने पर डॉक्टर की सलाह ले

योग करता है हार्ट अटैक से बचाव

योग से सिर्फ मोटापा ही कम नहीं होता बल्कि शरीर का आकार भी सही होता है और शरीर स्वस्थ रहता है। सूर्य नमस्कार को दिल के लिए सबसे प्रभावी योग माना जाता है। यह शरीर के मेटाबोलिज्म की दर को बढ़ाता है। इससे शरीर से ज्यादा पसीना निकलता है और मोटापा कम होता है।

Can Be Sick in Summer

READ More : गर्मियों में कैसे रहें फिट और स्वस्थ, बस रखें इन बातों का ध्यान Stay Healthy in Summer

Read More : नीम का तेल बाल झडऩे की समस्या से दिलाता है निजात Benefits of Neem Oil

SHARE
RELATED ARTICLES

Most Popular