मथुरा। सौंख स्थित गांव पाली खेडा में मंगलवार को किसान महापंचायत में राधे-राधे से अपना संबोधन शुरू करते हुए कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गांधी ने कहा कि मेरा सौभाग्य कि मैं आज इस पावन धरती पर खड़ी हूं। एक बार मेरे साथ बोलिए बांके बिहारी की जय, गिर्राज जी की जय, जमुना मैया की जय। यह धरती अहंकार को तोड़ती है भगवान श्रीकृष्ण ने इंद्र देव का अहंकार तोड़कर गोवर्धन पर्वत उठाया था। आज भाजपा सरकार ने भी अन्नदाता के लिए अहंकार पाल लिया है। किसान सड़कों पर बैठा है देश की राजधानी में 90 दिन से वह अनशन करने पर मजबूर है। आंदोलन में अब तक 215 किसान शहीद हो चुके हैं। प्रधानमंत्री को पूरे देश में घूमने के लिए समय है लेकिन वह अपने दरवाजे पर बैठे अन्नदाता से नहीं मिलना चाहते।
नए कृषि कानूनों के विरोध में चल रहे किसान आंदोलन का कांग्रेस समर्थन कर रही है। कान्हा की नगरी में कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने पालीखेड़ा मैदान में किसान महापंचायत को संबोधित किया। इस दौरान उन्होंने भाजपा सरकार पर करारे हमले किए। प्रियंका गांधी ने अपने भाषण में पीएम मोदी को केंद्रित रखा। किसान कानून को अरबपतियों के लिए बनाया गया कानून बताया। वहीं भगवान श्रीकृष्ण की नगरी में उन्होंने कहा कि इस सरकार का अहंकार भगवान श्रीकृष्ण तोड़ेंगे। महापंचायत के लिए आईं प्रियंका गांधी के मंच पर पहुंचते ही कार्यकर्ताओं ने उनका नारे लगाकर स्वागत किया। प्रियंका के आते ही समूचे पंडाल में एक नई ऊर्जा का संचार हो गया। वहां मौजूद जनता ने हाथ हिलाकर उनका स्वागत किया।
आज भाजपा सरकार ने भी किसानों के लिए अहंकार पाल लिया है। देश की सीमा पर जिन्होंने अपने बेटों को शहीद होने के लिए भेजा है। आज वो किसान सड़क पर बैठा है। 90 दिनों से किसान अपने हक की लड़ाई लड़ रहा है। 215 किसान शहीद हुए। सरकार ने बिजली काटी, पानी बंद किया, मारपीट कराई उन्हें प्रताड़ित किया, लेकिन उनकी सुनवाई नहीं की गई। किसानों से बात करने के लिए प्रधानमंत्री नहीं आए। रामधारी सिंह दिनकर की कविता पढ़कर उन्होंने कहा कि जब नाश मनुष्य पर छाता है पहले विवेक मर जाता है। इस सरकार का विवेक मर चुका है। प्रियंका गांधी ने कहा कि पीएम अहंकारी हैं उनका अहंकार भगवान श्रीकृष्ण तोड़ेंगे। पीएम पर तंज कसते हुए कहा कि उन्होंने दो हवाई जहाज करीब 16,000 करोड़ खर्च करके खरीद लिए लेकिन गन्ना किसानों का 15,000 करोड़ बकाया नहीं दिया।
प्रियंका गांधी ने कहा कि पीएम मोदी किसान विरोधी हैं, कानून बनाते समय किसानों से नहीं पूछा गया। डीजल-पेट्रोल और गैस के दाम लगातार बढ़ रहे हैं। नोटों की खेती करने वालों ने ये कृषि कानून बनाया है। ये कानून उन्हीं के लिए बना है। अरबपतियों के लिए बनाया है कृषि कानून है। भाजपा सरकार ने बेचने की ऐसी भांग डाली है। गोवर्धन पर्वत को संभाल कर रखिए कल की कुछ नहीं पता इसे भी बेचने की कोशिश न करें। केंद्र ने खरबपति मित्रों को लाखों-करोड़ कर्जा माफ किया है। किसानों का एक भी कर्जा माफ नहीं किया। फसल बीमा के नाम पर किसानों से खरबपति मित्रों ने 26 हजार करोड़ रुपये कमाएं हैं। किसान का अपमान किया जा रहा है। प्रियंका गांधी ने कहा कि किसानों को पीएम मोदी ने आंदोलनजीवी कहा, आतंकवादी बोला, संसद में 215 शहीद किसानों के लिए जब राहुल ने दो मिनट का मौन मांगा तो इनके सांसद दो मिनट के मौन के लिए खड़े नहीं हुए। जनता जनार्दन है, जनता अहंकारी सरकार को हमेशा सबक सिखाती है। आज वो समय आ गया है। चुनाव के समय किए वादे झूठ निकले। जब पीएम के निर्णयों पर सवाल उठते हैं तो पिछली सरकारों को दोषी ठहराते हैं। जनता की बात को स्वीकार नहीं करते। इनमें अहंकार है। पेट्रोल-डीजल के दाम बढ़ने पर कांग्रेस को दोषी ठहराया। शुक्र करिए कि पिछली सरकारों ने कुछ बढ़ाया आपने तो कुछ बढ़ाया नहीं। शुक्र करिए कि पिछली सरकार ने कुछ बनाया, यदि बनाते नहीं तो आप बेचते क्या। भाजपा सरकार ने बड़े-बड़े उद्योग बेच डाले। शायद मोदीजी की सबसे बड़ी उपलब्धि यही है कि आपने-अपने खरबपति मित्रों को खूब बढ़ाया।
जब तक किसान लड़ते रहेंगे तब तक कांग्रेस पार्टी हर दुख में हर दर्द में शामिल होगी। जैसे ही कांग्रेस की सरकार आएगी इन कानूनों को सबसे पहले रद्द किया जाएगा। इस सरकार को भी भगवान श्रीकृष्ण की वाणी सुनाई देगी। जो जनता कहती है वो सही है। इस सरकार के अहंकार को खत्म करने के लिए जो करना पड़ेगा करेंगे। महापंचायत में अपने भाषण को खत्म करने के बाद प्रियंका गांधी ने कहा कि जो किसान भाई इस आंदोलन में शहीद हुए हैं। उनके लिए दो मिनट का मौन रखें। प्रियंका गांधी ने जय जवान जय किसान के साथ अपना भाषण किया। जब प्रियंका गांधी महापंचायत के लिए आईं तो रास्ते मे मौजूद कार्यकर्ताओं और किसानों ने उनका जोरदार स्वागत किया। प्रियंका गांधी का मथुरा में महापंचायत के दौरान रास्ते में जोरदार स्वागत हुआ। कार्यकर्ताओं ने नारेबाजी की। 
कमलकान्त उपमन्यु