Home टॉप न्यूज़ Opposition does not have issues, the worst phase in the country is over – Prakash Javadekar: विपक्ष के पास मुद्दे नहीं, देश में सबसे बुरा दौर खत्म हो गया है-प्रकाश जावड़ेकर

Opposition does not have issues, the worst phase in the country is over – Prakash Javadekar: विपक्ष के पास मुद्दे नहीं, देश में सबसे बुरा दौर खत्म हो गया है-प्रकाश जावड़ेकर

2 second read
0
89

नई दिल्ली। कोरोना संक्रमण की लड़ाई के बीच आज केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर नेकई मुद्दों पर बातचीत की। प्रकाश जावडेÞकर ने शनिवार को लॉकडाउन, सोशल डिस्टेंसिंग और अर्थ व्यवस्था जैसे मुद्दों पर बातचीत की। उन्होंने कोरोना को लेकर कहा कि बुरा दौर अब खत्म हो चुका है। उन्होंने कहा कि दूसरे देशों की तुलना में भारत की स्थिति बहुत अच्छी है। जावडेÞकर ने इस दौरान विपक्ष पर भी हमला बोला। विपक्ष को सिद्धांतविहीन बताया और कहा कि उनके पास कोई मुद्दा नहीं हैं। उन्होंने कि मुझे लगता है कि सबसे बुरा दौर देश में खत्म हो चुका है। प्रकाश जावडेÞकर ने कहा कि चार मई के बाद आधे देश में गतिविधियां शुरू हो जाएंगी। विपक्ष को आड़े हाथों लेते हुए जावड़ेकर ने कहा कि विपक्ष आज उन बिंदुओं को लेकर सरकार पर निशाना साध रहे हैं जिनपर पहले उन्होंने सहमति जताई थी। उनके पास मुद्दे या एजेंडे की कमी है। कोरोना संक्रमण को लेकर मंत्री ने कहा कि , ‘मुझे लगता है कि सबसे बुरा दौर खत्म हो चुका है। लेकिन जब तक यह बीमारी पूरी तरह से खत्म नहीं हो जाती, तब तक हमें सभी सावधानियों और दिशानिदेर्शों का पालन करते रहना चाहिए।’दो गज की दूरी का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा, ‘कोविड-19 के खिलाफ हमारा प्रबंधन अन्य देशों की तुलना में बहुत बेहतर है। सभी जोन अच्छी तरह से परिभाषित किए गए हैं। चीन से ये संक्रमण आया लेकिन अभी इसका कोई टीका नहीं मिला, जब तक टीका नहीं मिलता तब तक हमें एक तरह से कोविड-19 के साथ ही जीना होगा। मास्क लगाना, बार-बार हाथ धोना, दो गज की दूरी रखना, ये ‘न्यू नॉर्मल’ है। समाज ने 40 दिन में ये बहुत अच्छे से सीख लिया है।’ मंत्री का कहना है कि चार मई से आधे देश में गतिविधियां शुरू हो जाएंगी। उन्होंने कहा, ‘लॉकडाउन ने हमें कोविड-19 महामारी से निपटने में सफलता दिलाई है। चार मई से आधे देश में गतिविधियां शुरू हो जाएंगी। जैसे ही लॉकडाउन समाप्त होगा सारे उद्योग शुरू होंगे। भारत की अर्थव्यवस्था मजबूत है, भारत में आतंरिक मांग बहुत है। 130 करोड़ जनता ही बाजार है। निर्यात में हमारा हिस्सा एक प्रतिशत ही था, वो सारा खत्म नहीं होगा। वो (निर्यात) ऐसा है जहां मांगों में कटौती नहीं होने वाली है।’विपक्ष पर निशाना साधते हुए जावड़ेकर ने कहा, ‘जहां तक विपक्ष का सवाल है मुझे लगता है कि वे सिद्धांतविहीन हैं। वे एक भी अच्छी चीज या कोई अच्छा सुझाव नहीं दे रहे हैं।

Load More Related Articles
Load More By Aajsamaaj Network
Load More In टॉप न्यूज़

Check Also

The third bill related to agriculture was also passed amid heavy opposition from the opposition: विपक्ष के भारी विरोध के बीच कृषि से संबंधित तीसरा बिल भी हुआ पास

सरकार द्वारा पारित कराए गए दो कृषि विधेयकों पर संसद में विपक्ष ने जमकर हंगामा काटा। कृषि व…