Home दुनिया Pakistan does not want to leave China’s friendship: पाकिस्तान चीन की दोस्ती नहीं छोड़ना चाहता

Pakistan does not want to leave China’s friendship: पाकिस्तान चीन की दोस्ती नहीं छोड़ना चाहता

0 second read
0
16

पाकिस्तान किसी भी हालत में चीन का साथ नहींछोड़ना चाहता है। भले ही दुनियाभर में कोरोना महामारी के कारण चीन को निशाने पर लिया जा रहा है लेकिन पाकिस्तान इससे इतर उसकी कारनामों पर पर्दा डालता रहता है या यूं कहें कि अपनी आंखे बंद कर बैठना ही मुनासिफ समझता है। चीन दुनिया का ध्यान हटाने के लिए लद्दाख में कई महीनों से तनाव बढ़ा रहा है। सिर्फ कोरोना, लद्दाख पर ही नहीं, बल्कि चीन शिनजियांग प्रांत में लाखों उइगर मुसलमानों के साथ जिस तरह का व्यवहार कर रहा है, उससे भी दुनिया के निशाने पर आ गया है। लेकिन,  पाकिस्तान को उम्मीद है कि चीन उसका सदाबहार दोस्त बना रहेगा। इमरान खान ने फरवरी में किए एक ट्वीट में लिखा था कि पाकिस्तान चीन के लोगों और उसकी सरकार के साथ इस मुश्किल घड़ी में खड़ा हुआ है और आने वाले समय में भी खड़ा रहेगा। एक महीने बाद, उन्होंने बयान में कहा, ”कुछ दिनों में सबकुछ ठीक हो जाएगा…यह वायरस एक फ्लू है, जोकि तेजी से फैलता है।

Load More Related Articles
Load More By Aajsamaaj Network
Load More In दुनिया

Check Also

Good news – 7th pay commission: Government can increase the dearness allowance of central employees: खुशखबरी-सांतवां वेतन आयोग: सरकार बढ़ा सकती है केंद्रीय कर्मचारियों का महगाई भत्ता

सरकारी कर्मचारियों को जल्द ही खुशखबरी मिल सकती है। संभव है कि इस दिवाली से पहले ही सरकार क…