Case Of Fraud: फर्जी आईडी बनाकर सिम बेचने के एक आरोपी को पुलिस ने किया गिरफ्तार

0
178
गुरप्रीत सिंह भेदी
गुरप्रीत सिंह भेदी

Aaj Samaj, (आज समाज),Case Of Fraud,करनाल,8 मई, इशिका ठाकुर:
तरावड़ी थाना पुलिस की टीम द्वारा फर्जी आईडी पर काफी संख्या में सिम एक्टिवेट करके धोखाधड़ी की वारदातों को अंजाम देने के एक आरोपी गुरप्रीत सिंह भेदी पुत्र सुखचैन भेदी वासी गर्ग कॉलोनी राजपुरा को विश्वसनीय साक्ष्यों के आधार पर 4 मई को एसआई सुल्तान सिंह थाना तरावड़ी की अध्यक्षता में राजपुरा से गिरफ्तार किया गया।

इस वारदात के संबंध में वोडाफोन आइडिया टेलीकॉम कंपनी के नोडल ऑफिसर ने अज्ञात आरोपियों के खिलाफ थाना तरावड़ी में एक शिकायत दी। जिसमें उसने बताया की कुछ अज्ञात आरोपियों ने फर्जी दस्तावेजों का इस्तेमाल करके काफी संख्या में वोडाफोन आईडिया कम्पनी के मोबाइल नंबर कनेक्शन जारी करके धोखाधड़ी की वारदात को अंजाम दिया है। इस संबंध में थाना तरावड़ी में आईपीसी की विभिन्न धाराओं के मुकदमा दर्ज किया गया।

पूछताछ में आरोपी द्वारा खुलासा किया गया

आरोपी को गिरफ्तार करके माननीय न्यायालय के समक्ष पेश करके 3 दिन के पुलिस रिमांड पर लिया गया था। रिमांड अवधि के दौरान पूछताछ में आरोपी द्वारा खुलासा किया गया कि वह कुछ महीनों पहले किसी काम से करनाल के गांव चौपड़ी में आया था उसे तरावड़ी में एचडीएफसी बैंक के पास छतरी लगाकर सिम बेचता हुआ एक व्यक्ति हर्ष वासी तरावड़ी मिला और उसने उसको बताया कि वह वोडाफोन कंपनी का डिस्ट्रीब्यूटर है और सिम बेचता है और आगे भी उसको एजेंट बनाने की कंपनी ने पावर दे रखी है। हर्ष ने आरोपी को बताया कि टाटा, अमेजॉन, वॉक्सवैगन एशियन पेंट, महिंद्रा, रॉयल इनफील्ड, टीवीएस, बजाज व नैरोलैक आदि कंपनियों की गूगल पर ऐड आती रहती हैं, जिसमें सिम को एक्टिवेट करा कर कंपनियों से लीड फिल करके ओटीपी भरकर ऐड चलाकर वेबसाइट पर ट्रैफिक देकर कमीशन ले सकते हो, इसमें काफी मुनाफा है। जिसके बाद आरोपी ने हर्ष उपरोक्त व एक अन्य आरोपी सौरभ से सस्ते दाम पर ब्लैंक सिम लेनी शुरू कर दी।

करीब 95 सिम करवाये एक्टिवेट

आरोपी ने पंजाब में अपनी दुकान पर फर्जी आईडी पर अलग-अलग लोगों के फोटो लगाकर करीब 95 सिम एक्टिवेट करवा लिए और उनको अलग-अलग मोबाइल फोन व लैपटॉप आदि में चला कर ऐड के माध्यम से कंपनी से मोटा कमीशन भी कमा लिया। इस कमीशन में से तीनों आरोपी अपना-अपना हिस्सा बांट लेते थे।

आरोपी शातिर तरीके से फोटोशॉप सॉफ्टवेयर के माध्यम से अलग-अलग लोगों की आईडी लेकर बार-बार उसमें नाम-पते बदलकर व बार-बार अलग-अलग लोगों की फोटो लगाकर सिम एक्टिवेट करवाता था और मोबाइल व लैपटॉप के माध्यम से कंपनी से मुनाफा कमाता था। आरोपी ने लगभग सभी वारदातें वर्ष 2022 में की थी। जिसके बाद आरोपी की दुकान से 163 मोबाइल फोन, दो लैपटॉप, एक प्रिंटर, 36 पुरानी सिम, 72 पुरानी आईडी, एक माउस व एक चार्जर बरामद किया गया है। आरोपी को रविवार को पेश अदालत करके न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया है। मामले में संलिप्त अन्य दोनों आरोपियों की भी गिरफ्तारी के प्रयास जारी हैं। इसके अलावा मामले में अन्य लोगों की भी संलिप्तता की जांच जारी है।

यह भी पढ़ें : Kunjpura Police Station: पुलिसकर्मी के साथ मारपीट और वर्दी फाड़ने के दो आरोपी पुलिस ने किए गिरफ्तार

यह भी पढ़ें :Deputy CM Dushyant Chautala ने मिर्जापुर बाछौद हवाई पट्टी पर ली अधिकारियों की बैठक

Connect With  Us: Twitter Facebook

SHARE