पटियाला। पटियाला पुलिस ने 65 साल की बुज़ुर्ग महिला के अंधे कत्ल केस को 96 घंटों से भी कम समय में सुलझा कर बड़ी सफलता हासिल की है। मरहूम एडवोकेट नरिन्दर सिंगला, पूर्व चेयरमैन बार कौंसिल, पंजाब, हरियाणा और चण्डीगढ़ की पत्नी कमलेश सिंगला का चार दिन पहले उसके घर में, उसके चेहरे और हाथों को पैकिंग टेप के साथ लपेट कर कत्ल कर किया गया था। दोशी कीमती चीजें, गहनों और नकदी ले कर भाग गए थे। इस सम्बन्ध में 21.04.21 को पुलिस थाना लाहौरी गेट में केस दर्ज किया गया था।
     पटियाला के एस एस पी विक्रम जीत दुग्गल ने कहा, “जिस तरीक के साथ जुर्म की योजना बनाई गई थी और उसे अंजाम दिया गया था, उस से संकेत मिलता था कि हमलावर घर के -आसपास का रास्ता जानते थे। जांच के लिए टीम का गठन किया गया था। दोशी विक्रम, जो कि पठाना वाला मोहल्ला, सनौर का निवासी है, मृतका के वकील पुत्र हैरी सिंगला के साथ मुनशी के तौर पर काम करता था, उसने अपने साथियों, अमरिन्दर निवासी ललोची और गगनदीप निवासी सनौर के साथ मिल कर यह साजिश रची था। उन का मकसद महिला को ख़त्म करके, 40 लाख रुपए मूल्य की कीमती वस्तुओं की लूट करना थी। विक्रम 5सालों से भी और ज्यादा समय से परिवार के साथ जुड़ा हुआ था और उस की घर तक पहुँच था। इन का मनोरथ लालच में आकर कीमती चीजें को लूटना था।
    एसपी सीटी पटियाला, वरुण शर्मा, एसपी जांच, हरमीत सिंह हुन्दल, डी एसपी जांच क्रिशन कुमार पैंथे, डीएसपी घनौर जसविन्दर सिंह टिवाना और था आई ए इंचार्ज राहुल कौंसिल और अधारित विशेश जांच टीम, की तरफ से किये गए जांच कामों की शलाघा करते, ज़िला पुलिस प्रमुख ने कहा कि सभी ऐस.आई.टी. के सदस्यों ने बेहतरीन काम किया और दिन -रात मेहनत करके, आख़िरकार मुलजिमों को 96 घंटों से कम के समय में पहचान लिया।
   “मुलजिमों के कब्ज़े में से घटना के बाद लूटा गया सारा समान बरामद कर लिया गया है,” यह खुलासा करते एस एसपी ने बताया कि अपराध दौरान इस्तेमाल करा गया वाहन,  मोटरसाईकल, जो कि मुलजिम अमरिन्दर का है, भी बरामद किया गया है।