पिछले एक साल में भारतीय तटरक्षक दल ने जब्त किए 1950 करोड़ के नशीले पदार्थ

0
530
Indian Coast Guard Seized Drugs

आज समाज डिजिटल, Indian Coast Guard Seized Drugs : एक तरफ भारत की बोर्डर फोर्स सुरक्षा दल के सदस्या पंजाब सीमा पर लगभग रोज ड्रोन को पकड़ रहे हैं जिनसे हथियार या नशीले पदार्थ भेजे जाते हैं। दूसरी तरफ भारतीय तटरक्षक बल भी पानी में मुस्तैद है।

बीते दिन भारतीय तटरक्षक बल ओखा और सर क्रीक क्षेत्र के पास गुजरात तट से दूर समुद्री सीमा के साथ 36 निर्जन द्वीपों पर एक व्यापक मादक पदार्थ विरोधी अभियान चलाया। इस बारे जानकारी देते हुए इंडियन कोस्ट गार्ड ने बताया कि पिछले एक साल में समुद्री बलों ने हथियारों के साथ 1950 करोड़ रुपए के नशीला पदार्थ जब्त किए हैं।  इनके अलावा, इन गतिविधियों के लिए 44 पाकिस्तानी नागरिकों को पकड़ा गया है।  

भारतीय तटरक्षक बल (ICG) के जवानों ने सोमवार को पाकिस्तान के साथ समुद्री सीमा पर मादक पदार्थ विरोधी अभ्यास किया। लाइट मशीन गन और भारत में बनी अमोघ कार्बाइन से लैस जवानों ने मादक पदार्थों की तस्करी और आतंकवाद की गतिविधियां रोकने के लिए ओखा क्षेत्र के पास 36 निर्जन द्वीपों की व्यापक तलाशी ली।

भारतीय तटरक्षक दल के प्रवक्ता के अनुसार गुजरात तट से दूर पाकिस्तान के साथ अंतरराष्ट्रीय समुद्री सीमा (IMBL) पर ओखा और सर क्रीक क्षेत्र के पास व्यापक नशीले पदार्थ विरोधी अभ्यास किया जा रहा है। जारी  वीडियो में ICG के जवानों को एक वरिष्ठ अधिकारी से इनपुट लेते देखा जा सकता है। नशीले पदार्थों के व्यापक अभ्यास के दौरान दो एच-191 होवरक्राफ्ट का इस्तेमाल किया गया।

ICG ने बीती 26 दिसंबर को 10 चालक दल के सदस्यों के साथ एक पाकिस्तानी नाव गुजरात तट पर पकड़ी थी। दरअसल, आतंकवाद विरोधी दस्ते से खुफिया इनपुट मिलने के बाद  ICG ने अपने तेज गश्ती जहाज ‘अरिंजय’ को तैनात किया।

इस दौरान मछली पकड़ने वाली पाकिस्तानी नाव ‘अल सोहेली’ भारतीय जल क्षेत्र में दिखी। हालांकि तटरक्षक बल के गश्ती जहाज ने पाकिस्तान की उस नाव को ललकारा लेकिन चेतावनी शॉट फायर करने के बाद भी वह नहीं रुकी। इसके बाद तटरक्षक बल के जवान अंततः नाव को रोकने में कामयाब रहे। आईसीजी अधिकारियों ने नाव से भारी मात्रा में हथियार, गोला-बारूद और नशीले पदार्थ जब्त किए। जब्त किये गए नशीले पदार्थ की अंतरराष्ट्रीय बाजार में कीमत करीब 300 करोड़ रुपये है। 

दरअसल, पाकिस्तान के साथ समुद्री सीमा साझा करने की वजह से गुजरात बहुत ही संवेदनशील राज्य है। राज्य की तटरेखा हाल के वर्षों में अंतर्राष्ट्रीय ड्रग तस्करी ट्रांजिट हब के रूप में उभरी है। इसलिए, भारतीय तटरक्षक बल ने अंतरराष्ट्रीय समुद्री सीमा रेखा के पास अपनी गश्त गतिविधियां बढ़ा दी हैं।

ये भी पढ़ें : Punjab News: पंजाब के अजनाला सेक्टर में पाकिस्तानी घुसपैठिया ढेर

Connect With Us: Twitter Facebook

SHARE