Haryana Central University: हकेवि में साप्ताहिक कार्यशाला की हुई शुरूआत

0
174
ऑनलाइन कार्यशाला के उद्घाटन सत्र को संबोधित करते कुलपति प्रो. टंकेश्वर कुमार।
ऑनलाइन कार्यशाला के उद्घाटन सत्र को संबोधित करते कुलपति प्रो. टंकेश्वर कुमार।
  • मैथमैटिकल मॉडलिंग विद सिमुलेशन इन एप्लाइड साइंसेज विषय पर केंद्रित है कार्यशाला
    Aaj Samaj (आज समाज),Haryana Central University,नीरज कौशिक, महेंद्रगढ़:
    हरियाणा केंद्रीय विश्वविद्यालय (हकेवि), महेंद्रगढ़ में सोमवार को मैथमैटिकल मॉडलिंग विद सिमुलेशन इन एप्लाइड साइंसेज विषय पर एक सप्ताह की ऑनलाइन कार्यशाला की शुरूआत हुई। गणित विभाग द्वारा आयोजित इस कार्यशाला के उद्घाटन सत्र को संबोधित करते हुए मुख्य अतिथि व विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. टंकेश्वर कुमार ने दैनिक जीवन में विभिन्न स्तर पर गणितीय मॉडल और सिमुलेशन के महत्त्व पर प्रकाश डाला।

कुलपति ने अपने संबोधन में गणितीय मॉडल और सिमुलेशन के संबंध में कहा कि यह जीवन के हर पहलु में महत्त्वपूर्ण रहते हैं। उन्होंने कहा कि आज के समय में हर क्षेत्र फिर वह चाहे भौतिकी हो, प्रौद्योगिकी हो या अभियांत्रिकी, सभी में गणित का महत्त्व है और जिस तरह से आज के समय में ओपन सोर्स उपलब्ध हैं, उसे देखते हुए विभिन्न स्तर पर यह महत्त्वपूर्ण मॉडल लाभकारी साबित हो रहे हैं। कुलपति ने विभिन्न क्षेत्रों में इनकी उपयोगिता और इनकी उपयोगिता पर प्रकाश डालते हुए कहा कि अवश्य ही इस कार्यशाला के माध्यम से प्रतिभागी लाभांवित होंगे।

कुलपति के संबोधन से पूर्व गणित विभाग में सह आचार्य व कार्यशाला के संयोजक डॉ. जितेंद्र कुमार ने साप्ताहिक कार्यशाला की रूपरेखा पर प्रकाश डाला। कार्यशाला के आयोजन सचिव व सहायक आचार्य डॉ. शाहजहां ने कार्यक्रम के मुख्य अतिथि व विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. टंकेश्वर कुमार का परिचय प्रस्तुत किया। गणित विभाग के विभागाध्यक्ष प्रो. राजेश कुमार गुप्ता एवं प्रो. ए.के. यादव ने कार्यशाला के विषय पर अपने विचार प्रतिभागियों के साथ साझा किए। इसके पश्चात कार्यशाला के पहले तकनीकी सत्र में एनआईटी, रायपुर के प्रो. शारदा नंदन रॉ ने गणितीय मॉडलिंग की बुनियादी अवधारणा तथा विज्ञान व इंजीनियरिंग में इसका प्रभाव विषय पर विस्तार से प्रकाश डाला।

इसी क्रम में दूसरे तकनीकी सत्र में एसवीएनआईटी सूरत के प्रो. सुशील कुमार द्वारा स्पेस-टाइम स्यूडो स्पेक्ट्रल विधि का उपयोग करके वेरिएबल-ऑर्डर स्पेस-टाइम फ्रैक्शनल डिफ्यूजन इक्वेशन का संख्यात्मक समाधान पर चर्चा की। कार्यक्रम का संचालन शोधार्थी सुश्री पारुल पुनिया ने किया तथा कार्यक्रम के अंत में विश्वविद्यालय के सहायक आचार्य व आयोजन सचिव डॉ. पवन कुमार ने धन्यवाद ज्ञापित किया। कार्यक्रम में डॉ. अरुण काजला, डॉ. जगजीत और सांख्यिकी विभाग के डॉ. रविंद्र सिंह सहित विभिन्न विभागों के शिक्षक, विद्यार्थी एवं शोधार्थी उपस्थित रहे।

यह भी पढ़ें :Narayan Seva Sansthan: दिव्यांगजन के लिए कुछ करने से मिलता है सुकून: गहलोत

यह भी पढ़ें : Haryana State Child Welfare Council: अच्छा सोचिए, अच्छा बोलिए और अच्छा कीजिए : विपिन शर्मा

Connect With Us: Twitter Facebook

SHARE