Home राज्य पंजाब To make new license of Asale, applicant needs to apply selfie to plant trees: असले का लायसेंस नया बनाने के लिए आवेदक को अर्ज़ी के साथ पेड़ लगाने की सेल्फी  लगानी जरूरी

To make new license of Asale, applicant needs to apply selfie to plant trees: असले का लायसेंस नया बनाने के लिए आवेदक को अर्ज़ी के साथ पेड़ लगाने की सेल्फी  लगानी जरूरी

0 second read
0
0
23
पंजाब में ज़मीन के निचले पानी के गिरते स्तर और जंगल के घटते क्षेत्रफल के मद्देनजर पटियाला निवासियों को लामबंद करने के मकसद के साथ डिविज़नल कमिशनर पटियाला  चन्द्र गेंद ने हथियार लायसेंस बनवाने /रिन्यू करने वालों के लिए एक दिलचस्प और अच्छी पहल की है।
इस मुहिम को’टरीज फार गन्न’का नाम देते कमिशनर  गेंद ने पटियाला से लोक सभा मैंबर  परनीत कौर से वीडियो कानफरंसिंग के द्वारा इस मुहिम का अगाज़ करवाते हुए इस मुहिम बारे जानकारी देते बताया कि इस का मुख्य मकसद लोगों को वृक्ष लगाने के लिए प्रेरित करना और वृक्षों को पालन के लिए पाबंद बनाना है। उन्होंने कहा कि कोई भी व्यक्ति जो नया हथियार लायसेंस बनवाने जा फिर पुराने लायसेंस को रिन्यू करना चाहता है तो उस के लिए क्रमवार 10 और 5वृक्ष लगाने लाज़िमी होंगे। उसको लायसेंस की फाइल जमा करवाने समय वृक्ष लगाने की सैलफ़ी के साथ देनी होगी। एक महीने बाद जब दरख़ास्त पुलिस वैरीफिकेशन और डोप टैस्ट के लिए भेजी जायेगी तो भी वृक्ष के साथ दोबारा सैलफ़ी की फोटो जमा करवानी होंगी।  इस के साथ जहाँ हथियार लेने के चाहवानों के लिए वृक्ष लगाने लाज़िमी होंगे वही अपने आप वृक्ष की संख्या में विस्तार होगा और जंगल का क्षेत्रफल बढ़ेगा।
 परनीत कौर ने इस विचार की श्लाघा करते दूसरे को भी वातावरण की संभाल के लिए आगे आने की अपील की। उन्होंने डिविज़नल कमिशनर और ज़िला प्रशासन पटियाला की श्लाघा करते कहा कि वह इस मुहिम को आगे लेकर जाएंगे और आने वाले लोक सभा सैशन दौरान वह इसको लोग सभा में भी उठाएंगी, जिससे ऐसा सभी पूरे देश में किया जा सके। वातावरण संभाल पर ज़ोर देते लोक सभा मैंबर ने कहा कि पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिन्दर सिंह की तरफ से भी जंगल का क्षेत्रफल बढ़ाने के लिए उपराले किये जा रहे हैं जिस के अंतर्गत श्री गुरु नानक देव जी के प्रकाश पर्व के मौके वृक्ष लगाने के लिए मुहिम चलाई गई थी और अब श्री गुरु तेग़ बहादुर जी के प्रकाश पर्व पर भी वृक्ष लगाने की मुहिम शुरू की गई है।
उन्होंने उम्मीद जताते कहा कि प्रशासन की तरफ से उठाए ऐसे कदम लोगों को वातावरण सम्बन्धित ओर सहृदय होने के लिए प्रेरित करेंगे और यह मुहिम एक विशाल रूप लेगी। उन कहा कि भारत की तरफ से हाल ही में हुई संयुक्त राष्ट्र कनवैन्शन की  सी.ओ.पी. की मेज़बानी की गई थी जिस में भी संसार स्तर पर धरती के कम रहे जंगलों सम्बन्धित विचार चर्चा की गई थी।
इस सम्बन्धित  जानकारी देते चन्द्र गेंद ने बताया कि पटियाला ज़िले में अब तक 42 हज़ार से हथियार लायसेंस जारी किये जा चुके हैं।  हरेक महीने 200 के करीब हथियार लायसेंस नवीनीकरन के लिए आते हैं, यदि हरेक आवेदक  5वृक्ष लगात है तो एक महीने में हज़ार वृक्ष लगेंगे और साल में पटियाला ज़िले अंदर 12 हज़ार वृक्ष लग सकेंगे और यदि यह मुहिम सूबो में चलाई जाये तो वृक्षों का संख्या सालाना 2लाख 64 हज़ार हो जायेगी।
 चन्द्र गेंद ने आवेदक को राहत देते कहा कि जिन के पास वृक्ष लगाने के लिए स्थान नहीं है वह लोग पब्लिक स्थानों’पर, शिक्षा संस्थायों, धार्मिक स्थान जा फिर सड़कें किनारे भी पेड़ लगा सकते हैं परन्तु उन को वृक्ष की संभाल संभाल की पूरी ज़िम्मेदारी निभानी होगी इस तरह हम वृक्षों नीचे क्षेत्रफल को बढ़ा सकेंगे।
उन्होंने कहा कि देश में 732 ज़िले हैं और यदि हरेक ज़िले में 200 हथियार लाइसेंस की फाइल आती है और यदि उनकी तरफ से वृक्ष लगाए जाते हैं तो साल में ही देश में एक करोड़ नये वृक्ष लगाए जा सकेंगे, जो वातावरण शुद्धता की तरफ एक बड़ा कदम होगा। इस मौके अपील की कि वृक्ष ऐसे लगाए जाएँ जो पानी कम ले, जिन में आवला, नीम, बबूल, टाहली आदि वृक्षों को प्रथमिकता जाये।
डिप्टी कमिशनर पटियाला  कुमार अमित ने बताया कि आवेदक  की तरफ से लगाए गए वृक्षों की बाद में भी निगरानी रखने के लिए सम्बन्धित विभागों को हिदायतें दीं गई हैं। इस मौके एसएसपी मनदीप सिंह सिद्धू, अतिरिक्त डिप्टी कमिशनर (जनरल)  पूजा सयाल भी मौजूद थे। मुहिम की शुरुआत मौके दो आवेदकों को लायसेंस भी सौंपे गए।
ज़िक्रयोग्य है कि डिविज़नल कमिशनर  चन्द्र गेंद जब डिप्टी कमिशनर फ़िरोज़पुर थे तो वहां भी उनकी तरफ से वृक्ष लगाने की यह मुहिम शुरू की गई थी, जिसकी  कैप्टन अमरिन्दर सिंह की तरफ से टवीट करके श्लाघा की गई थी।’टरीज फार गन्न’स्कीम ने उस समय ज़िला फ़िरोज़पुर को  एक अलग पहचान दिलाई था।
Load More Related Articles
Load More By Chandan Swapnil
Load More In पंजाब

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

District administration honors freedom fighters of Quit India Movement: ज़िला प्रशासन ने भारत छोड़ो आंदोलन के स्वतंत्रता सेनानियों का किया सम्मान 

राजपुरा, घनौर, पटियाला। देश के आज़ादी दिहाड़े से पहले स्वतंत्रता संग्रामियों  का  सरकार और ज़…