आज समाज, डिजिटल : 

CM Decision : सीएम शिवराज सिंह चौहान ने इंदौर और भोपाल में पुलिस कमिश्नर प्रणाली लागू करने का निर्णय लिया है। इस प्रणाली के लिए पिछले 10 साल से बात चल रही थी। मुंबई की तरह अब मध्य प्रदेश के भोपाल और इंदौर में पुलिस कमिश्नर प्रणाली लागू की जाएगी।

लेकिन अब इस प्रणाली की घोषणा करते हुए सीएम ने कहा कि प्रदेश में कानून व्यवस्था की स्थिति अच्छी है। प्रदेश के स्वच्छतम शहर इंदौर और राजधानी भोपाल में बढ़ती जनसंख्या और भौगोलिक विस्तार और साथ ही तकनीक के कारण भी उत्पन्न हुई कानून व्यवस्था संबंधी आवश्यकताओं को देखते हुए यह निर्णय लिया गया है।

 पुलिस अधिकारी निर्णय लेने के लिए स्वतंत्र (CM Decision)

दरअसल, अपराधों पर नकेल के लिए पुलिस कमिश्नर प्रणाली को बेहतर माना जाता है। देश के अधिकतर महानगरों में यही सिस्टम लागू है। इससे फायदा यह होगा कि पुलिस के पास अपराध नियंत्रण के ज्यादा अधिकार और प्रभावी तंत्र होगा। अभी कोई भी पुलिस अधिकारी निर्णय लेने के लिए स्वतंत्र नहीं होते हैं।

आपात परिस्थितियों में उन्हें कलेक्टर या संभागायुक्त या प्रदेश सरकार के निदेर्शों के अनुसार ही काम करते हैं। इंदौर और भोपाल में पुलिस कमिश्नर प्रणाली लागू होने के बाद आपात स्थिति में निर्णय लेने का अधिकारी पुलिस अधिकारियों के पास होंगे। इसलिए इसे बेहतर माना जाता है कि क्योंकि पुलिस कमिश्नर खुद फैसला ले सकते हैं।

(CM Decision)

Read Also : Rajasthan Politics राजस्थान की नई कैबिनेट से पायलट खुश

Connect With Us:-  Twitter Facebook