Wednesday, December 1, 2021
Homeshimlaसरकार पंचायती राज संस्थाओं के सुदृढ़ीकरण के लिए प्रतिबद्ध: जयराम

सरकार पंचायती राज संस्थाओं के सुदृढ़ीकरण के लिए प्रतिबद्ध: जयराम

मुख्यमंत्री ने की बालीचौकी में पंच परमेश्वर सम्मेलन की अध्यक्षता
आज समाज डिजिटल, शिमला:
मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने शनिवार को मंडी जिले के सिराज विधानसभा क्षेत्र के अन्तर्गत बालीचौकी में पंच परमेश्वर सम्मेलन की अध्यक्षता करते हुए कहा कि पंचायती राज संस्थाएं लोकतंत्र की सबसे महत्वपूर्ण बुनियादी संस्थाएं हैं, जिनको सुदृढ़ करने के लिए सरकार प्रतिबद्ध है। मुख्यमंत्री ने कहा कि पंचायती राज संस्थानों के निर्वाचित प्रतिनिधियों के लिए प्रशिक्षण कार्यक्रम उस समय तैयार किया गया था, जब वह प्रदेश के पंचायती राज मंत्री थे। इसका मुख्य उद्देश्य इन निर्वाचित सदस्यों को उनके कर्तव्यों, अधिकारों और अधिनियमों के बारे में शिक्षित करना है, ताकि वे अधिक प्रतिबद्धता के साथ अपना कार्य करने में सक्षम बन सकें। उन्होंंने कहा कि इस बार प्रदेश के पंचायती राज संस्थानों और स्थानीय शहरी निकायों में लगभग 60 प्रतिशत महिलाएं निर्वाचित होकर आई हैं, जो महिला सशक्तिकरण की दिशा में एक बड़ा कदम है। उन्होंने पंचायती राज संस्थाओं के प्रतिनिधियों से आग्रह किया कि वे पूरी निष्ठा और समर्पण की भावना से कार्य करें, ताकि उनके क्षेत्र के लोग हमेशा उनके काम को याद रखें। जयराम ठाकुर ने क्षेत्र के महिला मंडलों को विभिन्न गतिविधियों के लिए 11-11 हजार रुपए प्रदान करने की घोषणा की। उन्होंने प्रदेश की जनता का आह्वान किया कि भारत के 75वें स्वतंत्रता दिवस के पावन अवसर पर अपने घरों पर तिरंगा फहराकर हर घर तिरंगा अभियान में अपनी भागीदारी सुनिश्चित बनाएं।
उन्होंने कहा कि बालीचौकी में एसडीएम कार्यलय खुलने से न केवल लोगों को सुविधा मिलेगी, बल्कि क्षेत्र का विकास भी होगा। यह सब सिराज विधानसभा क्षेत्र के लोगों के निरंतर और बिना शर्त विश्वास का परिणाम है। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार हरसंभव प्रयास कर रही है कि विकास की गति को बढ़ाया जाए, ताकि कोविड-19 महामारी के कारण नष्ट हुए समय की भरपाई की जा सके। उन्होंने कहा कि इस महामारी के दौरान उन्होंने वर्चुअल माध्यम से स्वयं लगभग 42 विधानसभा क्षेत्रों में 4200 करोड़ रुपए की विकासात्मक परियोजनाओं के शिलान्यास और उद्घाटन किए हैं। उन्होंने कहा कि जिले से संबंधित कांगे्रस पार्टी के एक वरिष्ठ नेता का आरोप है कि वर्तमान प्रदेश सरकार के कार्यकाल के दौरान केवल सिराज क्षेत्र का ही विकास हुआ है। उन्होंने कांग्रेस नेता को याद दिलाया कि द्रंग विधानसभा क्षेत्र के अपने हाल ही के दौरे के दौरान उन्होंने लगभग 200 करोड़ रुपए की विकास परियोजनाओं के उद्घाटन और शिलान्यास किए थे।
राज्य सरकार ने बालीचौकी में बागवानी विकास अधिकारी कार्यालय, प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र को सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र में स्तरोन्नत करने और वन विश्राम गृह खोलने का भी निर्णय लिया है। उन्होंने कहा कि तीर्थन खड्ड के तटीकरण का कार्य आरम्भ कर दिया गया है। सीएम ने इस अवसर पर पंचायती राज संस्थाओं के निर्वाचित प्रतिनिधियों को शैक्षणिक साहित्य सामग्री भी वितरित की।
साढ़े तीन वर्षों में प्रदेश में अभूतपूर्व विकास : गोविंद सिंह
शिक्षा मंत्री गोविन्द सिंह ठाकुर ने कहा कि पिछले लगभग साढ़े तीन वर्षों में प्रदेश अभूतपूर्व विकास का गवाह रहा है। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार की कल्याणकारी नीतियों और योजनाओं का लाभ समाज के प्रत्येक वर्ग तक पहुंचा है। ग्रामीण विकास विभाग के निदेशक ऋग्वेद ठाकुर ने भी कहा कि पंच परमेश्वर सम्मेलन का उद्देश्य पंचायती राज संस्थाओं के निर्वाचित प्रतिनिधियों को मुख्यमंत्री के साथ चर्चा करने का अवसर प्रदान करना है। उन्होंने कहा कि इस मौके पर प्रदर्शनियां भी लगाई गई हैं, जिनमें विभिन्न विभागों और गैर-सरकारी संगठनों ने अपने उत्पाद प्रदर्शित किए हैं।
पंचायत समिति बालीचौकी के अध्यक्ष शेर सिंह ने बालीचौकी में एसडीएम कार्यालय, बीडीओ कार्यालय, मिनी सचिवालय, तहसील कल्याण अधिकारी कार्यालय और उप-रोजगार कार्यालय तथा थाची में उप-तहसील खोलने सहित अन्य विकासात्मक परियोजनाओं के लिए मुख्यमंत्री का आभार व्यक्त किया। विधायक इस अवसर पर सुरेन्द्र शौरी, उपायुक्त अरिन्दम चौधरी और पुलिस अधीक्षक शालिनी अग्निहोत्री भी उपस्थित थे।

RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments