Home टॉप न्यूज़ Reports of Chinese incursions removed from website of Defense Ministry, Rahul said, whenever the country became emotional, files disappeared: रक्षा मंत्रालय की बेवसाइट से चीनी घुसपैठ की रिपोर्ट हटी, राहुल नेकहा, जब-जब देश हुआ भावुक, गायब हुईं फाइलें

Reports of Chinese incursions removed from website of Defense Ministry, Rahul said, whenever the country became emotional, files disappeared: रक्षा मंत्रालय की बेवसाइट से चीनी घुसपैठ की रिपोर्ट हटी, राहुल नेकहा, जब-जब देश हुआ भावुक, गायब हुईं फाइलें

5 second read
0
15

भारत और चीन के बीच पूर्वी लद्दाख मेंएलएसी पर गतिरोध जारी है। चीनी सैनिकों ने 15 जून को भारतीय जवानों के साथ हिंसक झड़प की और इसमें भारत के बीस सैनिक शहीद हो गए थे। जिसके बाद भारत चीन के बीच तनाव बढ़ गया था। हालांकि गतिरोध को दूर करने और तनाव को कम करने के लिए कई दौर की बातचीत भारत चीन के सैन्य अधिकारियों केबीच हो चुकी है। जिसके परिणाम स्वरूप चीन के सनिक कुछ पीछे हटेंहैंलेकिन भारत अभी भी अड़ा है कि चीन एलएसी पर पूर्ववत स्थिति पर आए। भारत चीन के बीच विवाद और गतिरोध पर लगातार विपक्षी पार्टी कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी हमलावर रहे हैं। अब उन्होंने रक्षा मंत्रालय की बेवसाइट से चीन की घुसपैठ वाली रिपोर्टहटा दिए जाने को लेकर सरकार को घेरा है। उन्होंने कहा कि जब-जब देश भावुक हुआ है फाइलें गायब हुई हैं। राहुल गांधी ने शनिवार को ट्वीट के माध्यम से केंद्र सरकार पर हमला बोला और उन्होंने रक्षा मंत्राालय की रिपोर्ट बेवसाइट से हटाने को केंद्र का लोकतंत्र विरोधी प्रयोग बताया। राहुल ने इस ओर भी इशारा किया है कि ऐसा पहली बार नहीं हो रहा है। इससे पहले माल्या और राफेल से जुड़े मामलों में भी फाइलें गायब हुईं हैं। राहुल गांधी ने ट्वीट किया, “जब जब देश भावुक हुआ, फाइलें गायब हुईं। माल्या हो या राफेल, मोदी या चोक्सी… गुमशुदा लिस्ट में लेटेस्ट हैं चीनी अतिक्रमण वाले दस्तावेज। ये संयोग नहीं, मोदी सरकार का लोकतंत्र-विरोधी प्रयोग है।”

Load More Related Articles
Load More By Aajsamaaj Network
Load More In टॉप न्यूज़

Check Also

Is population the main reason for unemployment? जो लोग किसानों के खिलाफ हैं वह ही कृषि कानून का विरोध कर रहे- पीएम मोदी

नई दिल्ली। केंद्र सरकार द्वारा तीन कृषि विधेयक विपक्ष के भारी विरोध के बावजूद पास कराए और …