Home टॉप न्यूज़ Kisan Andolan- Thousands of farmers took to the streets for agitation : किसान का आदोंलन-आंदोलन के लिए हजारों किसान सड़कों पर उतरे, बैरिकेट फेंके नदी में, पुलिस ने किया वाटर कैनन का इस्तेमाल

Kisan Andolan- Thousands of farmers took to the streets for agitation : किसान का आदोंलन-आंदोलन के लिए हजारों किसान सड़कों पर उतरे, बैरिकेट फेंके नदी में, पुलिस ने किया वाटर कैनन का इस्तेमाल

4 second read
0
78

नई दिल्ली। केंद्र के कृषि कानून के खिलाफ आज सुबह सेही किसान सड़कों पर उतरे हुए हैं। किसान संगठनोंने दिल्ली पहुंच कर प्रदर्शन करने का कार्यक्रम किया था। किसान आदोंलन को देखते हुए हरियाणा सरकार ने पहले ही अपनी सीमाएं सील कर दी है। लेकिन किसान किसी भी हालत में आज रूकने को तैयार नहीं दिख रहे हैं। भारतीय किसान यूनियन के बैनर तले हजारों सड़कों पर प्रदर्शन के लिए उतरे हैं। दिल्ली-हरियाणा बॉर्डर पर पुलिस ने कड़ी सुरक्षा व्यवस्था कर रखी है। सीमाओंकी निगरानी के लिए पुलिस ड्रोन की भी सहायता ले रही है। किसान आंदोलन के चलते दिल्ली मेट्रो की छह लाइनों पर सेवाएं प्रभावित हैं।

-अंबाला के पास शंभु बॉर्डर पर दिल्ली की ओर मार्च कर रहे किसानों पर पुलिस ने वॉटर कैनन का इस्तेमाल किया

-शंभू बॉर्डर पर किसानों पर छोड़े आंसू गैस के गोले और वॉटर कैनन
-किसान बड़ी संख्या मेंशंभू बॉर्डर पर जुटे हैं। पुलिस ने पंजाब से लगती सभी सीमाएंबंद कर रखी हैं। चंडीगढ़ अंबाला हाईवे भी पुलिस भी नेपूरी तरह बंद कर दिया है। बॉर्डर पर किसान शंभू बॉर्डर पर जुटे है। दिल्ली की ओर बढ़ रहे थे लेकिन पुलिस ने उन्हें रोकने और भीड़ को तितर-बितर करने के लिए आंसू गैस के गोलों और वॉटर कैनन का इस्तेमाल किया। पुलिस की इस हरकत के बाद किसान गुस्सा गए और सभी बैरिकेड को उठाकर नदी मेंफेंकने लगे।

केंद्र सरकार के तीनों खेती बिल किसान विरोधी हैं। ये बिल वापस लेने की बजाय किसानों को शांतिपूर्ण प्रदर्शन करने से रोका जा रहा है, उन पर वॉटर कैनन चलाई जा रही हैं। किसानों पर ये जुर्म बिल्कुल ग़लत है। शांतिपूर्ण प्रदर्शन उनका संवैधानिक अधिकार है: दिल्ली सीएम केजरीवाल

–किसानों के प्रदर्शन को रोकने के लिए अंबाला चंडीगढ़हाईवे पर भी पुलिस ने वाटर कैनन का इस्तेमाल शुरू कर दिया। किसानों का प्रदर्शन उग्र होने के कारण पुलिस ने आसू गैस के गोले चलाए और वाटर कैनन का प्रयोग कई बार किया। किसान किसी भी कीमत पर वापस नहीं जाना चाहते हैं। अंबाला के चंडीगढ़हाईवे पर किसानों के समर्थन के लिए लंगर गांव के लोगों द्वारा लगाया गया है। पुलिस ने किसानों पर कई बार आसू गैस के गोले दागे जा रहे हैंऔर साथ ही वाटर कैनन से किसानों को भिगाया जा रहा है।

चंडीगढ़अंबाला बॉर्डर पर किसान पूरी तरह सेउग्र हो गए हैंऔर पुलिस द्वारा लगाए गए सभी बैरेकेटस हटाकर किसान आगे की ओर निकल रहे हैं। किसानों ने सड़क पर लगाए गए बड़े-बड़े पत्थर और बैरेकेटिंग को टैक्टरों से खींचकर हटा दिया।

Load More Related Articles
Load More By Aajsamaaj Network
Load More In टॉप न्यूज़

Check Also

In the New India concept of Prime Minister, people of Tamil Nadu are second class citizens of the country- Rahul Gandhi: प्रधानमंत्री की न्यूइंडिया अवधारणा में तमिलनाडु के लोग देश के दूसरे दर्जेके नागरिक- राहुल गांधी

तमिलनाडु में भी अगामी विधाानसभा चुनावों का जोर है। राजनीतिक पार्टियांयहां मई में होने वाले…