HomeAssembly Election 2022पंजाब के नए एडवोकेट जनरल ने संभाला काम, एक रुपये सैलरी बाकी...

पंजाब के नए एडवोकेट जनरल ने संभाला काम, एक रुपये सैलरी बाकी नशामुक्ति को दान Anmol Ratan Sidhu

Anmol Ratan Sidhu

आज समाज डिजिटल, अंबाला:
Anmol Ratan Sidhu : पंजाब में आम आदमी पार्टी की सरकार और शुरू हो गया भलाई का कारवां। मुख्यमंत्री भगवंत मान से हरी झंडी मिलने के बाद एडवोकेट जनरल की नियुक्ति का फरमान जारी हो गया। उन्होंने शनिवार को अपना कार्यभार भी संभाल लिया। ये नियुक्ति हुई है अनमोल रतन सिद्धू की। ये वेतन के रूप में मात्र एक रुपया लेंगे और शेष नशे के शिकार लोगों के पुनवार्स पर खर्च कर देंगे।

लोग बोले- सिद्धू वाकई अनमोल रतन

Anmol Ratan Sidhu
Anmol Ratan Sidhu
इनसे पहले दीपेंदर सिंह इस पद पर थे. राज्य में सरकार बदलने के बाद उन्होंने इस्तीफा दे दिया था। तभी से ये पद खाली था। अब इस पद पर आए अनमोल रतन सिद्धू एक शानदार वकील रहे हैं। उन्हें पंजाब और हरियाणा हाईकोर्ट में संवैधानिक, आपराधिक, सिविल, सेवा और भूमि से जुड़े संवेदनशील, सरकारी और निजी मामलों का अनुभव है। अर्से तक पंजाब और हरियाणा बार काउंसिल के अध्यक्ष रहे हैं। इसके अलावा भारत के असिस्टेंट सॉलिसिटर जनरल और पंजाब व हरियाणा के अडिशनल एडवोकेट जनरल भी रह चुके हैं। उन्हें असाधारण सामाजिक सेवा के लिए पंजाब के सर्वोच्च नागरिक सम्मान प्रमाण पत्र से भी नवाजा जा चुका है।

किसान परिवार में लिया था जन्म

इनका जन्म 1 मई 1958 को एक किसान परिवार में हुआ। 1975 में चंडीगढ़ शिफ्ट होने से पहले गांव के स्कूल में उन्होंने पढ़ाई की। पंजाब विश्वविद्यालय में कानून की पढ़ाई के दौरान वह सामाजिक कार्यों के साथ-साथ राजनीति में भी सक्रिय रहे। वह 1981 से 1982 तक पंजाब यूनिवर्सिटी की स्टूडेंट काउंसिल के अध्यक्ष रहे। 1985 में उन्होंने वकालत शुरू की। 1993 में वह पंजाब के डिप्टी एडवोकेट जनरल बने और 2005 तक इस पद पर रहे। उसके बाद उन्हें पंजाब और हरियाणा के अडिशनल एडवोकेट जनरल की जिम्मेदारी सौंपी गई। इस दौरान उन्होंने कई महत्वपूर्ण मामलों में सरकार की पैरवी की।

सीबीआई के स्पेशल वकील भी रहे

ये 2008 से 2014 तक भारत के असिस्टेंट सॉलिसिटर जनरल रहे। इस दौरान उन्होंने पंजाब व हरियाणा हाईकोर्ट में सीबीआई के स्पेशल सरकारी वकील के तौर पर भी सेवाएं दीं। 1997 में वह पंजाब व हरियाणा बार काउंसिल के मेंबर बने और लगातार पांच कार्यकाल तक इस पद को संभाला। 2001-02 में वह इसके चेयरमैन बने और लगातार 8 बार चुने गए। वह देश के किसी हाईकोर्ट में ये पद इतने लंबे समय तक संभालने वाले पहले शख्स हैं। पंजाब के एडवोकेट जनरल का पद संभालने के बाद अनमोल रतन सिद्धू ने इंडिया टुडे से बातचीत में कहा कि वह कानूनी शुल्क के तौर पर सिर्फ एक रुपया लेंगे और सरकार के खर्चों का बोझ कम करेंगे। वह सरकार के साथ मिलकर पूरी पारदर्शिता के साथ काम करेंगे।
Anmol Ratan Sidhu
SHARE
RELATED ARTICLES

Most Popular