Home खास ख़बर If you want to remove the stigma, then do legitimate work as the leader of the opposition – Sanjay Raut: कलंक मिटाना हो तो विपक्ष के नेता के रूप में वैध काम करें-संजय राउत

If you want to remove the stigma, then do legitimate work as the leader of the opposition – Sanjay Raut: कलंक मिटाना हो तो विपक्ष के नेता के रूप में वैध काम करें-संजय राउत

1 second read
0
0
145

नई दिल्ली। भाजपा सांसद अनंत हेगड़े ने एक बयान ने हंगामा मचा दिया। महाराष्ट्र में लगतार हंगामे के बाद मुश्किल से शांति आई थी कि यकायक हेगडे ने बयान देकर दोबारा विवादों को हवा दी है। अनंत हेगडे ने बयान दिया कि देवेंद्र फडणवीस महाराष्ट्र के 80 घंटे के मुख्यमंत्री इसलिए बने ताकि केन्द्र सरकार को चार हजार करोड़ रुपये वापस कर सके। अनंत कुमार के इस बयान पर शिवसेना नेता संजय राउत ने कहा है कि ये तो महाराष्ट्र के साथ गद्दारी है। हालांकि बता दें कि इससे पहले शिवसेना ने अपने मुखपत्र ह्यसामनाह्ण में देवेंद्र फड़णवीस पर हमला बोला। उन्हें अच्छे विपक्ष के रूप में वैध काम करने की सलाह भी दी। शिवसेना ने लिखा कि बहुमत न होने के बाद भी महाराष्ट्र को अंधेरे में रखकर अवैध ढंग से शपथ लेनेवाले मुख्यमंत्री तथा विधानसभा का सामना किए बिना 80 घंटे में चले जाने वाले मुख्यमंत्री ऐसा आपका इतिहास में नाम दर्ज हो चुका है, इसके याद रखो। ये कलंक मिटाना होगा तो विपक्ष के नेता के रूप में वैध काम करें या कम से कम पार्टी में खडसे मास्टर से प्रशिक्षण लें। बता दें कि भाजपा के हेगड़े ने कहा कि आप सभी जानते हैं कि महाराष्ट्र में हमारा आदमी 80 घंटे के लिए सीएम बना। फिर फड़नवीस ने इस्तीफा दे दिया। उसने यह नाटक क्यों किया? क्या हमें नहीं पता था कि हमारे पास बहुमत नहीं है और फिर भी वह सीएम बने। यह सवाल हर कोई पूछ रहा है। उन्होंने कहा कि केन्द्र सरकार ने लगभग 40,000 करोड़ रुपये महाराष्ट्र को दिए थे। उन्हें पता था कि अगर कांग्रेस-एनसीपी-शिवसेना की सरकार सत्ता में आती है तो वह विकास के लिए धन का दुरुपयोग करेगी। इसलिए यह तय किया गया कि एक ड्रामा किया जाएगा। फडणवीस सीएम बने और 15 घंटे में वह 40,000 करोड़ रुपये केन्द्र को वापस कर दिए।

Load More Related Articles
Load More By Aajsamaaj Network
Load More In खास ख़बर

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

Know Vikas Dubeki’s encounter full story … the question that left this encounter behind …जाने विकास दुबे एनकाउंटर की पूरी कहानी…सवाल जो यह एनकाउंटर पीछे छोड़ गया…

कानपुर: कानपुर के चौबेपुर थाना क्षेत्र के बिकरू गांव का निवासी हिस्ट्रीशीटर और पांच लाख का…