Home अर्थव्यवस्था Three months relief for EMI’s, inflation may increase, repo rate cut: ईएमआई वालों को मिली तीन महीने की राहत, बढ़ सकती हैं महगाई, रेपो रेट में कटौती

Three months relief for EMI’s, inflation may increase, repo rate cut: ईएमआई वालों को मिली तीन महीने की राहत, बढ़ सकती हैं महगाई, रेपो रेट में कटौती

0 second read
0
126

नई दिल्ली। कोरोना संक्रमण के कारण देश में लॉकडाउन किया गया था जिसके बाद अर्थव्यवस्था को रिकवर करने के लिए प्रयास किया गया है। पीएम के 20 लाख करोड़ के बड़े पैकेज का एलान राहत देने केलिए किया। अब आरबीआई के गवर्नर शाक्तिकांत दास नेहोम लोन, पर्सनल लोन, वाहन कर्ज की ईएमआई चुका रहे लोगोंको राहत दी। अब जून, जुलाई और अगस्त की अपनी ईएमआई तो होल्ड कर सकते हैं। आज प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान गवर्नर शक्तिकांत दास ने कहा कि लॉकडाउन बढ़ने से मोरोटॉरियम और दूसरी राहते तीन महीने तक और बढ़ाई जा रही हैं। अब ईएमआई देने पर राहत 1 जून से 31 अगस्त तक के लिए बढ़ाई जा रही है। गौरतलब है कि आरबीआई ने यह निर्णय इसलिए लिया क्योंकि देश में लॉकडाउन के कारण लोगों की आय पहले की तरह सुचारू नहीं हो पाई है। लोग ईएमआई मॉरेटोरियम की मौजूदा 31 मई तक की अवधि के खत्म होने के बाद मौजूदा परिस्थिति में अपना कर्ज चुकाने में सक्षम नहीं होंगे। इसलिए मॉरेटोरियम को और तीन माह तक बढ़ाना पड़ा। यह कर्ज लेने वालों और बैंकों दोनों के लिए इस मुश्किल वक्त में मददगार रहेगा। गवर्नर ने कहा आज कहा कि डिमांड और सप्लाई के समीकरण बिगड़ गया है। जिसके कारण महंगाई बढ़ सकती है। आरबीआईगवर्नर ने ब्याज दरें भी घटाई। वहीं रिजर्व बैंक ने बड़ी राहत देते हुए रेपो रेट में 0.40 फीसदी की कटौती का ऐलान किया है। रिवर्स रेपो रेट घटाकर 3.35 फीसदी कर दिया है। आरबीआई गवर्नर शक्तिकरंत दास ने प्रेस कॉन्फेंस में कहा कि महंगाई दर अभी भी 4 फीसदी के नीचे रहने की संभावना है, लेकिन लॉकडाउन के वजह से यह बढ़ सकती है।

Load More Related Articles
Load More By Aajsamaaj Network
Load More In अर्थव्यवस्था

Check Also

असली आजादी के मायने

हमारे देश को आजाद हुए सत्तर वर्ष का का समय व्यतीत हो चुका है किन्तु आज भी हम कई मायनों में…