Home राजनीति Corona: 50 new patients arrived, now treatment of 275 continues: कोरोना: 50 नए मरीज आए, अब 275 का इलाज जारी

Corona: 50 new patients arrived, now treatment of 275 continues: कोरोना: 50 नए मरीज आए, अब 275 का इलाज जारी

0 second read
0
6

अंबाला सिटी। एक तरफ बुधवार को 50 संक्रमण के नए केस सामने आए पर दूसरी तरफ कैंट अस्पताल में एक मरीज की मौत से परिजन बिफर गए और उन्होंने इलाज मे लापरवाही का आरोप लगाया। इसी के साथ ही अब कोरोना के केसों की कुल संख्या 8 हजार 605 पहुंच गई है। मगर 275 का ही अब जिले में इलाज चल रहा है। कोरोना से मौत के आंकड़ो के आंकड़ों की बात करें तो स्वास्थ्य विभाग के अनुसार  बीते 96 घंटे के भीतर कोरोना से कोई भी मौत नहीं हुई। अब तक  कोरोना से कुल 106 लोग दम तोड़ चुके है। मगर बुधवार शाम सामने के नागरिक अस्पताल में एक मरीज ने कोरोना से दम तोड़ दिया। फिलहाल स्वास्थ्य विभाग ने इस मौत की आधिकारिक पुष्टि नहीं की है।
व्यक्ति की मौत पर बिखरे परिजन
अंबाला छावनी के नागरिक अस्पताल में एक व्यक्ति की मौत हो गई। परिजनों का आरोप है कि उन्हें समय पर सटीक तरीके से इलाज नहीं दिया गया। जिसके चलते उनकी जान गई है। इसी के चलते परिजन अस्पताल में बिफर पड़े और डॉक्टरों पर लापरवाही का आरोप लगाया है। इसके चलते कैट अस्पताल में दोपहर के समय गहमागहमी का माहौल कुछ समय के लिए रहा।
सिटी से आये 15 मरीज सामने
बुधवार को आए 50 केसों की बात करें तो इनमें से सबसे ज्यादा सिटी के 15 केस हैं। दूसरे नंबर पर कैंट के 10 केस है। इसी तरह शहजादपुर से 2 केस, मुलाना से 5, बराड़ा से 3 और नारायणगढ़ से 3 केस सामने आया। वहीं चौडमस्तपुर से 11 मरीज सामने आए हैं। इसी के साथ ही अब जिले में कोरोना पॉजिटिव मरीजों का आंकड़ा 8 हजार 605 हो गया है।
45 मरीजों ने कोरोना पर की विजय हासिल
अंबाला में बुधवार को कोरोना से 45 लोगों ने कोरोना पर विजय हासिल कर जंग जीती। अब तक कोरोना से ठीक हुए मरीजों के कुल आंकड़ो की बात करे तो 8 हजार 224 मरीज कोरोना से ठीक होकर घर लौट चुके है। जिले में अब कोरोना का रिकवरी रेट 95.57 प्रतिशत हो गया है। वहीं कोरोना के एक्टिव मरीज जिले में अब 275 रह गए है।
प्रमाण पत्र लेने वाले को देनी होगी कोरोना टेस्ट की फीस
स्वास्थ्य विभाग ने जारी कोरोना बुलेटिन के माध्यम से बताया कि कोरोना संदिग्ध रोगियों के  टेस्ट मुफ्त  में किए जा रहे हैं।  टेस्ट के पैसे केवल उन लोगों से लिए जा रहे हैं जिन्होंने किसी भी तरह का प्रमाण पत्र स्वास्थ्य विभाग  अंबाला से लेना है। इसलिए विभाग ने लोगों से अपील की है कि  संदिग्ध कोरोना रोगी अपना सेंपल किसी भी सरकारी संस्थान में निशुल्क करवाएं।
वर्जन
कैँट में जिस व्यक्ति की मौत हुई है। उसके इलाज में किसी तरह की लापरवाही नहीं की गई है। मरने वाला व्यक्ति कोरोना संक्रमित था या नहीं, इसकी रिपोर्ट मंगवाई गई है। रिपोर्ट आने के बाद ही स्पष्ट होगा।
डा. कुलदीप सिंह, सीएमओ अंबाला।

Load More Related Articles
Load More By Asheesh Srivastava
Load More In राजनीति

Check Also

Relief: no deaths occurred in 72 hours, break on 106 for the third day: राहत: 72 घंटे में कोई मौत नहीं आए सामने, 106 पर तीसरे दिन भी लगी रही ब्रेक

अंबाला सिटी। कोरोना से मौत के आंकड़ो पर ब्रेक तीसरे दिन भी बरकार रही। स्वास्थ्य विभाग के अ…