Home राज्य Corona outbreak is not stopping, 114 infected patients found for second consecutive day: नही थम रहा है कोरोना का प्रकोप, लगातार दूसरे दिन 114 संक्रमित मरीज मिले

Corona outbreak is not stopping, 114 infected patients found for second consecutive day: नही थम रहा है कोरोना का प्रकोप, लगातार दूसरे दिन 114 संक्रमित मरीज मिले

0 second read
0
15

अंबाला सिटी। रविवार को 120 संक्रमित मरीज सामने आए थे। यह अब तक कोरोना का एक रेकार्ड था। यह सिलसिला सोमवार भी नहीं थमा। आज  114 नए संक्रमित मिले। सीधे तौर पर कहे तो कोरोना रोज शतक बना रहा है। इसके कारण एक्टिव मरीजों की संख्या भी तेजी से बढ़ रही है। ऐसे हालात से निटपने के लिए स्वास्थ्य विभाग ने सिटी और कैंट सिविल अस्पताल में बेड की संख्या बढ़ाने और आईसीयू बनाने का निर्णय लिया है। जल्द ही इस दिशा में काम शुरू हो जाएगा। एक सुखद बात सामने आई कि जिले की मॉलिक्यूलर लैब को दूसरी आरटी पीसीआर मशीन मिल गई है। इससे लैब में सैंपल टेस्टिंग की क्षमता दो गुनी हो जाएगी।
दूसरा दिन जब कोरोना ने जड़ा शतक
रविवार के बाद सोमवार का दिन ऐसा रहा जब लगातार दूसरे दिन कोरोना ने शतक जड़ा। आज 114 मरीज संक्रमित मिले। संक्रमित मरीजों के सम्पर्क में आने वाले लोगों की पहचान कर उनका सैपल लिया जा रहा है। सच है कि बढ़ती संख्या और उनके कांटेक्ट को ट्रेस कर क्वारंटाइन करवाना और सैपल लेना भी स्वास्थ्य विभाग की टीम के लिए चुनौती बनता जा जा रहा है। आज सबसे ज्यादा 63 केस कैँट से मिले। वहीं सिटी से 33 केस, एक केस शहजादपुर से, 1 मरीज नारायणगढ़ से , तीन केस बराड़ा से और चार केस मुलाना से सामने आए। वहीं चौडमस्तपुर ब्लाक से 9 मरीज मिले हैं।
सिटी और कैंट सिविल में बनेगा आईसीयू
कोरोना संक्रमित मरीजों में से कुछ को सांस लेने में परेशानी होती है। डॉक्टरों का कहना है कि वायरस फेफड़ों तक पहुंच कर निमोनिया से हालात बना देता है। ऐसे में कुछ मरीजों को गंभीर सांस लेने मे ंपरेशानी होने लगती है। इसके अलावा बड़ी संख्या में मरीज सामने आ रहे हैं। ऐसे में सिटी और कैंट सिविल अस्पताल में बेड को तुरंत बढ़ाने की जरूरत है। इसको लेकर आज सीएमओं, डाक्टरों और आला अधिकारियों के बीच एक बैठक हुई और उसमें निर्णय लिया गया है कि दोनों की अस्पताल में बेड को्र बढ़ाया जाएगा और दोनों ही अस्पतालों में आईसीयू बनाया जाएगा। इसके लिए जरूरी मेडिकल उपकरण तुरंत खरीदे जाएंगे। इसके अलावा कोरोना केयर सेंटर में अब तक आक्सीजन की सुविधा नहीं होती थी। गंभीर मरीजों को कोविड़-19 अस्पताल में शिफ्ट किया जाता था। अब वहां भी आक्सीजन की सुविधा उपलब्ध करवाई जाएगी। इसके लिए भी तैयारियों को अंंतिम रूप दे दिया गया है। कोरोना के इलाज के नजरिए से देखा जाए तो यह  सुखद खबर सामने आई है। स्वास्थ्य विभाग ने अंबाला के नजरिए से भले ही कुछ देर से पर अहम फैसला लिया है। इसका फायदा सीधे तौर पर मरीजों को होगा। अब के पहले गंभीर मरीज वह कोरोना का हो या किसी अन्य बीमारी का उसे रेफर किया जाता था।
नई मशीन मिलने से दो गुनी हुई टेस्टिंग की क्षमता
अंबाला की  मॉलिक्यूलर लैब को सोमवार एक और आरटीपीसीआर की मशीन मिली है। इस तरह से लैब अब दो मशीन हो गई है। इसका फायदा यह है कि अब अंबाला में टेस्टिंग की क्षमता दो गुनी हो गई है। कोरोना से लड़ी जा रही जंग में यह अहम मुकाम हासिल हुआ है। कुछ माह पूर्व टेस्टिंग पीजीआई और अन्य संस्थानो ंसे करानी पड़ती थी और फिर अंबाला में टेस्ट की जांच होने से समय में कमी आई। नई मशीन आने से क्षमता दो गुनी हो गई है।
45 मरीजों ने जीती कोरोना से जंग
सोमवार को अंबाला में 45 मरीजों ने कोरोना से जंग जीत ली और उन्हें डिस्चार्ज कर दिया गया है। इसके संग डिस्चार्ज होने वाले मरीजों की संख्या बढ़ कर 3 हजार 250 हो गई है। वहीं जिले में कुल एक्टिव मरीज बढ़ कर 558 हो गए हैं। इसके अलावा अब तक कुल 3842 लोग संक्रमित हो चुके हैं।
आज कई अहम निर्णय हुए हैं। इसमें आईसीयू बनाने का निर्णय हुआ है। इसे जल्द तैयार करा लिया जाएगा। नई मशीन मिलने से जांच की सुविधा दोगुनी हो गई है। हम कोरोना के नजरिए से लगातार अपनी क्षमता को बढ़ा रहे हैं ताकि मरीजोंं को बेहत्तर से बेहत्तर इलाज मिल सके। डॉ. कुलदीप सिंह, सीएमओं अंबाला  

Load More Related Articles
Load More By Asheesh Srivastava
Load More In राज्य

Check Also

Farmers, markets and roads were deserted against agriculture ordinance: कृषि अध्यादेश के खिलाफ उतरे किसान, बाजार और सडकें रही सुनसान

अंबाला सिटी।  केंद्र सरकार द्वारा लागु किए गए कृषि संसोधित बिल के खिलाफ भारतीय किसान युनिय…