ऑल इंडिया किसान खेत मजदूर संगठन ने खरीफ की फसल खराब होने पर मांग मुआवजा

0
489
All India Kisan Khet Mazdoor Sangathan demands compensation for Kharif crop failure

तोशाम, भिवानी : 

  • गिरदावरी करवाकर 50 हजार रुपये प्रति एकड़ मुआवजा किसानों को देने की मांग की ही

50 हजार रुपये प्रति एकड़ मुआवजा की मांग

ऑल इंडिया किसान खेत मजदूर संगठन के बैनर तले किसानों ने फसल खराबे का उचित मुआवजा देने की मांग को लेकर एसडीएम कार्यालय तोशाम में मुख्यमंत्री के नाम ज्ञापन सौंपा। ज्ञापन में खरीफ की फसल मूंग, कपास और ग्वार की फसल को हुए भारी नुकसान का 50 हजार रुपये प्रति एकड़ मुआवजा दिया जाने की मांग की ही। उन्होंने बताया कि मूंग, ग्वार और कपास की फसल अज्ञात बीमारी के चलते बर्बाद हो गई है जिससे किसानों को भारी घाटा हुआ है। किसान संगठन के जिला सचिव मास्टर बस्तीराम ने कहा कि काफी जगह पर अधिक वर्षा होने से जलभराव के कारण कपास की फसल मैं काफी नुकसान है और ग्वार, मूंग में बीमारी के चलते 80 प्रतिशत तक फसल बर्बाद हो चुकी है। इससे किसानों को भारी आर्थिक मार पड़ी है। पहले ही फसल की लागत से डेढ़ गुना दाम न मिलने से खेती घाटे का कारोबार हो चुकी है। किसान कर्ज के बोझ तले दबे हुए हैं, अब उनकी फसलें खराब हो गई है।

गिरदावरी करवाकर फसल खराबे की भरपाई की मांग

इससे किसानों के अरमानों पर पानी फिर गया है उन्होंने सरकार से विशेष गिरदावरी करवाकर फसल खराबे की भरपाई करने के लिए उचित मुआवजा देने की मांग की। किसान नेता जिला प्रधान कामरेड रोहतास सिंह ने किसानों से उनकी समस्याओं को लेकर जोरदार किसान आंदोलन गठित करने की पुरजोर अपील की। उन्होंने सरकार से यह भी मांग की कि बिना भेदभाव के सभी नहरों में सिंचाई के लिए पूरा पानी का प्रबंध करें। इस मौके पर पूर्व बीडीसी बल्लू आलमपुर, नरसिंह, ईश्वर सिंह बागनवाला, कासिम चौहान, सुभाष चंद्र जांगड़ा, अमीचंद , प्रताप सिंह आलमपुर, रामअवतार आलमपुर, जोगेंद्र आलमपुर, जंगबीर अलखपुरा, जयबीर फौगाट आदि किसान नेता शामिल रहे।

ये भी पढ़ें : शिक्षक दिवस पर भारत विकास परिषद रोहतक शाखा ने जैन पब्लिक स्कूल के अध्यापकों का किया सम्मान

ये भी पढ़ें :  अच्छा शिक्षक ही अच्छा मार्ग दर्शक हो सकता है: मधुबाला शास्त्री

Connect With Us: Twitter Facebook
SHARE