Homeमनोरंजनअकबर बीरबल: पेड़ एक और मालिक दो Tree Another Owner Two

अकबर बीरबल: पेड़ एक और मालिक दो Tree Another Owner Two

राघव ने कहा कि खाना तो सुबह भी खा सकता हूं, लेकिन अगर आज आम चोरी हो गए तो मेरे पूरे साल की मेहनत पर पानी फिर जाएगा।

आज समाज डिजिटल, अम्बाला
Tree Another Owner Two : एक बार रोज की ही तरह बादशाह अकबर दरबार में बैठकर प्रजा की समस्याएं सुन रहे थे। लोग अपनी-अपनी समस्याएं लेकर बादशाह के सामने हाजिर हो रहे थे और तभी राघव व केशव नाम के दो पड़ोसी अपनी समस्या लेकर दरबार में आए। इन दोनों की समस्या की जड़ था इन दोनों घर के बीच मौजूद फलों से लबालब भरा आम का पेड़। मामला आम के पेड़ के मालिकाना हक को लेकर था। राघव कह रहा था कि पेड़ उसका है और केशव झूठ बोल रहा है।

Read Also : अकबर बीरबल : धोखेबाज काजी Deceitful Qazi

Tree Another Owner Two

मामला बीरबल को सौंप दिया Tree Another Owner Two

वहीं, केशव का कहना था कि वह पेड़ का असली मालिक है और राघव झूठा है।पेड़ एक और मालिक दो का मामला बहुत उलझा हुआ था और दोनों में से कोई भी हार मानने को तैयार नहीं था। दोनों पक्षों की बातें सुनकर विचार-विमर्श के बाद बादशाह अकबर ने यह मामला अपने नवरत्नों में से एक बीरबल को सौंप दिया। मामले को सुलझाने और सच्चाई का पता लगाने के लिए बीरबल ने एक नाटक रचा। उसी शाम बीरबल ने दो सिपाहियों से कहा कि वे राघव के घर जाएं और कहें कि उसके आम के पेड़ से आम चोरी हो रहे हैं।

Read Also : अकबर बीरबल: बिना काटे लकड़ी का टुकड़ा छोटा कैसे होगा Wood Without Cutting

सिपाहियों ने बिल्कुल वैसा ही किया Tree Another Owner Two

उन्होंने दो सिपाहियों को केशव के घर जाकर यही संदेश देने को कहा। साथ ही बीरबल ने कहा कि यह संदेश देने के बाद वो उनके घर के पीछे छिपकर देखें कि राघव और केशव क्या करते हैं। बीरबल ने कहा कि राघव और केशव को पता नहीं लगना चाहिए कि तुम उनके घर आम की चोरी की सूचना लेकर जा रहे हो।

Read Also : अकबर-बीरबल : आधा इनाम Half Reward

Tree Another Owner Two : सिपाहियों ने बिल्कुल वैसा ही किया जैसा बीरबल ने कहा। दो सिपाही केशव के घर गए और दो राघव के घर। जब वो वहां पहुंचे, तो उन्हें पता चला कि राघव और केशव दोनों ही घर में नहीं थे, तो सिपाहियों ने उनकी पत्नियों को यह संदेश दे दिया। जब केशव घर पहुंचा तो उसकी पत्नी ने उसे आम की चोरी की सूचना दी। यह सुनकर केशव ने कहा कि अरे भाग्यवान खाना तो खिला दो। आम के चक्कर में अब क्या भूखा बैठा रहूं? और कौन-सा वह पेड़ मेरा अपना है। चोरी हो रही है तो होने दो। सुबह देखेंगे।”

अकबर-बीरबल: जादुई गधे की कहानी Story Of Magic Donkey

दोनों के घर के बाहर छिपकर यह सारा नजारा देखा 

वहीं, जब राघव घर आया और उसकी पत्नी ने यह बात उसे बताई तो वह उल्टे पैर पेड़ की तरह दौड़ पड़ा। उसकी पत्नी ने पीछे से आवाज लगाई कि अरे, खाना तो खा लीजिए जिस पर राघव ने कहा कि खाना तो सुबह भी खा सकता हूं, लेकिन अगर आज आम चोरी हो गए तो मेरे पूरे साल की मेहनत पर पानी फिर जाएगा। सिपाहियों ने दोनों के घर के बाहर छिपकर यह सारा नजारा देखा और वापस दरबार जाकर बीरबल को बताया।

Read Also : अकबर-बीरबल : मुर्गी पहले आई या अंडा? Chicken Came First Or Egg?

इस बारे में आप दोनों का क्या ख्याल है Tree Another Owner Two

अगले दिन दोनों फिर दरबार में हाजिर हुए। उन दोनों के सामने बीरबल ने बादशाह अकबर से कहा कि जहांपनाह, सारी समस्या की जड़ वह पेड़ है। क्यों न हम वो पेड़ ही कटवा दें। न रहेगा बांस, न बजेगी बांसुरी।” बादशाह अकबर ने इस बारे में राघव और केशव से पूछा कि इस बारे में आप दोनों का क्या ख्याल है?” इस पर केशव ने कहा, “हुजूर आपकी हुकूमत है। आप जैसा कहेंगे मैं उसे चुपचाप स्वीकार कर लूंगा।”

राघव ही पेड़ का असली मालिक है Tree Another Owner Two

वहीं राघव ने कहा कि मालिक मैंने सात वर्ष तक उस पेड़ को सींचा है। आप चाहें तो उसे केशव को दे दीजिए लेकिन कृपा करके उसे कटवाएं न। मैं आपके आगे हाथ जोड़ता हूं।” उन दोनों की बात सुनकर बादशाह अकबर ने बीरबल की तरह देखा और कहा कि अब आपका क्या कहना है, बीरबल?” इसके बाद बीरबल ने बादशाह को बीती रात का किस्सा सुनाया और मुस्कुराते हुए कहा कि पेड़ एक और मालिक दो, ऐसा कैसे हो सकता है? कल रात हुई घटना और आज हुई इस बात के बाद, यह साबित हो चुका है कि राघव ही पेड़ का असली मालिक है और केशव झूठ बोल रहा है। यह सुनकर बादशाह ने बीरबल को शाबाशी दी। उन्होंने अपने हक के खातिर लड़ने के लिए राघव को बधाई दी और चोरी करने व झूठ बोलने के लिए केशव को जेल में बंद करने का आदेश दिया।

शिक्षा : बिना परिश्रम किए छल से किसी और की चीज चुराने का अंजाम बुरा होता है।

Tree Another Owner Two 

Read Also : हिंदू नववर्ष के राजा होंगे शनि देव

Read Also : पूर्वजो की आत्मा की शांति के लिए फल्गू तीर्थ 

 Connect With Us: Twitter Facebook

SHARE
SHARE
RELATED ARTICLES

Most Popular