Homeत्योहारहरियाली तीज का व्रत टूटने और न रखने पर क्या करें

हरियाली तीज का व्रत टूटने और न रखने पर क्या करें

आज समाज डिजिटल, अंबाला:
हरियाली तीज श्रावण मास में शुक्ल पक्ष की तृतीया को मनाई जाती है। इस दिन महिलाओं के लिए कुछ खास होता है। सुहागन महिलाएं इस दिन व्रत रखती है। चारों ओर हरियाली होने के कारण ही इसे हरियाली तीज के नाम से जाना जाता है। हरियाली तीज आस्था, उमंग, सौंदर्य और प्रेम के साथ साथ शिव पार्वती का प्रतीक माना जाता है।

इस बार हरियाली तीज का पावन पर्व का व्रत 31 जुलाई को मनाया जायेगा। इस दिन माता पार्वती ने भगवान शिव को अपने पति के रूप में पाने के लिए विशेष पूजा की थी। इसलिए ही यह दिन बेहद खास माना जाता है। आप भी अपने सुहाग के लिए इस दिन व्रत रख सकते है। हरियाली तीज की पूजा विधि और अगर किसी महिला का हरियाली तीज का व्रत छूट जाए तो जानिए आप क्या कर सकते है।

हरियाली तीज का व्रत कैसे करें

Why Hariyali Teej is Special for Women
Why Hariyali Teej is Special for Women

हरियाली तीज के दिन महिलाएं व्रत रखती है और सोलह शृंगार करती है। इस दिन सुहागन महिलाएं जल्दी उठकर स्नान आदि के बाद साफ वस्त्र पहन लें। इसके बाद आप पूजा की तैयारी शुरू करें। सबसे पहले पूजा का स्थान अच्छे से साफ करें और लाल रंग का कपड़ा बिछाकर माता पार्वती, भगवान शिव और गणेशजी की प्रतिमा स्थापित कर लें। आप चाहें तो पूरे शिव परिवार की प्रतिमा भी पूजा स्थान पर स्थापित कर सकते हैं।

फिर आप भगवान गणेश जी का पूजन करें और साथ ही माता पार्वती और भगवान शिव की आराधना करें। पूजा के दौरान माता पार्वती को श्रृंगार की सामान जैसा चूड़ियां, सिंदूर, बिंदी, मेहंदी और बाकी सामान चढ़ाए। आप घी का दीपक जलाकर हरियाली तीज व्रत कथा सुने और अंत में माता पार्वती की आरती करें। सुहागन महिलाएं अपनी सास या नन्द को श्रृंगार का सामान व कपड़े भेट स्वरुप दें सकते है।

तीज का व्रत टूटने या छूटने पर क्या करें

Why Hariyali Teej is Special for Women
Why Hariyali Teej is Special for Women

कई बार गर्भावस्था व स्वास्थ्य खराब हो जाने के कारण आपका तीज का व्रत टूट जाता है या किसी कारण से आपका व्रत छूट जाता है। तो हिन्दू पुराणों के अनुसार कुछ उपाय किये जा सकते है। अगर आप व्रत ना रख सके तो आप अपने घर में किसी महिला को व्रत रखने के लिए बोल सकते है। व्रत रखने के स्थान पर आप उन्हें सुहाग का सामान व कुछ दक्षिणा दे सकते है। आप माता पार्वती व भगवान शिव से व्रत न रखने के लिए क्षमा मांगे ओर पूजा कर सकते है। साथ ही आप व्रत नहीं रखने के कारण आप सुहागन महिलाओ को सुहाग का सामान दे सकते है।

ये भी पढ़ें : ऐसे मनाई जाती है हरियाली तीज, जानिये क्या है इसका महत्व

ये भी पढ़ें : महिलाओं के लिए खास क्यों हरियाली तीज

ये भी पढ़ें : सोमवती अमावस्या के दिन दुर्लभ संयोग

ये भी पढ़ें : पूर्वजो की आत्मा की शांति के लिए फल्गू तीर्थ  

Connect With Us: Twitter Facebook

SHARE
RELATED ARTICLES

Most Popular