HomeदेशPetrol Diesel Price 28 March 2022 पेट्रोल डीज़ल के दामों में आज...

Petrol Diesel Price 28 March 2022 पेट्रोल डीज़ल के दामों में आज फिर उछाल, जानिए लेटेस्ट रेट्स

Petrol Diesel Price 28 March 2022 पेट्रोल डीज़ल के दामों में आज फिर उछाल, जानिए लेटेस्ट रेट्स

आज समाज डिजिटल, नई दिल्ली : 

Petrol Diesel Price 28 March 2022 : अंतर्राष्ट्रीय बाजार में क्रूड आयल के दाम करीब 26 प्रतिशत से ज्यादा तक कम चुके हैं। इसके बावजूद देश में पेट्रोल और डीजल के दाम लगातार बढ़ते जा रहे हैं। 22 मार्च से पेट्रोल की कीमतों में बढ़ने का सिलसिला आज 28 मार्च को भी जारी रहा। पिछले 7 दिन में तेल कंपनियों ने 6 बार पेट्रोल-डीजल के दाम बढ़ा दिए हैं।

आज सोमवार को भी पेट्रोल (price of petrol) 30 पैसे और डीजल 35 पैसे प्रति लीटर महंगा हुआ है। अब एक हफ्ते के दौरान दोनों के दाम एक लीटर पर चार रुपए तक बढ़ चुके हैं। इसके बाद दिल्ली में पेट्रोल 99.41 रुपए प्रति लीटर और डीजल 90.77 रुपए प्रति लीटर बिकेगा। मुंबई में पेट्रोल 114.08 रुपए और डीजल 98.48 रुपए प्रति लीटर पर बिकेगा।

सही साबित हुई चुनाव बाद तेल की कीमतें बढ़ने की संभावनाएं

गौरतलब है कि पिछले एक महीने से ये कयास लगाए जा रहे थे कि 5 राज्यों में चुनाव नतीजे आने के बाद पेट्रोल और डीजल की कीमतों में इजाफा होगा। हालांकि सरकार के कुछ प्रतिनिधि इस बात से इंकार कर रहे थे कि पेट्रोल की कीमतों में बढ़ोतरी उनके हाथ में नहीं है। लेकिन कीमतें बढ़ने के कयास सही साबित हुए हैं।

दरअसल, जब चुनाव चल रहे थे तो अंतर्राष्ट्रीय बाजार में क्रूड आयल के दाम 140 डालर प्रति बैरल के पास पहुंच गए थे लेकिन देश में तेल की कीमतें स्थिर रहीं। वहीं इसके उल्ट अब जब अंतर्राष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल की कीमतें 140 डालर प्रति बैरल से गिरकर 103 डॉलर तक आ चुके हैं, फिर भी पिछले 7 दिनों में तेल कंपनियां 6 बार पेट्रोल-डीजल के दाम बढ़ा चुकी हैं। माना जा रहा है तेल की कीमतें बढ़ने का यह क्रम अगले 15 दिन तक इसी तरह जारी रह सकता है।

कैसे तय होती हैं Petrol Diesel Price?

Petrol Diesel Rates Hike

दरअसल, जून 2010 तक सरकार पेट्रोल की कीमत निर्धारित करती थी और हर 15 दिन में इसे बदला जाता था। 26 जून 2010 के बाद सरकार ने पेट्रोल की कीमतों का निर्धारण आयल कंपनियों के ऊपर छोड़ दिया। इसी तरह अक्टूबर 2014 तक डीजल की कीमत भी सरकार निर्धारित करती थी।

19 अक्टूबर 2014 से सरकार ने ये काम भी आयल कंपनियों को सौंप दिया। आॅयल कंपनियां अंतरराष्ट्रीय मार्केट में कच्चे तेल की कीमत, एक्सचेंज रेट, टैक्स, पेट्रोल-डीजल के ट्रांसपोर्टेशन का खर्च और बाकी कई चीजों को ध्यान में रखते हुए रोजाना पेट्रोल-डीजल की कीमत निर्धारित करती हैं।

आगे भी बढ़ते रहेंगे तेल के दाम

हाल ही में रेटिंग एजेंसी मूडीज ने कहा था कि भारत के बड़ी फ्यूल कंपनियां कडउ, इढउछ और ऌढउछ को नवंबर से मार्च तक लगभग 2.25 अरब डॉलर यानि कि 19 हजार करोड़ रुपए के रेवेन्यू का नुकसान हुआ है।

उम्मीद हैं कि सरकार रिफाइनर को नुकसान से बचाने के लिए कीमतें बढ़ाने की अनुमति देगी। पेट्रोल के दाम लगातार बढ़ने पर मूडीज ने कहा कि इससे संकेत मिलता है कि पेट्रोल-डीजल के दाम एक ही बार में तेजी से न बढ़ाकर धीरे-धीरे बढ़ाए जाएंगे।

रोज सुबह 6 बजे जारी होती हैं कीमतें

जानना जरूरी है कि तेल कंपनियां पिछले 15 दिनों में अंतर्राष्ट्रीय बाजार में बेंचमार्क इंधन की औसत कीमत और विदेशी विनिमय दरों के आधार पर प्रतिदिन पेट्रोल और डीजल की दरों में संशोधन करती हैं। पेट्रोल और डीजल की कीमतों की समीक्षा तेल विपणन कंपनियों जैसे कि इंडियन आयल द्वारा दैनिक आधार पर की जाती है और कोई भी संशोधन सुबह 6 बजे से लागू किया जाता है।

Also Read : ये है IPL 2022 में पंजाब किंग्स शेड्यूल का पूरा शेड्यूल

SHARE
Mohit Sainihttps://indianews.in/author/mohit-saini/
Humanity Is the Best Religion In The Word
RELATED ARTICLES

Most Popular