Home खास ख़बर Differences of Congress – If you want, make another party Kapil Sibal – Adhir Ranjan: कांग्रेस की अंतर कलह- चाहें तो दूसरी पार्टी बना लेंकपिल सिब्बल- अधीर रंजन

Differences of Congress – If you want, make another party Kapil Sibal – Adhir Ranjan: कांग्रेस की अंतर कलह- चाहें तो दूसरी पार्टी बना लेंकपिल सिब्बल- अधीर रंजन

0 second read
0
34

कांग्रेस देश की बड़ी पार्टियों में शुमार है लेकिन कांग्रेस अंतरकलह के कारण दिन ब दिन कमतर हो रही है। हाल में हुए चुनावों में मिली कांग्रेस की हार ने पार्टी के अंदर ही विरोध के स्वर मुखर कर दिए हैं। पार्टी के वरिष्ठ नेता कपिल सिब्बल ने पार्टी के खिलाफ मोर्चा खोल दिया। उन्होंने कहा कि पार्टी ने हार के बाद भी बीते छ्रह सालों से आत्ममंथन नहीं किया। बता दें कि कांग्रेस को बिहार चुनाव के साथ 11 राज्यों के उपचुनाव मेंभी करारी हार का सामना करना पड़ा है। इसके अलावा उन्होंने शीर्ष नेतृत्व पर भी सवाल उठाए थे। अब वरिष्ठ नेता कपिल सिब्बल के आत्मविश्लेषण वाले बयान पर कांग्रेस के लोकसभा मेंनेता अधीर रंजन चौधरी ने पलटवार किया। कपिल सिब्बल को अधीर रंजन चौधरी ने नई पार्टी बना लेने या दल बदल लेने की सलाह दे डाली। अधीर रंजन चौधरी नेकपिल सिब्बल को कहा कि अगर उन्हें लगता है कांग्रेस सही पार्टी नहीं है तो वह नई पार्टी बना लें या फिर किसी और पार्टी में जाने के लिए आजाद हैं। चौधरी ने कहा, ”वह (सिब्बल) एक वरिष्ठ कांग्रेस नेता हैं और उनकी पार्टी के बड़े नेताओं तक पहुंच है। वह उनके सामने इन मुद्दों को उठा सकते हैं। सार्वजनिक रूप से इस तरह की शर्मनाक टिप्पणी से बेहतर वह होता। यदि उन्हें लगता है कि कांग्रेस सही जगह नहीं है तो वह नई पार्टी बना सकते हैं या नई पार्टी को ज्वाइन करने को स्वतंत्र हैं। चौधरी ने कहा, ”यदि वह बिहार और मध्य प्रदेश गए होते तो वह साबित कर सकते थे कि उनका कहना ठीक है और उन्होंने कांग्रेस को मजबूत किया। बिना कुछ किए बोलने के मतलब आत्मविश्लेषण नहीं होता है।’

Load More Related Articles
Load More By Aajsamaaj Network
Load More In खास ख़बर

Check Also

Government is ready to talk to farmers, government is ready to consider their every problem and demand- Amit Shah: किसानों से बातचीत को तैयार है सरकार, उनकी हर समस्या और मांग पर सरकार विचार करने को तैयार-अमित शाह

नई दिल्ली। किसानों का आंदोलन कठोर होता देख और किसानों को पीछे हटते न देख कर अब सरकार लगाता…