HomeदेशBJP is anti-Dalit and Constitution targets them - Congress: भाजपा दलित विरोधी...

BJP is anti-Dalit and Constitution targets them – Congress: भाजपा दलित विरोधी है और संविधान इनके निशाने पर – कांग्रेस

कांग्रेस पार्टी के नेता पवन खेड़ा ने आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत के आरक्षण संबंधी बयान पर टिप्पणी की। मोहन भागवन ने आरक्षण पर सौहार्द्रपूर्ण माहौल में चर्चा करने संबंधी बयान दिया था। इस पर कांग्रेस ने भाजपा और संघ को दलित-पिछड़ा विरोधी बताया। उन्होंने आरोप लगाया कि आरक्षण और संविधान इनके निशाने पर है और यही इनका असली एजेंडा है। पार्टी प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने भी आरएसएस और भाजपा के खिलाफ ट्वीट किया। पार्टी प्रवक्ता पवन खेड़ा ने यह भी दावा किया कि भागवत के बयान का मकसद विवाद खड़ा करके लोगों का ध्यान भटकाना है। उन्होंने दिल्ली में संवाददाताओं से कहा कि भाजपा और आरएसएस की आदत बन गई है कि जनता को विवादों के जरिये व्यस्त रखें ताकि लोग कठिन प्रश्न पूछना बन्द कर दें और बुनियादी मुद्दे नहीं उठें। पवन खेड़ा ने कहा कि देश में आर्थिक हालात ठीक नहीं है। लोग सरकार से अर्थव्यवस्था की खराब स्थिति पर सवाल पूछने लगे जिसको टालने के लिए मोहन भागवत का इस तरह का बयान आया है। पार्टी के वरिष्ठ नेता पी एल पूनिया ने आरोप लगाया कि भाजपा की ओर से संविधान में बदलाव की कोशिश की गई है। जब भी वह सत्ता में रही है उसने संविधान को बदलने की कोशिश की है। उन्होंने कहा कि यह सोची समझी चाल है। उनकी मानसिकता आरक्षण खत्म करने की है। क्या यह सही नहीं है कि इन लोगों ने शैक्षणिक संस्थानों में आरक्षण खत्म करने की कोशिश नहीं की? पूनिया ने कहा कि भूमि उपयोग को गलत दिखाकर दिल्ली में रविदास मंदिर को ढहा दिया गया। उन्होंने आरोप लगाया कि भाजपा और आरएसएस दलित विरोधी हैं। ये लोग दलितों और ओबीसी को मिल रहे लाभ को खत्म करना चाहते हैं। कांग्रेस नेता उदित राज ने दावा किया कि यह बयान दिखाता है कि ये लोग पुरानी मानसिकता में हैं। ये लोग शुरू से ही संविधान और आरक्षण के विरोधी हैं।

SHARE
RELATED ARTICLES

Most Popular